भीनमाल

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • 9 में से 6 सोनोग्राफी मशीन बंद, एक खराब, दो पर डॉक्टर नहीं, मनमाने दाम वसूल रहे निजी अस्पताल
--Advertisement--

9 में से 6 सोनोग्राफी मशीन बंद, एक खराब, दो पर डॉक्टर नहीं, मनमाने दाम वसूल रहे निजी अस्पताल

दिलीप डूडी/ओमप्रकाश डारा | जालोर/सांचौर जिले में चिकित्सा महकमा में सरकारी व्यवस्थाओं में खामियों की वजह से...

Dainik Bhaskar

Mar 11, 2018, 03:45 AM IST
9 में से 6 सोनोग्राफी मशीन बंद, एक खराब, दो पर डॉक्टर नहीं, मनमाने दाम वसूल रहे निजी अस्पताल
दिलीप डूडी/ओमप्रकाश डारा | जालोर/सांचौर

जिले में चिकित्सा महकमा में सरकारी व्यवस्थाओं में खामियों की वजह से मरीजों को निजी अस्पतालों में मोटी रकम चुकाने को मजबूर होना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, इसमें सबसे बड़ी कमी जनप्रतिनिधियों की सामने आ रही है। आपको बता दें कि जिले में वर्तमान में 28 में से सरकार की ओर से वर्तमान में केवल तीन सोनोग्राफी मशीन का ही संचालन किया जा रहा है। जबकि, इसके उलट 25 निजी अस्पतालों में सोनोग्राफी मशीन संचालित की जा रही है। सरकारी अस्पतालों में कमी होने के कारण मरीजों को बड़ी रकम चुकाने को मजबूर होना पड़ रहा है। सबसे विकट हालात सांचौर व जालोर के हैं। सांचौर में तो एक भी सोनोग्राफी मशीन का संचालन नहीं हो रहा है। इसके उलट 9 निजी अस्पतालों में इन मशीनों का संचालन कर दूर-दराज से चिकित्सा लाभ लेने आने वाले मरीजों से बड़ी रकम वसूली जा रही है।

सबसे बड़ा असर क्या

दरअसल, सरकार की ओर से संचालित की जाने वाली सोनोग्राफी मशीन पर जांच करने पर मरीजों से निर्धारित सौ रुपए फीस ही वसूल की जा सकती है। वहीं गर्भवती महिला की जांच निशुल्क करने का प्रावधान है, लेकिन निजी अस्पतालों में यही जांच पांच सौ से सात सौ रुपए तक वसूल किए जा रहे हैं। सांचौर क्षेत्र जैसे नेहड़ इलाके इलाके की गर्भवती महिलाओं के लिए विशेषकर यह बड़ा संकट बना हुआ है।

तीन स्थानों पर घोषणा के बाद भी विधायकों ने नहीं करवाई उपलब्ध, इधर निजी

अस्पतालों में संचालित सोनोग्राफी मशीन से वसूले जा रहे 4 से 5 सौ रुपये

जिले में यहां-यहां संचालित हो रही सोनोग्राफी मशीनें

ब्लॉक सरकारी निजी अस्पताल

जालोर 1 3

सांचौर 0 9

सायला 0 2

आहोर 1 3

भीनमाल 1 9

सांचौर में तो संचालन के लिए चिकित्सक तक नहीं

सांचौर में चिकित्सक उपलब्ध नहीं होने का हवाला देते हुए सोनोग्राफी बंद की हुई है। आपको बता दें कि रेडियोलॉजिस्ट, डीजीओ, डीएनबी, पीजी विशेष योग्यताधारी या फिर छह महीने का प्रशिक्षण प्राप्त कर चुका चिकित्सक सोनोग्राफी मशीन का संचालन कर सकता है। जबकि, सांचौर में नौ अस्पतालों में सोनोग्राफी संचालन की योग्यता रखने वाले चिकित्सक हैं, लेकिन सरकारी अस्पताल में चिकित्सक नियुक्त नहीं होना बड़ी विडंबना है।

कुछ इस तरह रही विधायकों की कमजोरी


सांचौर. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ताले में कैद सोनोग्राफी मशीन।

सांचौर व जसवंतपुरा में चिकित्सक के अभाव में बंद

जिले में वर्तमान में जालोर मुख्यालय पर स्थित एमसीएच, भीनमाल सीएचसी व आहोर सीएचसी पर सरकार की ओर से सोनोग्राफी मशीन का संचालन किया जा रहा है। वहीं सांचौर व जसवंतपुरा सीएचसी में चिकित्सकों के अभाव में सोनोग्राफी मशीन को ताले में बंद किया हुआ है। वहीं सायला, सियाणा व रानीवाड़ा में रजिस्ट्रेशन हो चुका है, लेकिन विधायकों ने घोषणा करने के बाद सोनोग्राफी मशीन उपलब्ध नहीं करवाई। जिस कारण अस्पतालों में इसकी व्यवस्था तक नहीं हो पाई है। साथ ही जिला मुख्यालय पर स्थित सामान्य अस्पताल में सोनोग्राफी मशीन खराब हो गई। जिसकी मरम्मत तक नहीं करवाई जा रही है।




कई बार अवगत करवाया


मैंने मशीन दिलाकर शुरू कराई थी


जल्द करवाएंगे व्यवस्था


सियाणा में जल्द शुरू होगी सोनोग्राफी


X
9 में से 6 सोनोग्राफी मशीन बंद, एक खराब, दो पर डॉक्टर नहीं, मनमाने दाम वसूल रहे निजी अस्पताल
Click to listen..