भीनमाल

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • पति से फोन पर बात करने के बाद दो बच्चों के साथ जाकोब तालाब में कूदी थी महिला
--Advertisement--

पति से फोन पर बात करने के बाद दो बच्चों के साथ जाकोब तालाब में कूदी थी महिला

जाकोब तालाब में गत 15 मई को मिले एक विवाहिता व उसकी दोनों पुत्रियों के शव के मामले में आत्महत्या की बात सामने आ रही...

Dainik Bhaskar

May 25, 2018, 02:05 AM IST
पति से फोन पर बात करने के बाद दो बच्चों के साथ जाकोब तालाब में कूदी थी महिला
जाकोब तालाब में गत 15 मई को मिले एक विवाहिता व उसकी दोनों पुत्रियों के शव के मामले में आत्महत्या की बात सामने आ रही है। आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए महिला के पति पर ही शक की सुई गहराने लगी है। इधर इस मामले में सर्वप्रथम महिला के जेठ ने ही शुमशुदगी उसके बाद शव मिलने पर पुलिस ने मर्ग दर्ज किया था तथा अब विवाहिता के पिता ने 9 दिन बाद अपने दामाद के विरुद्ध दहेज के लिए परेशान करने व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया है। हालांकि पुलिस जांच में जुटी हुई है तथा शीघ्र ही इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार क िया जाएगा।

जानकारी के अनुसार 13 मई को जेरण निवासी सुजाराम भील की पुत्री पंखुदेवी (21) अपने पिता के साथ ससुराल जोगाऊ जाने के लिए दोनों पुत्रियों के साथ पूनासा गांव के बस स्टैंड पर उतरी थी उसके बाद उसका पिता मौखातरा गांव चला गया। पंखुदेवी पूनासा बस स्टैंड पर काफी देर तक खड़ी रही, लेकिन बस नहीं आने पर अहमदाबाद में रह रहे अपने पति फौजाराम से संपर्क किया। पुलिस जांच में सामने आया है कि पंखुदेवी की अपने पति फौजाराम के साथ काफी लंबी बातचीत चली। पंखुदेवी अपनी पुत्रियों के साथ पूनासा से किसी टैक्सी में बैठकर जेरण फांटा तक भी आई थी इस दौरान भी दोनों के बीच फोन पर ही लंबी बातचीत हुई थी। दोनों के बीच क्या बातचीत हुई इसको लेकर फौजाराम से पुलिस पूछताछ कर रही है। बुधवार शाम को पंखु के पिता ने भी दामाद के विरुद्ध दहेज हत्या व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला थाने में दर्ज करवाया है। पुलिस का कहना है कि शीघ्र ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

दोनों पक्षों ने किया था प्रदर्शन : घटना के दिन पोस्टमार्टम के बाद 8 घंटे तक पंखु व उसकी दोनों पुत्रियों का शव मोर्चरी में पड़ा रहा। विधायक व पुलिस ने 5 दिन में मामले का राजफाश करने का आश्वासन दिया था उसके बाद ससुराल पक्ष व परिजनों ने शव को उठाया था। मामले में 5 दिन गुजर जाने के बाद दोनों पक्षों ने उपखण्ड कार्यालय व पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर मामले का राजफाश करने की मांग की थी लेकिन अब जैसे-जैसे पंखु के पति पर शक गहराने लगा है तो दोनों पक्ष मामले से किनारा करते दिख रहे है।

पति से मोबाइल पर हुई थी घंटों बातचीत, पिता ने 9 दिन बाद दामाद के विरुद्ध दहेज हत्या व आत्महत्या के लिए उकसाने मामला दर्ज करवाया

भीनमाल. पुलिस थाने पहुंचे मृतका के पीहर पक्ष के लोग। फोटो| भास्कर

घटना के दिन नहीं पहुंचा पंखु का पति फाैजाराम भील

जाकोब तालाब में शव मिलने के बाद पुलिस ने तत्काल इसकी सूचना उसके ससुराल जोगाऊ में दी थी। इसके बाद पंखु का जेठ सहित अन्य लोग शव लेने के लिए पहुंचे थे मगर पंखुदेवी का पति काफी देर इंतजार करने के बाद भी नहीं पहुंचा था। अहमदाबाद से भीनमाल पहुंचने में करीबन 6 घंटे लगते है जबकि 8 घंटे तक शव लेकर परिजन व ससुराल पक्ष के लोग मोर्चरी के बाहर बैठे रहे मगर पंखु का पति फौजाराम नहीं आया था।

