Hindi News »Rajasthan »Bhinmal» भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना

भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना

करड़ा. निकटवर्ती भाटीप गांव में कलश स्थापना समारोह में उपस्थित समाजबंधु। फोटो| भास्कर भास्कर न्यूज | करडा ...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 02:25 AM IST

  • भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना
    +3और स्लाइड देखें
    करड़ा. निकटवर्ती भाटीप गांव में कलश स्थापना समारोह में उपस्थित समाजबंधु। फोटो| भास्कर

    भास्कर न्यूज | करडा

    निकटवर्ती भाटीप गांव स्थित विश्रोई समाज के आराध्य देव गुरू जम्भेश्वर भगवान मंदिर शिखर पर कलश स्थापना के अवसर पर उपस्थित समाजबंधुओं को स्वामी भागीरथदास आचार्य ने गुरू जम्भेश्वर भगवान द्वारा बताए गए नियमों का पालन करते हुए समाज विकास में सहयोग की बात कही। वही लालासर साथरी के महंत स्वामी राजेन्द्रानंद ने समाज के युवाओं को संस्कार मिल सके, उसके लिए संस्कार शिविर खोलने की बात कही। वहीं सांचौर विधायक सुखराम विश्रोई ने समाज में व्याप्त कुरीतियों को त्यागने व अच्छाई को ग्रहण करने की बात कही। पूर्व सांसद जसवंतसिह विश्रोई ने समाजबंधुओं को प्राणी मात्र की सेवा करने की बात कही वहीं कहा की वृद्धजन अपने बच्चों व समाज के युवाओं का ध्यान रखते हुए भूले भटके को सही रास्ते पर लाए। वही फलौदी विधायक पब्बाराम विश्नोई ने शिक्षा के क्षेत्र में समाजबंधुओं को अग्रसर रहने की बात कही। इस अवसर पर पूर्व उपमुख्य सचेतक रतन देवासी ने विश्नोई समाज द्वारा पर्यावरण सरंक्षण के योगदान को याद करते हुए खेजड़ली शहीद दिवस को पर्यावरण बलिदान दिवस के रुप में मनाने की बात कही। वही विधायक नारायणसिंह देवल ने विश्रोई समाज व गुरू जम्भेश्वर भगवान द्वारा प्रतिपादित नियमों को विशेषकर पर्यावरण प्रेम को सर्वक्षेष्ठ बताया। इस अवसर पर आखिल भारतीय विश्रोई महासभा के पूर्व अध्यक्ष हीरालाल विश्नोई ने कहा की सामाजिक मंच पर समाज की बुराइयों को न गिना कर अच्छाईयों का गुणगान करते हुए समाज विकास में भागीदार बने।

    हवन व कलश स्थापना सम्पन्न : भाटीप गांव स्थित गुरू जम्भेश्वर भगवान मंदिर की गुरुवार सवेरे स्वामी भागीरथदास आचार्य समेत साधु संतो के सानिध्य में हवन व मंदिर शिखर पर कलश स्थापित कर मंदिर शिखर पर ध्वजा चढ़ाई गई। वही समाजबंधुओं ने यज्ञ में आहुतियां दी। साथ ही समाजबंधुओं को गुरू मंत्रों से निर्मित पाहल ग्रहण करवाकर नशामुक्ति व कुरूतियों को त्यागने हेतु प्रेरित किया गया, तत्पश्चात आयोजित महाप्रसादी में हजारों की तादाद में ग्रामीणों ने भाग लिया।

    भजन संध्या आयोजित

    जम्भेश्वर भगवान मंदिर कलश स्थापना के अवसर पर बुधवार रात्रि को स्वामी भागीरथदास आचार्य व सांधु संतों के सान्निध्य भव्य भजन संध्या का आयोजन हुआ।

    जिसमें देर रात तक संत व गायक कलाकारों की ओर से भजनों की प्रस्तुति दी गई। वही समाजबंधुओं की ओर से देर रात तक भजनों को श्रवण किया गया।

    विश्नोई समाजबंधुओं ने लिया गुरु जम्भेश्वर महाराज के नियमों की पालना का संकल्प, क्षेमंकरी माता मंदिर में हेलिकॉप्टर से हुई पुष्पवर्षा

    इन साधु संतों का रहा सान्निध्य

    स्वामी भागीरथदास आचार्य जाजीवाल धोरा, महंत भगवानदास जांभा, महंत प्रेंमदास जाम्भा, महंत राजेन्द्रानंद लालासर साथरी, स्वामी सच्चिदानंद, महंत स्वामी भागीरथदास शास्त्री मुकाम, संत निर्मलदास चौरा समेत विभिन्न साधु संतों का सानिध्य रहेगा, वही पूर्व सांसद जसवंतसिह विश्नोई, सुखराम विश्नोई विधायक सांचौर, हीरालाल विश्नोई पूर्व विधायक, भगवानाराम विश्नोई उपाध्यक्ष आखिल भारतीय विश्नोई महासभा, धीमाराम विश्नोई पुलिस उप अधीक्षक, पूनाराम गोदारा एसीजेएम भीनमाल, देराम विश्नोई पूर्व प्रधान, माली देवी पूर्व प्रधान, सहीराम डारा आरएएस, श्माय खीचड़ संभाग अध्यक्ष आखिल भारतीय विश्नोई जीव रक्षा महासभा, रानीवाड़ा काग्रेंस ब्लॉक अध्यक्ष जयकिशन भादू समेत विभिन्न जनप्रतिनिधि व अधिकारी व समाज के प्रबुद्व नागरिक मौजूद थे।

