Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» बैंकों की हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन अटका

बैंकों की हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन अटका

सरकारी बैंकों के पिछले दो दिनो से वेतन इजाफे को लेकर हड़ताल पर चले जाने से लोगों को लेन-देन में परेशानी का सामना...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 01, 2018, 02:00 AM IST

बैंकों की हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन अटका
सरकारी बैंकों के पिछले दो दिनो से वेतन इजाफे को लेकर हड़ताल पर चले जाने से लोगों को लेन-देन में परेशानी का सामना करना पड़ा। गुरुवार को भी शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र से रुपयों के लेनदेन के लिए पहुंचने वाले लोगों को एटीएम बंद रहने से परेशानी उठानी पड़ी। चेस्ट ब्रांच में दो दिनों में करीब 10 करोड़ का लेनदेन प्रभावित हुआ है। हालांकि आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक जैसे प्राइवेट बैंकों में काम सामान्य तौर पर चल रहा है। शहर के खारी रोड, स्टेशन रोड व पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य एटीएम बंद रहने से लोगों को रुपयों की निकासी के लिए परेशानी हुई।

जालोर/सायला| बैंककर्मियों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के दूसरे दिन गुरुवार को भी राष्ट्रीयकृत बैंकों पर ताले लटकते रहे। जिससे काफी कारोबार प्रभावित हुआ। साथ ही उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। जानकारी के अनुसार यूनाइटेड फोरम ऑल इंडिया ने बुधवार से बैंककर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल का आह्वान किया था। जिसे बैंककर्मियों के संगठनों ने समर्थन दिया था। जिसके चलते दो दिन हड़ताल के कारण बैंकों में कारोबार प्रभावित रहा।

जिले में उपखण्ड मुख्यालयों पर स्थित एसबीआई बैंकों पर भी दिन भर ताला लटकता रहा। वही हड़ताल की जानकारी नहीं होने पर बैंकिंग कार्य से आने वाले ग्रामीणों को निराश लौटना पड़ा। हड़ताल के कारण बैंक में चेक जमा, नेफ्ट, लॉकर, खाता सम्बन्धित कार्य नहीं होने से ग्रामीणों को दिक्कते झेलनी पड़ी।

भीनमाल। स्टेशन रोड पर स्थित एसबीआई की एडीबी शाखा का बंद पड़ा एटीएम।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhinmal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बैंकों की हड़ताल से करोड़ों का लेन-देन अटका
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×