• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bhinmal
  • पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री
--Advertisement--

पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री

भगवानसिंह सांगाणा/मंगलाराम जांगिड़ | भीनमाल शहर में दो जगहों पर संचालित की जा रही अन्नपूर्णा रसोई वैन पर...

Dainik Bhaskar

Jul 03, 2018, 02:20 AM IST
पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री
भगवानसिंह सांगाणा/मंगलाराम जांगिड़ | भीनमाल

शहर में दो जगहों पर संचालित की जा रही अन्नपूर्णा रसोई वैन पर प्रतिदिन नाश्ता, दोपहर व सांय के भोजन के लिए एक दर्जन से अंदर ही लोग पहुंच पा रहे हैं। करड़ा चार रास्ता पर खड़ी रहने वाली वैन पर तो सांय के भोजन के लिए एक भी व्यक्ति नहीं पहुंचता है लेकिन खाना सप्लाई करने वाली कंपनी ने जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क प्लेट देने की आड़ में पॉस मशीन से फर्जी बिल निकालकर प्रतिदिन तीनों समय दिए जाने वाली प्लेटों की संख्या 100 तक पहुंचा रहे हैं। भास्कर ने जब मौके पर जाकर जरूरतमंद लोगों को दी जाने वाली प्लेटो की पड़ताल की तो सामने आया कि वहा भी एक दर्जन से अधिक लोग नहीं पहुंच रहे हैं।ै इधर वैन में लगे खाने के डिब्बों को देखा तो उनमें खाना भी खलास हो गया था। दोनों वैन जब अपने तय स्थान से राजकीय महाविद्यालय के पीछे जरूरतमंद बस्ती में पहुंची थी तो उस समय मात्र कुछ ही लोगों के लिए दोनों वैन में खाना बचा था। ऐसे में पॉस मशीन में फर्जी प्लेटों की एंट्री कर सरकार को लाखों का चूना लगाया जा रहा है।

दो माह में 72 हजार प्लेटों की बताई एंट्री : शहर में २ मई से शुरू की गई अन्नपूर्णा रसोई वैन का संचालन करडा चार रास्ता व नगरपालिका कार्यालय के सामने किया जा रहा है। दोनों वैन पर भोजन के लिए ऑनलाइन टोकन पॉस मशीन से मिलता है। मई माह में तीनों समय प्रतिदिन कम से कम ७५० प्लेट बिकने का आंकडा दर्शाया गया। इसी तरह जून में तीनों समय प्रतिदिन कम से कम ३०० प्लेट बिकने का बताया गया है।

23.70 रूपए प्रति प्लेट से होता है भुगतान : राज्य सरकार ने अन्नपूर्णा रसोई वैन से लोगों को नाश्ता 5 रूपए व दोनों समय का भोजन 8 रूपए में देना तय किया है। वैन को खाना सप्लाई करने वाली कंपनी को राज्य सरकार प्रति प्लेट के हिसाब से भुगतान करती है उसके लिए कंपनी को नाश्ता प्रति प्लेट 21.70 रूपए व दोनों समय के भोजन 23.70 रुपए प्रति प्लेट के हिसाब से सरकार भुगतान करती है जिसमें कंपनी को नाश्ते के 16.70 सरकार से व 5 रूपए ग्राहक से लेने होते है इसी तरह दोनों समय के भोजन का 15.70 रुपए सरकार व 8 रूपए ग्राहक से लेने होते है।

खाना सप्लाई करने वाली कंपनी को २१.७० रूपए नाश्ता व दोनों समय के भोजन का २३.७० रूपए प्रति प्लेट से होता है भुगतान

भीनमाल. उपखंड कार्यालय के बाहर खाली पड़ा अन्नपूर्णा रसोई वैन।

भीनमाल. महाविद्यालय के पीछे अन्नपूर्णा रसोई वैन से नि:शुल्क भोजन प्लेट ले जाते हुए बच्चे।

50 लोगों का आता है भोजन, पॉस मशीन में एंट्री 100 की

दोनों वैन में नाश्ता तो भीनमाल में ही तैयार होता है लेकिन दोनों समय का भोजन शिवगंज भोजनशाला से बनकर आता है। भास्कर ने जब मौके पर जाकर पड़ताल की तो रोजाना दोनों वैन पर एक दर्जन से अधिक लोग नहीं पहुंच पा रहे हैं। इधर सोमवार दोपहर 2 बजे जरूरतमंद बस्ती में मौके पर जाकर देखा तो वहा मात्र 30 लोगों को ही निशुल्क प्लेट वितरित की गई थी और मात्र 10 से 15 प्लेटों का ही खाना बचा था जबकि पॉस मशीन में 100 प्लेटों का बिल निकालकर एंट्री की गई है।


पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री
X
पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री
पॉस मशीन में फर्जी इंद्राज कर दो माह में 72 हजार प्लेट की बताई एंट्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..