भीनमाल

  • Home
  • Rajasthan News
  • Bhinmal News
  • 33 लाख का बिल पास करने एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ पीडब्ल्यूडी का एईएन
--Advertisement--

33 लाख का बिल पास करने एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ पीडब्ल्यूडी का एईएन

भास्कर न्यूज | जालोर/ रानीवाड़ा जिले रानीवाड़ा उपखंड में सार्वजनिक निर्माण विभाग के के सहायक अभियंता हेमाराम...

Danik Bhaskar

Jul 03, 2018, 02:20 AM IST
भास्कर न्यूज | जालोर/ रानीवाड़ा

जिले रानीवाड़ा उपखंड में सार्वजनिक निर्माण विभाग के के सहायक अभियंता हेमाराम उर्फ हेमराज विश्नोई को सड़क निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदार छेलसिंह देवल का फाइनल बिल बनाने के बदले एक लाख की रिश्वत लेते सिरोही की एसीबी टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। सिरोही एसीबी टीम के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र कुमार मेड़तिया ने बताया कि ठेकेदार छेलसिंह देवल निवासी पहाड़पुरा ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि रानीवाड़ा पीडब्ल्यूडी क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य किया था। जिसका बिल 33 लाख का बनता है, लेकिन कार्यालय में कार्यरत एईएन विश्नोई इस बिल का पास करने के ऐवज में डेढ़ लाख रुपये मांग रहा है। जिसके बाद सिरोही की एसीबी टीम ने शिकायत का 19 मई 2018 को सत्यापन करवाया था। जिसमें ठेकेदार ने 50 हजार रुपये दिए।

एईएन हेमाराम

शिकायतकर्ता ने पूर्व में सत्यापन के दौरान 50 हजार की दी थी रिश्वत

रानीवाड़ा. एईएन कार्यालय में कार्यवाही करते एसीबी की टीम।

बिल को पास करने के बदले में सरकारी कार्यालय में ली रिश्वत

सड़क निर्माण के बिल को पास करने के बदले में डेढ़ लाख की रिश्वत की मांग करने वाले एईएन हेमाराम ने ऑफिस में बैठकर पीडि़त से एक लाख की रिश्वत की राशि ले ली। जिसके बाद पीडि़त के इशारे में एसीबी की टीम ने आरोपी को पैसों सहित दबोच लिया।

2014 में ठेकेदार ने बनाई थी सड़क

रानीवाड़ा उपखंड के जाखड़ी गांव में सड़क का निर्माण कार्य करवाया था। जिसमें किसी अन्य फर्म के नाम पर टेंडर था और ठेकेदार छेलसिंह ने सब कांट्रेक्ट पर कार्य किया था। जिसका फाइनल बिल बनना था, लेकिन हेमाराम ने रोक रखा था। जिसके बाद एईएन ने डेढ़ लाख की रिश्वत पर बिल बनाने की बात फाइनल होने के बाद पीडि़त से सिरोही एसीबी में शिकायत दर्ज करवाई। शिकायत के बाद 50 हजार की राशि देकर सत्यापन करवाया और एक लाख रुपयों के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

विदेश से दोनों लड़कों को करवाई एमबीबीएस

रानीवाड़ा से एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार हेमाराम विश्नोई मूलत बलवाना ग्राम पंचायत धानता के है। विश्नोई के दो लड़के है। दोनों को विश्नोई ने रुस से एमबीबीएस करवा रखी है। दोनों लड़के मांगीलाल व भंवरलाल रानीवाड़ा ब्लॉक में चिकित्सक लगे हुए है।

लंबे समय से जिले में ही है कार्यरत है विश्नोई

रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ एईएन हेमाराम विश्नोई पिछले लंबे समय से जालोर के सांचौर, भीनमाल, जसवंतपुरा व रानीवाड़ा में ही कार्यरत रहा है।

कार्यवाही के बाद एकत्रित हो गए लोग

रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय पर पीडब्ल्यूडी कार्यालय में एसीबी की कार्यवाही की भनक लगते ही काफी संख्या में लोग एकत्रित हो गए।

एक लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया


Click to listen..