भास्कर न्यूज | भीनमाल

जाकोब तालाब में गत 15 मई को मिले एक विवाहिता व उसकी दोनों पुत्रियों के शव के मामले में आत्महत्या की बात सामने आ रही है। आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए महिला के पति पर ही शक की सुई गहराने लगी है। इधर इस मामले में सर्वप्रथम महिला के जेठ ने ही शुमशुदगी उसके बाद शव मिलने पर पुलिस ने मर्ग दर्ज किया था तथा अब विवाहिता के पिता ने 9 दिन बाद अपने दामाद के विरुद्ध दहेज के लिए परेशान करने व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया है। हालांकि पुलिस जांच में जुटी हुई है तथा शीघ्र ही इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार क िया जाएगा।

जानकारी के अनुसार 13 मई को जेरण निवासी सुजाराम भील की पुत्री पंखुदेवी (21) अपने पिता के साथ ससुराल जोगाऊ जाने के लिए दोनों पुत्रियों के साथ पूनासा गांव के बस स्टैंड पर उतरी थी उसके बाद उसका पिता मौखातरा गांव चला गया। पंखुदेवी पूनासा बस स्टैंड पर काफी देर तक खड़ी रही, लेकिन बस नहीं आने पर अहमदाबाद में रह रहे अपने पति फौजाराम से संपर्क किया। पुलिस जांच में सामने आया है कि पंखुदेवी की अपने पति फौजाराम के साथ काफी लंबी बातचीत चली। पंखुदेवी अपनी पुत्रियों के साथ पूनासा से किसी टैक्सी में बैठकर जेरण फांटा तक भी आई थी इस दौरान भी दोनों के बीच फोन पर ही लंबी बातचीत हुई थी। दोनों के बीच क्या बातचीत हुई इसको लेकर फौजाराम से पुलिस पूछताछ कर रही है। बुधवार शाम को पंखु के पिता ने भी दामाद के विरुद्ध दहेज हत्या व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला थाने में दर्ज करवाया है। पुलिस का कहना है कि शीघ्र ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

दोनों पक्षों ने किया था प्रदर्शन : घटना के दिन पोस्टमार्टम के बाद 8 घंटे तक पंखु व उसकी दोनों पुत्रियों का शव मोर्चरी में पड़ा रहा। विधायक व पुलिस ने 5 दिन में मामले का राजफाश करने का आश्वासन दिया था उसके बाद ससुराल पक्ष व परिजनों ने शव को उठाया था। मामले में 5 दिन गुजर जाने के बाद दोनों पक्षों ने उपखण्ड कार्यालय व पुलिस थाने पर प्रदर्शन कर मामले का राजफाश करने की मांग की थी लेकिन अब जैसे-जैसे पंखु के पति पर शक गहराने लगा है तो दोनों पक्ष मामले से किनारा करते दिख रहे है।

मृतका पंखुदेवी का पति फौजाराम भील।

9 दिन बाद मृतका क परिजनों ने दर्ज कराया दहेज हत्या का मामला

गुरुवार को पुलिस थाने में पहुंचे पंखु के ससुराल पक्ष के लोगों ने बताया कि पंखु के पिता ने आखिर 9 दिन बाद दहेज हत्या का मामला कैसे दर्ज करवाया। अगर दहेज की बात होती तो उसी दिन मामला दर्ज करवाना चाहिए था आखिर 9 दिन किसका इंतजार किया। घटना के दिन पंखु के पिता ने दहेज या अनबन जैसी बात स्वीकार नहीं की थी।

पुलिस ने कहा- शीघ्र ही गिरफ्तार होगा आरोपी


X
पति से फोन पर बात करने के बाद दो बच्चों के साथ जाकोब तालाब में कूदी थी महिला
Click to listen..