Hindi News »Rajasthan »Bhiwadi» गंदगी के ढेर पर चल रहा बच्चों का स्कूल

गंदगी के ढेर पर चल रहा बच्चों का स्कूल

शहर के समीपवर्ती राजकीय प्राथमिक विद्यालय नयागांव में अध्ययनरत बच्चे गंदगी के ढेर पर विद्या का अध्ययन कर रहे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 08, 2018, 05:20 AM IST

गंदगी के ढेर पर चल रहा बच्चों का स्कूल
शहर के समीपवर्ती राजकीय प्राथमिक विद्यालय नयागांव में अध्ययनरत बच्चे गंदगी के ढेर पर विद्या का अध्ययन कर रहे हैं। स्कूल के चारों ओर डंपिंग यार्ड बना है। जिसमें आसपास की फैक्ट्रियों की गंदगी डाल दी जाती है। इसमें से उठने वाली गंदगी से आमजन का जीना ही मुहाल हो जाता है। इस गंदगी के बीच इस स्कूल के 16 बच्चे अध्ययन कर रहे हैं।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय नयागांव में गत वर्ष 56 बच्चे अध्ययनरत थे। लेकिन इस सड़ांध के चलते सभी ने अपने नाम कटवा लिए। कुछ दिनों पूर्व तक भी यहां 31 बच्चों के नामांकन थे। लेकिन इनमें से भी 15 बच्चे यहां से निकल गए। ऐसे में इस विद्यालय में महज 16 बच्चे रहे गए हैं। जिन्हें पढ़ाने की जिम्मेदार एक शिक्षक पर है। शनिवार को जब भास्कर स्कूल पहुंचा तो पांच से छह बच्चे स्कूल में खेल रहे थे। शिक्षक स्कूल में नहीं था। जब शिक्षक के बारे में पूछा तो बच्चों ने साढ़े नौ बजे उनके स्कूल से जाने की सूचना दी। करीब 11.30 बजे शिक्षक स्कूल पहुंचे। उन्होंने बताया कि वह सरकारी काम से बाहर गए थे। शिक्षक ने बताया कि यहां बैठना ही मुश्किल है। पढ़ाई कैसे हो सकती है। इस स्कूल में आसपास के श्रमिकों के बच्चे पढ़ाई करते हैं। लेकिन अब तो वह भी यहां अपने बच्चों को भेजने से कतराते हैं। इस स्कूल का मामला कई बार उठ चुका है। इस संबंध में राज्य बाल संरक्षण आयोग नहीं जिला प्रशासन तक से रिपोर्ट मांगी है। लेकिन बावजूद इसके इसका कोई स्थायी हल नहीं निकला। इसका खामियाजा स्कूल में अध्ययनरत बच्चों को उठाना पड़ रहा है। स्कूल के पीछे ही गंदा पानी जमा है। जिसमें से भी बदबू उठती रहती है। स्कूल के बच्चों के सामने पीने के पानी की भी समस्या है। बच्चे पानी भी घरों से लाते हैं। स्कूल के सामने एक हैंडपंप लगा है। लेकिन वह खराब है।

स्कूल में बैठना ही मुश्किल है। बदबू के चलते अच्छा-खासा व्यक्ति भी बीमार हो जाए। कई बार यह मामला उठ चुका है। लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। सरी मोहम्मद, हैडमास्टर, राजकीय प्राथमिक विद्यालय नयागांव

यह सही है कि इस स्कूल में बहुत परेशानी है। अभी यह ऊपरी लेवल के काम हैं। हमारी ओर से इसके समाधान के प्रयास किए जाएंगे। संदीप दायमा, चेयरमैन, नगर परिषद, भिवाड़ी

हमने रीको को इस संबंध में प्रस्ताव दिया था। रीको ने अन्य जगह उपलब्ध नहीं कराई। ऐसे में यह समस्या बनी हुई है। जगह मिलने के बाद ही इसे स्थानांतरित किया जा सकेगा। रमेश शर्मा, बीईईओ, तिजारा

भिवाड़ी. स्कूल के समीप पड़ा फैक्ट्रियों का अपशिष्ट।

स्कूल में मौजूद बच्चे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhiwadi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×