• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bhiwadi News
  • बंद के खिलाफ भिवाड़ी व्यापार महासंघ हुए लामबंद, बोले-अब नहीं करेंगे बंद
--Advertisement--

बंद के खिलाफ भिवाड़ी व्यापार महासंघ हुए लामबंद, बोले-अब नहीं करेंगे बंद

सोशल मीडिया पर चल रहे 10 अप्रैल के बंद की खबरों से जहां प्रशासन में बेचैनी बढ़ी हुई है वहीं अब बंद के खिलाफ भिवाड़ी का...

Dainik Bhaskar

Apr 09, 2018, 02:40 AM IST
सोशल मीडिया पर चल रहे 10 अप्रैल के बंद की खबरों से जहां प्रशासन में बेचैनी बढ़ी हुई है वहीं अब बंद के खिलाफ भिवाड़ी का व्यापार महासंघ लामबंद हो गया है। इस मामले को लेकर व्यापारियों ने तिजारा विधायक व उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर बाजारों को जबरन बंद कराने से मुक्त कराने की मांग उठाई। यदि सरकार ने उनका सहयोग नहीं किया तो वो जीएसटी देना बंद कर देंगे।

महासंघ की ओर से सौंपे गए ज्ञापन में बताया है कि किसी भी तरह का बंद या धरना प्रदर्शन हो, उसका खामियाजा व्यापारी वर्ग को भुगतना पड़ता है। इससे जहां आर्थिक नुकसान होता है वहीं दुकानों को भी प्रदर्शनकारी नुकसान पहुंचाते हैं। बाजार बंद नहीं करने पर दुकानदारों से मारपीट तक कर दी जाती है। ऐसे में वो न चाहते हुए भी अपनी दुकानें बंद करते हैं। ज्ञापन में आए दिन के बाजार बंद से मुक्ति दिलाने की मांग करते हुए कहा गया है कि यदि सरकार ने उन्हें इनसे राहत नहीं दिलाई तो वो भी जीएसटी जैसे करों के माध्यम से सरकार को सहयोग करना बंद कर देंगे। इसके लिए भिवाड़ी के औद्योगिक संगठनों को भी शामिल कर बड़ा आंदोलन किया जाएगा। इस मौके पर सुनील तायल, धर्मेंद्र दायमा, राजू गोयल, विनोद गुप्ता , राजकुमार चक्रवर्ती, शिवकुमार अग्रवाल, इंदर अग्रवाल सहित सभी व्यापार संघों के सदस्य मौजूद थे।

प्रतिमाओं की सुरक्षा बढ़ाई : वहीं तिजारा उपखण्ड अधिकारी कपिल यादव ने बताया कि बंद को लेकर जिलास्तर पर अधिकारियों ने हाल ही में बैठक की है। जिसके बाद कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। अफवाहें न फैले इसके लिए एक सोशल मीडिया पर एक अधिकृत ग्रुप बनाने की बात भी इसमें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 10 अप्रैल के बंद की कोई अधिकृत किसी संगठन की ओर से जिम्मेदारी नहीं ली गई है। यह अभी तक केवल सोशल मीडिया की उपज है। फिर भी प्रशासन इसको लेकर सचेत हैं। एहतियात के तौर पर क्षेत्र में मौजूद महापुरुषों की प्रतिमाओं की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है। ताकि उपद्रवियों को कोई मौका न मिले। उन्होंने बताया कि यदि किसी भी सरकारी कर्मचारी की इस तरह के बंद वगैरह में कोई भूमिका पाई जाती है तो उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

सोशल मीडिया पर प्रसारित भ्रामक संदेशों पर ध्यान न दें : एसपी

अलवर| एसपी राहुल प्रकाश ने आमजन से सोशल मीडिया पर प्रसारित भ्रामक, आपत्तिजनक एवं वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले संदेशों ध्यान नहीं देने की अपील की है। एसपी ने बताया कि 2 अप्रैल को अलवर बंद के दौरान व बाद आगामी दिनों में विभिन्न वाट्स-अप ग्रुप के अलावा व्यक्तिगत रूप से सोशल मीडिया वाट्स-अप सहित फेसबुक आदि पर समाज में वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले संदेशों को गंभीरता से लिया जा रहा है। साथ ही सोशल मीडिया ग्रुपों की निगरानी रखी जा रही है भड़काऊ संदेश प्रसारित करने वाले सोशल मीडिया ग्रुप के एडमिन व व्यक्तिगत लोगों की छंटनी की जाकर कानूनी कार्रवाई करने के साथ उनके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामले दर्ज किए जाएंगे। एसपी ने इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक एवं सभी थानाधिकारियों को भड़काऊ संदेश प्रसारित करने वालों की निगरानी रखने के लिए विशेष रूप से निर्देशित किया गया है। एसपी ने आमजन से अपील की है कि यदि किसी वाट्स-अप, फेसबुक, ट्विटर आदि पर समाज में वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले संदेश प्राप्त होते है, तो उनका स्क्रीनशॉट लेकर जिला विशेष शाखा के वाट्स-अप नंबर 9649879998 पर भिजवाया जा सकता है। ताकि उक्त आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जा सके।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..