भीनमाल

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • भीनमाल में लाखों की लागत से बनाए रक्त संग्रहण केंद्र पर ताला, मरीज हो रहे परेशान
--Advertisement--

भीनमाल में लाखों की लागत से बनाए रक्त संग्रहण केंद्र पर ताला, मरीज हो रहे परेशान

उपखण्ड के सबसे बड़े राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय में रक्त संग्रहण केन्द्र पर कई महिनों से ताला लटका हुआ है।...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 02:00 AM IST
भीनमाल में लाखों की लागत से बनाए रक्त संग्रहण केंद्र पर ताला, मरीज हो रहे परेशान
उपखण्ड के सबसे बड़े राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय में रक्त संग्रहण केन्द्र पर कई महिनों से ताला लटका हुआ है। चिकित्सालय में सभी संसाधन उपलब्ध होने के बाद भी रक्त स्टोरेज यूनिट संचालित नहीं होने से ये हालात बने हैं कि रक्त के लिए चिकित्सालय प्रशासन के भरोसे रहने वालों के लिए कभी भी जानलेवा साबित हो सकता है। हाल ही में कोटकास्ता की एक महिला को डिलेवरी के समय राजकीय चिकित्सालय में रक्त की जरूरत थी, लेकिन चिकित्सालय प्रशासन ने इस मामले में कोई सहयोग नहीं किया।

हर साल 500 लोग करते हैं रक्तदान : शहर में रक्तदान के लिए लोगों में काफी जागरूकता है। रक्तदान में अग्रणी संस्था यूथ फॉर नेशन के ललित होंडा ने बताया कि हमारे पास १५० लोगों की सूची है जिसमें अलग-अलग रक्त ग्रुप के लोग शामिल है। किसी भी चिकित्सालय से फोन या सोशल मीडिया पर सूचना मिलने के बाद हम तत्काल संबंधित चिकित्सालय में जाकर रक्तदान करते हैं। इस तरह की कई समाजसेवी संस्था तो रक्तदान के क्षेत्र में सक्रिय होकर लोगों की जिदंगी बचा रहे हैं लेकिन राजकीय चिकित्सालय में प्रशासन की रक्त संग्रहण करने में कोई दिलचस्पी नही दिखाई दे रही है।

-कोटकास्ता के एक अनपढ़ व्यक्ति को रात्रि में बड़ी मुश्किल से मिला रक्त

भीनमाल. राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र। फोटो| भास्कर

क्या था मामला

कोटकास्ता निवासी जोराराम मेघवाल ने बताया कि उसकी बहन रेसु मेघवाल को 6 मई को प्रसव पीड़ा होने पर राजकीय चिकित्सालय में लाया था। यहां भर्ती करने के दौरान चिकित्सकों ने बी पोजिटिव रक्त की आवश्यकता जताई। इस पर जोराराम ने रक्त के लिए चिकित्सालय स्टाफ को पूछा लेकिन किसी ने नहीं सुनी। वह पढ़ा-लिखा नहीं होने के कारण किसी को मैसेज नहीं भेज सकता था ऐसे में वह रात्रि के 11 बजे शहर के तीन निजी चिकित्सालयों में भी गया लेकिन उसको निराशा ही हाथ लगी। इसी दौरान निकटवर्ती पादरा गांव के समाजसेवी रामलाल सोलंकी किसी रिश्तेदार को मिलने के लिए चिकित्सालय में आए हुए थे उन्होंने जोराराम को रक्त के लिए इधर-उधर जाते हुए परेशान हालात में देखा तो इसकी सूचना सोशल मीडिया ग्रुप पर पोस्ट की। जिसके बाद किसी रक्तदाता ने वहां पहुंच महिला की जान बचाई। ऐसा मामला सिर्फ यह एक ही नहीं है बल्कि रोजाना बड़ी संख्या में रक्त के लिए इस तरह परेशान होते देखे जा सकते हैं।

लाखों के उपकरण बेकार

चिकित्सालय में लाखों रुपए खर्च करके रक्त संग्रहण केन्द्र पर रक्त उपलब्ध नहीं होने से मरीजों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। रक्त संग्रहण केन्द्र के लिए विभाग ने अतिरिक्त कक्ष भी रिजर्व कर रखा है जिसमें वातानुकूलित रखने के लिए एसी भी लगाया हुआ है। विभाग की ओर से फ्रिज समेत अन्य उपकरण भी लगाए गए हुए है।

जिला प्रमुख व विधायक ने किया था उद्घाटन

राजकीय चिकित्सालय में रक्त संग्रहण केन्द्र का गत 11 अक्टूबर 2017 को जिला प्रमुख बन्नेसिंह गोहिल, विधायक पूराराम चौधरी के हाथों उद्घाटन किया गया था। तब लोगों में खुशी जताई थी कि अब भीनमाल में हर तरह की सुविधा होने से रक्त संग्रह के लिए बाहर नहीं भटकना पड़ेगा, लेकिन धरातल पर वर्तमान हालात कुछ और बयां कर रहे हैं।

भीनमाल. सीएचसी में ब्लड संग्रहण केन्द्र पर लगा ताला।

परेशान होते देखा तो की सहायता


संस्थाए कर लेती है मदद


X
भीनमाल में लाखों की लागत से बनाए रक्त संग्रहण केंद्र पर ताला, मरीज हो रहे परेशान
Click to listen..