Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब

करोड़ों खर्च कर ग्राम पंचायतों में लगाए थे सोलर प्लांट, कुछ साल बाद ही खराब

भीनमाल. दांतीवास में बाढ़ से खराब हुई बैटरियां व सोलर प्लेट। एक साल से बंद पड़े हैं प्लांट वर्ष 2012 में भीनमाल,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 20, 2018, 02:20 AM IST

भीनमाल. दांतीवास में बाढ़ से खराब हुई बैटरियां व सोलर प्लेट।

एक साल से बंद पड़े हैं प्लांट

वर्ष 2012 में भीनमाल, जसवंतपुरा व रानीवाड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायतों में सोलर फोटोवोल्टेक संयत्र लगाए थे, लेकिन अब ये संयंत्र कंपनी की रख-रखाव अवधि पूरी होने से धूल फांक रहे है। जिले की इन तीनों पंचायत समितियों की मात्र कुछ ग्राम पंचायतों को छोड़कर शेष जगह सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र पिछले एक वर्ष से बंद पड़े है ऐसे में राज्य सरकार द्वारा खर्च किए गए करीब 3 करोड़ रुपए व्यर्थ साबित हो रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में विद्युत कटौती ज्यादा रहने से एक बार फिर अटल सेवा केन्द्रों पर कम्प्यूटर संबंधी ऑनलाइन कार्य में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। इधर ग्राम पंचायतों को विद्युत बिल का भुगतान करना पड़ रहा है।

जल्द ठीक करवाएंगे

अटल सेवा केंद्रों पर प्लांट लगाने वाली फर्म की 5 साल की समयावधि पूरी हो गई है। अब पंचायत समिति स्तर पर इन प्लांट को जल्द ही ठीक करवाया जाएगा जिससे विभागीय कामकाज प्रभावित नहीं हो। साथ ही ग्रामीणों को भी बार-बार काम के लिए चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। -सुरेश कविया, बीडीओ, जालोर

उच्चाधिकारियों को लिखेंगे

ज्यादातर ग्राम पंचायतों में सोलर संयंत्र रखरखाव के अभाव में बंद पड़े है। कंपनी की रखरखाव अवधि पूरी होने के बाद से सभी ऐसे ही पड़े हैं। शुरू करवाने के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा जाएगा। -नरपतसिंह भाटी, विकास अधिकारी जसवंतपुरा

सप्लाई भुगतान नहीं किया गया

कंपनी की रखरखाव अवधि समाप्त हो चुकी है फिर भी हम कॉल आने पर संबंधित ग्राम पंचायत में रखरखाव के लिए पहुंचते हैं। जसवंतपुरा में तीन ग्राम पंचायतों का सप्लाई भुगतान भी अभी तक नहीं किया गया है। -नेमीचंद, तकनीशियन रील कंपनी

बंद पड़े संयंत्र को दिखाते हुए कोटकास्तान सरपंच माली।

इन ग्राम पंचायतों में बंद पड़े संयंत्र

भीनमाल पंचायत समिति की ग्राम पंचायत भागलभीम, निम्बावास, दांतीवास, वाडाभाडवी, कूका, डूंगरवा, कोटकास्तान, बोरटा, नरता, भागलसेफ्टा, दासपा, कोरा, जुंजाणी, कावतरा, कालेटी, लूणावास, राह, जेरण, सेवडी, नरसाणा, बागोडा, मोरसीम, नई मोरसीम, बाली, भालनी, लाखणी, चैनपुरा, राउता, जैसावास, नांदिया, खोखा, रंगाला। इसी तरह जसवंतपुरा पंचायत समिति की 22, रानीवाड़ा पंचायत समिति की 18 ग्राम पंचायतों में वर्तमान में सोलर फोटोवाल्टेक संयंत्र बंद पड़े है। इधर जालोर पंचायत समिति के अंतर्गत आने वाले 28 अटल सेवा केंद्रों में से 5 पर सोलर प्लांट बंद पड़े हैं।

कार्य कई बार प्रभावित होते हैं

पिछले 6 महीने से सोलर संयंत्र देखरेख के अभाव में बंद पड़ा है ऐसे में बिल का भुगतान करना पड़ रहा है वहीं विद्युत कटौती के समय कम्प्यूटर संबंधी कार्य प्रभावित हो रहे है। -विष्णकुमार, ग्राम सेवक सेवड़ी

कंपनी का प्रतिनिधि नहीं पहुंचा

ग्राम पंचायत में लगा सोलर संयंत्र पिछले 2 वर्ष से बंद है। यहां कंपनी का कोई प्रतिनिधि नहीं पहुंचा है। बिजली व्यवस्था बाधित होने से ऑनलाइन संबंधी कार्य में परेशानी हो रही है। -दलाराम राणा, सरपंच आलड़ी

एक वर्ष पूर्व ही समाप्त हो चुकी है संयंत्र के रखरखाव अवधि

क्या है सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र

दूर-दराज ग्रामीण इलाकों में अव्यवस्थित विद्युत आपूर्ति और विद्युत प्रवाह के उतार-चढ़ाव को देखते हुए राज्य सरकार ने 2012 में राज्य की सभी ग्राम पंचायतों के अटल सेवा केन्द्रों पर कृषि, संचार, स्वास्थ्य, प्रशासन सहित अन्य सुविधाएं कम्प्यूटर व प्रिंटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए सोलर प्लेट व बैटरी सेट (सोलर फोटोवोल्टेक संयंत्र) स्थापित किए थे। इसके तहत राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड इंस्टूमेंट लि. जयपुर (रील) द्वारा प्रत्येक अटल सेवा केन्द्रों पर 1120 वॉट पीक पावर का एसपीवी मोड्यूल, मोड्यूल माउंटिंग स्ट्रक्चर, इनवर्टर कम चार्ज नियंत्रक व ८ बैटरियों के साथ बैट्री बैंक लगाए गए है। एक संयंत्र की रख-रखाव सहित कुल लागत 3.13 लाख रुपए है। वर्ष 2012 में स्थापित किए इन संयंत्र की रखरखाव अवधि एक वर्ष पूर्व ही समाप्त हो चुकी है ऐसे में रखरखाव के अभाव में यह संयंत्र अब धूल फांक रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×