• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब
--Advertisement--

करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब

भीनमाल. दांतीवास में बाढ़ से खराब हुई बैटरियां व सोलर प्लेट। एक साल से बंद पड़े हैं प्लांट वर्ष 2012 में भीनमाल,...

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2018, 02:20 AM IST
करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब
भीनमाल. दांतीवास में बाढ़ से खराब हुई बैटरियां व सोलर प्लेट।

एक साल से बंद पड़े हैं प्लांट

वर्ष 2012 में भीनमाल, जसवंतपुरा व रानीवाड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायतों में सोलर फोटोवोल्टेक संयत्र लगाए थे, लेकिन अब ये संयंत्र कंपनी की रख-रखाव अवधि पूरी होने से धूल फांक रहे है। जिले की इन तीनों पंचायत समितियों की मात्र कुछ ग्राम पंचायतों को छोड़कर शेष जगह सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र पिछले एक वर्ष से बंद पड़े है ऐसे में राज्य सरकार द्वारा खर्च किए गए करीब 3 करोड़ रुपए व्यर्थ साबित हो रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में विद्युत कटौती ज्यादा रहने से एक बार फिर अटल सेवा केन्द्रों पर कम्प्यूटर संबंधी ऑनलाइन कार्य में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। इधर ग्राम पंचायतों को विद्युत बिल का भुगतान करना पड़ रहा है।

जल्द ठीक करवाएंगे


उच्चाधिकारियों को लिखेंगे


सप्लाई भुगतान नहीं किया गया


बंद पड़े संयंत्र को दिखाते हुए कोटकास्तान सरपंच माली।

इन ग्राम पंचायतों में बंद पड़े संयंत्र

भीनमाल पंचायत समिति की ग्राम पंचायत भागलभीम, निम्बावास, दांतीवास, वाडाभाडवी, कूका, डूंगरवा, कोटकास्तान, बोरटा, नरता, भागलसेफ्टा, दासपा, कोरा, जुंजाणी, कावतरा, कालेटी, लूणावास, राह, जेरण, सेवडी, नरसाणा, बागोडा, मोरसीम, नई मोरसीम, बाली, भालनी, लाखणी, चैनपुरा, राउता, जैसावास, नांदिया, खोखा, रंगाला। इसी तरह जसवंतपुरा पंचायत समिति की 22, रानीवाड़ा पंचायत समिति की 18 ग्राम पंचायतों में वर्तमान में सोलर फोटोवाल्टेक संयंत्र बंद पड़े है। इधर जालोर पंचायत समिति के अंतर्गत आने वाले 28 अटल सेवा केंद्रों में से 5 पर सोलर प्लांट बंद पड़े हैं।

कार्य कई बार प्रभावित होते हैं


कंपनी का प्रतिनिधि नहीं पहुंचा


एक वर्ष पूर्व ही समाप्त हो चुकी है संयंत्र के रखरखाव अवधि

क्या है सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र

दूर-दराज ग्रामीण इलाकों में अव्यवस्थित विद्युत आपूर्ति और विद्युत प्रवाह के उतार-चढ़ाव को देखते हुए राज्य सरकार ने 2012 में राज्य की सभी ग्राम पंचायतों के अटल सेवा केन्द्रों पर कृषि, संचार, स्वास्थ्य, प्रशासन सहित अन्य सुविधाएं कम्प्यूटर व प्रिंटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए सोलर प्लेट व बैटरी सेट (सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र) स्थापित किए थे। इसके तहत राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड इंस्टूमेंट लि. जयपुर (रील) द्वारा प्रत्येक अटल सेवा केन्द्रों पर 1120 वॉट पीक पावर का एसपीवी मोड्यूल, मोड्यूल माउंटिंग स्ट्रक्चर, इनवर्टर कम चार्ज नियंत्रक व ८ बैटरियों के साथ बैट्री बैंक लगाए गए है। एक संयंत्र की रख-रखाव सहित कुल लागत 3.13 लाख रुपए है। वर्ष 2012 में स्थापित किए इन संयंत्र की रखरखाव अवधि एक वर्ष पूर्व ही समाप्त हो चुकी है ऐसे में रखरखाव के अभाव में यह संयंत्र अब धूल फांक रहे हैं।

X
करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..