    क्षेमंकरी माता मंदिर में 54 फीट ऊंचे त्रिशूल की हुई स्थापना

    भीनमाल. क्षेमंकरी माता तलहटी में भजन संध्या में प्रस्तुति देते कलाकार। फोटो| भास्कर

    भास्कर न्यूज | भीनमाल

    क्षेमंकरी माताजी मंदिर प्रांगण में स्थापित अष्टधातु निर्मित 54 फीट त्रिशूल प्राण प्रतिष्ठा गुरूवार को पांच दिवसीय सहस्त्र चंडी महायज्ञ के साथ धूमधाम से संपन्न हुई। प्राण प्रतिष्ठा के अंतिम दिन दोपहर 12.30 बजे त्रिशूल की प्राण प्रतिष्ठा होते ही आसमान क्षेमंकरी माता के जयकारों से गूंज उठा।

    इस दौरान मंदिर प्रांगण पर हैलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई जिसे देखने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। इससे पूर्व संध्या पर क्षेमंकरी माता तलहटी पर विशाल भजन संध्या का आयोजन हुआ। भजन संध्या की शुरुआत गणपति वंदना के साथ हुई। भजन संध्या में गायक कलाकार चुन्नीलाल राजपुरोहित ने क्षेमंकरी के दरबार में.., छम-छम चमके चुंदड़ी..,आशा वैष्णव ने सुता वो तो जागो नींद सूं..., माताजी की चूंदड़ी समेत कई एक से एक भजन पेश किए। रमेश माली व मनोज रिया एंड पार्टी की ओर से दुर्गा, शिव, काली मां दुर्गा की नृत्यामक झांकियां प्रस्तुत की गई। वहीं गुजरात के प्रसिद्ध कलाकार कविराज जिग्नेश, गीता रबारी, नितिन बारोठ, विजय सुवाला, काजल मेहरिया, राजल बारोठ, सरला दवे, विरम देसाई, प्रवीण भाई रावत व गरबा नृत्य ग्रुप रवि बारोठ एंड पार्टी ने शानदार प्रस्तुति दी जिन पर उपस्थित श्रद्धालु देर रात तक झूमते रहे। इस दौरान लोगों में कलाकारों के साथ सेल्फी लेने के लिए होड सी लग गई। कार्यक्रम का संचालन चंदनसिंह राजपुरोहित जोधपुर व विक्रम भाई मालधारी अहमदाबाद ने किया।

    गांवों से पहुंचे श्रद्धालु : क्षेमंकरी माता मंदिर में त्रिशूल प्राण प्रतिष्ठा को लेकर गुरूवार को महाप्रसादी का आयोजन हुआ जिसमें भीनमाल, निंबोडा, निंबावास, पूनासा, सारियाणा, भागलभीम, रोपसी, वणधर, भादरडा, घासेडी सहित कई गांवों से लोगों ने शिरकत की। महाप्रसादी के लिए बनाए गए अलग-अलग पांडाल लोगों की भीड से खचाखच भरे हुए नजर आए।

    समारोह में ये भी रहे उपस्थित

    आयोजक दीपक राजपुरोहित ने बताया कि कार्यक्रम में आसोतरा गादीपति तुलसाराम महाराज, करणगिरि महाराज जोडवाड का सानिध्य रहा। नि:शक्तजन आयुक्त धन्नाराम राजपुरोहित, सांसद देवजी पटेल, जिला प्रमुख बन्नेसिंह गोहिल, विधायक पूराराम चौधरी, आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित, रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल, क्षेमंकरी मातेश्वरी ट्रस्ट अध्यक्ष सरदारसिंह ओपावत, प्रधान धुखाराम राजपुरोहित, जसवंतपुरा प्रधान पिंकी राजपुरोहित, नपा अध्यक्ष सांवलाराम देवासी, रमेश राजपुरोहित मेडा, चक्रवर्तीसिंह ओपावत, बाबूलाल राजपुरोहित, पारस मोदी, सरदाराराम राजपुरोहित, बगदाराम पुरोहित, पुलिस निरीक्षक कैलाशचंद्र मीणा, हैड कांस्टेबल डूंगराराम चौधरी, रूपाराम पुरोहित सहित कई लोग उपस्थित रहे।

  • भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना
    +3और स्लाइड देखें
  • भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना
    +3और स्लाइड देखें
  • भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhinmal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: भाटीप में गुरु जम्भेश्वर मंिदर के शिखर पर हुई कलश स्थापना
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhinmal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×