--Advertisement--

पर्युषण महापर्व के छठे दिन हुए विभिन्न आयोजन

भास्कर न्यूज | गुड़ा बालोतान कस्बे में गुड़ा बालोतान जैन संघ के तत्वावधान में आयोजित हो रहे पर्युषण महापर्व के...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 03:46 AM IST
भास्कर न्यूज | गुड़ा बालोतान

कस्बे में गुड़ा बालोतान जैन संघ के तत्वावधान में आयोजित हो रहे पर्युषण महापर्व के छठे दिन मंगलवार को सवेरे नूतन आराधना भवन में प्रतिक्रमण, भक्तांबर स्त्रोत पाठ एवं संभवनाथ, धर्मनाथ व ऋषभदेव जिनालय में प्रक्षाल पूजा का आयोजन करवाया गया। स्थानीय जैन पेढ़ी व्यवस्थापक शांतिलाल जैन ने बताया कि महापर्व को लेकर मंगलवार सवेरे प्रवचन कार्यक्रम हुआ, जिसमें वीर सैनिक ने पर्युषण पर्व के महत्व के बारे में बताया। शाम को लाभार्थी भूरमल सोहनराज जैन की ओर से श्री संभवनाथ मंदिर व लाभार्थी भरत कुमार भीकमचंद की ओर से श्री धर्मनाथ मंदिर एवं मोहनलाल फौजमल जैन की ओर से ऋषभदेव मंदिर में विराजमान प्रतिमाओं पर आकर्षक आंगी की सजावट करवाई गई।पर्युषण पर्व के छठे दिन नवकारशी के लाभार्थी फुटरमल चुन्नीलाल जैन रहे। पर्युषण महापर्व को लेकर प्रतिदिन की तरह सोमवार की रात्रि में भी भक्ति संगीत का आयोजन करवाया गया। इस मौके पर भंवरलाल जैन, किर्तीभाई, चंपालाल, सांकलचंद, लेखराज, जयंतिलाल, पिंकेश, दुर्गेश, भरत कुमार, सुरेश कुमार, रमेश कुमार समेत जैन श्रावक श्राविकाओं ने बढ़ चढ़कर लाभ लिया।

मांडवला| कस्बे में जैन संघ मण्डल माण्डवला के तत्वावधान में पर्युषण पर्व को लेकर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान भगवान महावीर जन्म वाचन के पालने का वरघोड़ा निकाला गया। इस दौरान डूंगरमल, ऊकचन्द, भंवरलाल, मानतीलाल, रोणमल, सुरेश, हिम्मतमल व रमेश सहित अन्य मौजूद थे।

कल्पसूत्र वाचन कर बताई प्रभु महिमा

भीनमाल| स्थानीय गणेश चौक स्थित आराधना भवन जैन धर्मशाला में पर्युषण पर्व के छठे दिन कल्पसूत्र वाचन करते हुए प्रभु महिमा का वर्णन किया। कल्पसूत्र में प्रभु जन्म के पश्चात छप्पन दिग्कुमारी और सुरेन्द्र कृत जन्मोत्सव, अभिषेक कलशों की संख्या और उसके परिमाण सहित कई कार्यक्रम आयोजित हुए। इस दौरान कल्पसूत्र का वाचन हुआ। कल्पसूत्र का श्रवण करने के लिए धर्मशाला परिसर में श्रद्धालुओं की अपार भीड़ लगी रहती है। महापर्व पर्युषण को लेकर शहर के सभी जिन मन्दिरों में भगवान की प्रतिमा को सुंदर ढंग से आंगी रच कर सजाया गया।