Hindi News »Rajasthan »Bhiwadi» बजट समाप्त करना था, बिना भवन वाली 69 आईटीआई के लिए 39 करोड़ का सामान खरीदा

बजट समाप्त करना था, बिना भवन वाली 69 आईटीआई के लिए 39 करोड़ का सामान खरीदा

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार प्रदेश भर में 69 आईटीआई खुलनी है, इनमें से कुछ के भवन निर्माण का काम चल रहा है जबकि कई...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 31, 2018, 02:35 AM IST

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार प्रदेश भर में 69 आईटीआई खुलनी है, इनमें से कुछ के भवन निर्माण का काम चल रहा है जबकि कई ऐसी है जिनका अभी शिलान्यास ही हुआ है। स्टाफ की तो अभी बात ही नहीं है पर प्राविधिक शिक्षा निदेशालय ने इनमें सामान के लिए 75 करोड़ रुपए के टेंडर जारी कर दिए गए और 38.98 करोड़ का सामान खरीदकर दूसरे स्थानों पर गोदामों की तरह भरवा दिया गया है। सारी खरीद सीधे जोधपुर ने की है, जिन स्थानों पर सामान रखवाया गया है उनसे कहा गया है कि आप सामान का प्रमाणीकरण करके बिल लेकर जोधपुर पहुंचे।

तिजारा में प्रस्तावित आईटीआई के लिए उपकरण भिवाड़ी आईटीआई में पहुंचना शुरू हो गए हैं। अभी तक 22 लाख के उपकरणों के बिल बन चुके हैं और करीब सात-आठ लाख के उपकरण और आने हैं। साथ ही यह भी दबाव बनाया गया कि इनके बिल प्राविधिक शिक्षा निदेशालय, जोधपुर व्यक्तिशः: भिजवाएं। ऐसा केवल भिवाड़ी में ही नहीं हुआ, बल्कि अलवर जिले में कुल पांच नई खुलने वाली आईटीआई के लिए उपकरण अलग अलग आईटीआई में भिजवाए गए हैं। इनमें से दो आईटीआई हैंडओवर (प्राविधिक शिक्षा विभाग को) नहीं की गई हैं, दो का काम चल रहा है और एक का तो कुछ माह पहले ही शिलान्यास हुआ है। भवन बनने में दो वर्ष तक लग सकते हैं और उपकरण पहले ही पहुंचा दिए गए हैं। ऐसे में उपकरण की वारंटी आदि खत्म होने और जरूरत के समय बेकार साबित होने की नौबत आ सकती है।

अधिकारी ने कहा- भवन बनता रहेगा , सामान तो पहले खरीदने का सिस्टम है

भिवाड़ी. तिजारा आईटीआई के लिए आया सामान जो भिवाड़ी में रखा है।

किस आईटीआई का कहां आया सामान

अलवर जिले में तिजारा में शुरू होने वाली आईटीआई के लिए भिवाड़ी, रामगढ़ की आईटीआई के लिए अलवर, सुहेटा की आईटीआई के लिए बानसूर, किशनगढ़बास की आईटीआई के लिए अलवर महिला आईटीआई और लक्ष्मणगढ़ में शुरू होने वाली आईटीआई के लिए उपकरणों को राजगढ़ स्थित आईटीआई में भिजवाया गया है। सुहेटा आईटीआई का कुछ ही माह पहले शिलान्यास हुआ है और इसके निर्माण में अभी समय लग सकता है। जबकि रामगढ़ और तिजारा आईटीआई भी अभी शुरू नहीं हो पाई हैं। किशनगढ़बास और लक्ष्मणगढ़ में काम चल रहा है।

यह उपकरण आए भिवाड़ी : तिजारा आईटीआई के लिए भिवाड़ी में कुल 41 तरह के उपकरण आए हैं। इनमें नौ लैथ मशीनें, अनेक प्रकार की ड्रिल मशीनें, डीसी आर्क वैल्डिंग रेफ्रिजरेटर सेट, इंडक्शन मोटर, 41 ड्राइंग बोर्ड, एंगिल प्लेट और स्लॉट्स, डीसी जनरेटर, बर्नियर माइक्रोमोटर आदि प्रमुख उपकरण हैं।

प्रदेश की स्थिति : प्रदेश में 69 नई आईटीआई बननी हैं। इसके लिए कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग ने 75 करोड़ के टेंडर जारी कर दिए और इनमें से 38.98 करोड़ के उपकरण खरीद के क्रय आदेश जारी हो चुके हैं। विभाग की ओर से पहले विभिन्न कंपनियों को 26 मार्च तक का समय उपकरण पहुंचाने के लिए दिया गया था, जिसे विद एलडी (लिक्विड डैमेज) 28 मार्च तक बढ़ा दिया गया है। एलडी का अर्थ है कि जिन कंपनियों ने उपकरण 26 मार्च तक नहीं पहुंचाए हैं उन पर 2.5 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाएगा।

भिवाड़ी. तिजारा आईटीआई के लिए आया सामान जो भिवाड़ी में रखा है।

एक दिन में कैसे होगा संभव

निदेशालय ने कंपनियों को 28 मार्च तक उपकरण पहुंचाने का समय दिया और 29 मार्च को जोधपुर व्यक्तिशः पहुंच बिल पेश करने के निर्देश जारी किए हैं। अब जो उपकरण 28 मार्च को पहुंचे उनका एक ही दिन में अनलोडिंग, विशेषज्ञों से जांच, बिल बनाना और जोधपुर पहुंचाने का काम किस स्तर का होगा यह अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है। क्योंकि अनेक मशीनें ऐसी हैं जो कि फाउंडेशन और लेवलिंग के बिना जांची ही नहीं जा सकती।

समय से पहले की खरीद की जाती है। यह समानान्तर प्रक्रिया है। बिल्डिंग भी बनती रहती है और उपकरण भी खरीदे जाते रहते हैं। प्रदेश में 69 आईटीआई के लिए 75 करोड़ का टेंडर है जिसमें से 38.98 करोड़ रुपए के क्रय आदेश जारी किए जा चुके हैं। कुछ कंपनियों को उनके अनुरोध पर उपकरण आपूर्ति में दो दिन का विद 2.5 एलडी (लिक्विड डैमेज) एक्सटेंशन दिया गया है। -एस के खंडेलवाल, उपनिदेशक, क्रय, प्रावधायी शिक्षा निदेशालय, जोधपुर

तिजारा आईटीआई के लिए यहां उपकरण आ रहे हैं। सरकार के आदेश हैं सो पालना करना जरूरी है। उपकरणों की जांच में जरूर दिक्कत आ रही है, जिसके लिए बाहर से विशेषज्ञों को बुलाया जा रहा है। -सुनील गुप्ता, प्रिंसीपल, आईटीआई, भिवाड़ी

मुख्यमंत्री की घोषणानुसार प्रक्रिया की जा रही है। जो आईटीआई जुलाई में शुरू होनी हैं उनके लिए उपकरण खरीदे जा रहे हैं। नियमानुसार ही कार्य हो रहा है। -एके आनंद, निदेशक, प्रावधायी शिक्षा निदेशालय, जोधपुर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhiwadi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×