• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • बाढ़ में क्षतिग्रस्त बिजली खंभों से आए दिन हो रहे हादसे, विद्युत व्यवस्था भी बाधित
--Advertisement--

बाढ़ में क्षतिग्रस्त बिजली खंभों से आए दिन हो रहे हादसे, विद्युत व्यवस्था भी बाधित

शहर सहित क्षेत्र के गांवों में लगे जर्जर विद्युत पोल हादसोंं को निमंत्रण दे रहे है। कई बार गिरे पोल से बड़े हादसे...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 02:20 AM IST
बाढ़ में क्षतिग्रस्त बिजली खंभों से आए दिन हो रहे हादसे, विद्युत व्यवस्था भी बाधित
शहर सहित क्षेत्र के गांवों में लगे जर्जर विद्युत पोल हादसोंं को निमंत्रण दे रहे है। कई बार गिरे पोल से बड़े हादसे होते-होते भी बचे है मगर विभाग की उदासीनता के चलते अभी तक इनको हटाया नहीं गया है। गत एक वर्ष के दौरान हुई भारी बारिश के बाद नदी-नालों में लगे विद्युत पोल झुकी हुई स्थिति में खड़े है।

कभी-भी गिरने वाले यह पोल हादसो को आमंत्रण देने के साथ-साथ ही कई गांवों की विद्युत सप्लाई भी बाधित कर सकते है। रविवार को करड़ा चार रास्ता पर एक कैम्पर गाड़ी टकराने के बाद विद्युत पोल गिर गया। जिससे बड़ा हादसा होते-होते टला है जिससे शहर में करीब 2 घंटे तक विद्युत आपूर्ति बाधित रही।

शीघ्र ही कार्य शुरू करवाएंगे


जर्जर विद्युत पोल हादसोंं को निमंत्रण दे रहे है

भीनमाल. करडा चार रास्ता पर गाड़ी की टक्कर के बाद गिरा विद्युत पोल। फोटो | भास्कर

जगह-जगह खड़े है जर्जर पोल

शहर के माघ कॉलोनी, टेकरावास, महेश्वरी कॉलोनी, धोराढाल, हाईस्कूल रोड पर क्षतिग्रस्त पोल खड़े है। इन खंभों के अगर वाहन जरा सा भी संपर्क में आता है तो यह कभी भी गिर सकते है। कई खंभे तो इसे खड़े जो गिरने पर आसपास की कई दुकानों तक को चपेट में ले सकते है। ज्यादा समय व्यतीत होने के बाद इन खंभों पर लगा सीमेंट जमीन की तरफ से उखड़ गया है और यह केवल कुछ ही तारों के सहारे टिके है।

अनुपयोगी पोल बड़े परेशानी का सबब

शहर के रेल्वे स्टेशन रोड, खारी रोड, गायत्री मंदिर रोड, टेकरावास रोड, जुंजाणी बस स्टैण्ड इत्यादि जगहों पर कई पोल बिना तार के ही अनुपयोगी खड़े है जो पैदल राहगीरों के लिए परेशानी का सबब बने हुए है। हालांकि कृषि मंडी रोड पर गौरव पथ का कार्य शुरू है ऐसे में यहां विद्युत लाइन को अंडरग्राउंड करने का कार्य जरूर चल रहा है। शहर के खारी रोड, माघ चौक पर लगे बड़े ट्रांसफार्मर भी बीच में होने के कारण पशु चपेट में आ जाते है।

नदी-नालों में भी यही स्थिति

क्षेत्र के नदी-नालों में वर्ष 2015 व 2017 में ज्यादा बारिश होने की वजह से अधिक पानी बहा था इस वजह से इनमें लगे पोल भी तेज बहाव के कारण झुक गए थे इस तरह दो वर्ष बीत जाने के बाद भी इन पोल को हटाने के लिए डिस्कॉम के पास समय ही नहीं है। वर्तमान में भी उसी झुकी हुई स्थिति में खड़े है जो कभी भी गिर सकते है। नदी-नालों में लगे ये खंभे अगर गिर जाते है तो दर्जनों गांवों की विद्युत आपूर्ति को बाधित कर सकते है। बांडी, सांगी, कोडी में दर्जनों की संख्या में विद्युत पोल झुके हुए है।

भीनमाल. बांडी नदी में गिरने की स्थिति में खड़े विद्युत पोल। जिससे कभी भी हादसे का अंदेशा लगा रहता है।

बड़ा हादसा होते-होते टला

रविवार रात्रि में करड़ा चार रास्ता पर रात्रि 8 बजे एक कैम्पर चालक गाड़ी को पीछे की ओर ले रहा था इस दौरान विद्युत पोल के टकराने के बाद पोल तारों सहित नीचे गिर गया। गनीमत रही कि इस दौरान वाहनों का आवागमन नही हुआ अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। मौके पर मौजूद लोगों ने तत्काल इसकी सूचना डिस्कॉम कार्यालय में दी जिससे समय पर विद्युत कटौती की गई। इस दौरान शहर में करीब 2 घंटे तक विद्युत आपूर्ति बाधित रही।

X
बाढ़ में क्षतिग्रस्त बिजली खंभों से आए दिन हो रहे हादसे, विद्युत व्यवस्था भी बाधित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..