Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» आखातीज पर देखे शगुन, अच्छी बारिश व खुशहाली के मिले संकेत

आखातीज पर देखे शगुन, अच्छी बारिश व खुशहाली के मिले संकेत

भास्कर न्यूज | गुडा बालोतान कस्बे सहित आसपास के गांवों में आखातीज (अक्षय तृतीया) पर ग्रामीणों की ओर से शगुन देखे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 19, 2018, 02:00 AM IST

भास्कर न्यूज | गुडा बालोतान

कस्बे सहित आसपास के गांवों में आखातीज (अक्षय तृतीया) पर ग्रामीणों की ओर से शगुन देखे गए। शगुन के आधार पर इस वर्ष भी आषाढ़, श्रावण-भाद्रपद व आसोज मास में अच्छी बारिश होने के शुभ संकेत दिखाई पड़े हैं। वहीं किसानों की मानें तो इस वर्ष आषाढ़-श्रावण मास के दौरान अच्छी बारिश होने से नदी नाले उफान पर चल सकते है। यानि जून माह के अंत में भी बारिश का होने का मतलब है कि बारिश इस वर्ष जल्द दस्तक देगी। शगुन देखने की विधि के लिए गुड़ की दो गोलियां बनाई गई, जिसमें एक सुकाल व एक अकाल के नाम से गणपति की प्रतिमा के समक्ष रखी गई, काल-सुकाल की गोली पर पहले मक्खी बैठने पर जमाने के संकेत माने जाते है। इस दौरान ठाकुरजी मंदिर पुजारी गोविंददास, महादेव मंदिर पुजारी ऊमगिरी व मांगगिरी, नवाराम, हंसाराम, रूपाराम, जोधाराम, सवाराम, मगाराम, वेनाराम चौधरी, वगताराम, मोतीराम, शिवलाल, भूराराम, छोगाराम, उदाराम, गणेशाराम, गोमाराम, हबताराम, सोनाराम सहित कई किसान व ग्रामीण मौजूद थे।

देखे शगुन, जताई अच्छी बारिश की संभावना

भीनमाल| आखातीज के अवसर पर श्रीमाल नगर में सोलंकियों की कोटडी में लोगों ने शगुन, बारिश एवं सुकाल की संभावनाएं देखी। शगुन में अच्छी बारिश की संभावना जताई गई है। इस अवसर पर शीतलाईनाथ महाराज, बलवंतसिंह सोलंकी, हरिसिंह, अमरसिंह, बाबराजी माली, शैलेन्द्रसिंह, रसूल खां, गुमानसिंह, शंकर माली, डायालाल सुथार, सूरमसिंह, अमृतलाल प्रजापत, नरेन्द्रसिंह, हडमतसिंह सहित कई शहरवासी उपस्थित रहे।

किसानों की मानें तो इस वर्ष आषाढ़-श्रावण मास के दौरान अच्छी बारिश होने से नदी नाले उफान पर चल सकते हैं

गुड़ा बालोतान. बिठूड़ा गांव में संकेत देखते किसान व ग्रामीण।

भीनमाल. आखातीज पर शगुन देखते हुए शहरवासी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×