• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bhinmal
  • सत्यापन के अभाव में अटकी पांच हजार लोगों की पेंशन
--Advertisement--

सत्यापन के अभाव में अटकी पांच हजार लोगों की पेंशन

राज्य सरकार की ओर से विधवा, विकलांग व वृद्धावस्था जैसी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत मिलने वाली पेंशन करीब 5 हजार...

Dainik Bhaskar

Jun 24, 2018, 02:25 AM IST
सत्यापन के अभाव में अटकी पांच हजार लोगों की पेंशन
राज्य सरकार की ओर से विधवा, विकलांग व वृद्धावस्था जैसी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत मिलने वाली पेंशन करीब 5 हजार लोगों द्वारा भौतिक सत्यापन नहीं कराने के कारण अटकी पड़ी है। राज्य व केन्द्र सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत वृद्वजनों, परित्यक्ता, विधवा व आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन दी जाती है। इसमें भीनमाल नगरपालिका क्षेत्र व भीनमाल पंचायत समिति के 12 हजार 401 लोगों को वर्तमान में पेंशन मुहैया करवाई जा रही है लेकिन इनमें से 5 हजार 35 लोग या तो पेंशन को भूल गए है या उनके द्वारा ई मित्र के जरिए करवाया जाने वाला सत्यापन नहीं हो पाया है। इससे इन लोगों के खाते में पेंशन राशि नहीं जाने से उनकी पेंशन अटकी हुई पड़ी है। इधर, लोग बिना सत्यापन कराए ही उपकोष कार्यालय पेंशन की शिकायत लेकर पहुंच जाते है जिन्हें भौतिक सत्यापन की प्रक्रिया समझाकर ई-मित्र पर भेजते है।

पेंशन के लिए सत्यापन जरूरी : सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 75 से कम उम्र के वृद्वजनों को हर माह 5 सौ रुपए व 75 से अधिक उम्र वालों को हर माह 750 रुपए मिलते है। इसी तरह विकलांगों को हर माह 750 रुपए की पेंशन संबंधित बैंक खातों में दी जाती है मगर इसका लाभ लेने के लिए उन्हें हर वर्ष भौतिक सत्यापन करवाना जरूरी होता है। कई बार लोग बिना सत्यापन कराए ही पेंशन नहीं आने की शिकायत को लेकर सीधे उपकोष कार्यालय पहुंच जाते है तो उन्हें भी वार्षिक भौतिक सत्यापन कराए जाने की सलाह दी जाती है।

इनका कहना है


भीनमाल नगरपालिका व पंचायत समिति क्षेत्र के 12 हजार 401 लोगों की पेंशन है स्वीकृत

, 5 हजार 35 लोगों ने पेंशन के लिए नहीं कराया सत्यापन

फिंगर साफ नहीं होने से सत्यापन में भी दिक्कत

पेंशनधारी अपने क्षेत्र में स्थित राज्य सरकार से लाइसेंसशुदा ई मित्र सेंटर पर पीपीओ कार्ड साथ में ले जाकर भौतिक सत्यापन करवा सकते है। भौतिक सत्यापन के तहत पेंशनधारी का अंगूठा फिंगर मशीन पर रखते ही उसकी डिटेल स्वत: आ जाती है और मशीन पेंशनधारी का फिंगर स्केन कर सत्यापन कर लेती है। इसके लिए ईमित्र पर 10 से 20 रुपए शुल्क देना होता है। उदाहरण के तौर पर अगर किसी ने पिछले साल जून माह में सत्यापन करवाया है तो उसे इस साल भी जून माह में ही सत्यापन करवाना जरूरी है। हालांकि इस में एक माह का अंतराल पड़ जाता है तो भी सत्यापन हो जाता है। सत्यापन के दौरान 75 साल से अधिक उम्र के फिंगर साफ नहीं होने से सत्यापन नही हो पाता है उनके लिए सीधे उपस्थित होकर सत्यापन करवाने का प्रावधान है।

X
सत्यापन के अभाव में अटकी पांच हजार लोगों की पेंशन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..