• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bhinmal
  • कोर्ट ने परिजनों को किया पाबंद नाबालिग भाई-बहन का बाल विवाह रुकवाया
--Advertisement--

कोर्ट ने परिजनों को किया पाबंद नाबालिग भाई-बहन का बाल विवाह रुकवाया

जसवंतपुरा रोड की घटना शनिवार को होनी थी दोनों भाई-बहन की शादी भास्कर न्यूज | भीनमाल स्थानीय पुलिस को एक बाल...

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2018, 02:35 AM IST
कोर्ट ने परिजनों को किया पाबंद 
 नाबालिग भाई-बहन का बाल विवाह रुकवाया
जसवंतपुरा रोड की घटना शनिवार को होनी थी दोनों भाई-बहन की शादी

भास्कर न्यूज | भीनमाल

स्थानीय पुलिस को एक बाल विवाह के आयोजन की सूचना मिलने पर पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए कोर्ट में परिवाद पेश किया। एसीजेएम कोर्ट ने दोनों भाई-बहिनों की उम्र बालिग नहीं होने तक परिजनों को विवाह नही करने के लिए पाबंद किया।

पुलिस निरीक्षक कैलाशचंद्र मीणा ने बताया कि जसवंतपुरा रोड पर एक विवाह समारोह के आयोजन की सूचना मिली जहां दो नाबालिग भाई बहन का विवाह करवाया जा रहा था। जसवंतपुरा रोड स्थित विनायक नगर निवासी जेताराम अपनी पुत्री चंचल सुंदेशा व पुत्र नारायणलाल का विवाह नाबालिग होते हुए भी कर रहा था इसके लिए दोनों का शनिवार को विवाह होना निश्चित हुआ था। पुलिस को सूचना मिलने पर कार्रवाई करते हुए इस संबंध में जांच की तो जेताराम की पुत्री दाडमी उर्फ चंचल की जन्मतिथि विद्यालय अभिलेख के अनुसार 7 अगस्त 2001 है ऐसे में उसकी उम्र 18 से कम है। इसी तरह चंचल के भाई नारायणलाल की उम्र 20 वर्ष 11 माह है ऐसे में उसकी भी उम्र बाल विवाह अधिनियम के तहत कम है। इस पर एसीजेएम कोर्ट ने जरिये अंतरिम निषेधाज्ञा पाबंद किया कि वे चंचल सुंदेशा का विवाह उसके बालिग होने अर्थात 18 वर्ष पूर्ण करने तथा नारायण का विवाह उसके विवाह योग्य उम्र 21 वर्ष तक न करने के लिए परिजनों को पाबंद किया।

X
कोर्ट ने परिजनों को किया पाबंद 
 नाबालिग भाई-बहन का बाल विवाह रुकवाया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..