• Hindi News
  • National
  • Bhiwadi News Rajasthan News Bhiwadi Companies Canceled Employee Tours Sprayed Sanitizer On Vehicles Twice A Day

भिवाड़ी की कंपनियों ने कर्मचारियों के टूर रद्‌द किए, वाहनों पर दिन में दो बार सेनेटाइजर का स्प्रे

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भले ही भिवाड़ी में अभी तक कोरोना का किसी भी तरह का मामला सामने नहीं आया हो। फिर भी उद्योगों के चलते बाहरी लोगों की आवाजाही के चलते भिवाड़ी की कंपनियां किसी भी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहती। यही कारण है कि कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के सभी तरह के देशी-विदेशी टूर पर रोक लगा दी है।

खासकर कोरोना से प्रभावित इलाकों में जाने पर पूरी तरह पाबंदी है। कंपनियों में मॉल सप्लायर को भी फोन पर ही ऑर्डर बुक कराए जा रहे हैं। बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति के कंपनियों में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। कर्मचारियों को लाने-ले जाने के काम आने वाले वाहनों की भी दिन में दो बार सेनेटाइजर से सफाई की जा रही है। कंपनियों में किसी भी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा। साथ ही कांट्रेस्ट पर नए कर्मचारी लेने पर भी पूरी तरह से रोक है।

इस तरह की है कंपनियों में तैयारी होंडा ः खुशखेड़ा स्थित होंडा के दोनों प्लांट में करीब 15 हजार स्थायी और अस्थायी कर्मचारी काम कर रहे हैं। इनमें 30 जापानी भी शामिल हैं। कंपनी की ओर से अपने सभी कर्मचारियों को सुरक्षा के लिए मास्क दिए गए हैं। कंपनी में अंदर आने से पहले सभी कर्मचारियों के ताप की जांच की जा रही है। साथ ही सेनेटाइजर भी लगाए जा रहे हैं।

जिलेट इंडिया लिमिटेड ः कंपनी में करीब 400 कर्मचारी काम करते हैं। हर कर्मचारी की स्केनिंग की जा रही है। जिस बस में कर्मचारी सफर कर रहे हैं उसे पूरी तरह से सेनेटाइजर से साफ किया जा रहा है। कंपनी के पीआरओ सत्यवीर सिंह के अनुसार कांट्रेक्ट पर किसी भी नए कर्मचारी को काम पर नहीं लिया जा रहा है।

बालकृष्णा टायर ः कंपनी की दोनों इकाइयों में करीब 3000 कर्मचारी काम करते हैं। कंपनी में किसी भी तरह के टूर पर रोक लगा दी है। किसी भी तरह की सर्विस के लिए फोन का ही सहारा लिया जा रहा है। कंपनी के प्रबंध निदेशक नीरज जुत्सी के अनुसार छुट्टी काटकर आने वाले कर्मचारी को एकदम काम पर नहीं लिया जा रहा। पहले उन्हें तीन दिन तक घर पर ही रहकर स्वास्थ्य की सही जांच के निर्देश दिए हुए हैं। इसके बाद सही पाए जाने पर काम पर लिया जा रहा है।

श्री सीमेंट ः कंपनी में काम करने वाले करीब 400 कर्मचारियों की नियमित जांच की जा रही है। बायोमैटिक हाजिरी पर रोक लगा दी गई है। अब मैनुअल हाजिरी से काम चलाया जा रहा है। कंपनी के अतिरिक्त महाप्रबंधक डीके यादव ने बताया कि डिपार्टमैंटली मीटिंग पर भी रोक लग गई है। कंपनी में हर जगह पर सैनेटाइजर का उपयोग किया जा रहा है। कैंटीन वगैराहा पर इस चीज का अधिक ध्यान रखा जा रहा है।

कजारिया सेरिमिक्स लिमिटेड ः 1600 कर्मचारियों की कंपनी में प्रवेश के समय दो बार जांच की जा रही है। पहली जांच वाहन से उतरते ही एवं दूसरी जांच हाजिरी लगाने से पहले की जा रही है। जिस बस से कर्मचारियों को लाया एवं ले जाया जा रहा है उसकी भी दो बार सेनेटाइजर से सफाई हो रही है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. राजवीर चौधरी ने बताया कि कर्मचारियों को सेनेटाइजर के अतिरिक्त डिटॉल का भी अधिक उपयोग करने के लिए कहा जा रहा है। कंपनी के अंदर ही कोरोना को लेकर जागरुकता कार्यक्रम किए जा रहे हैं।

सिनेमा हॉल में नहीं दिखाई फिल्में, मॉल्स भी बहुत कम लोग : कोरोना के चलते भिवाड़ी के सिनेमाघरों में 31 मार्च तक किसी भी तरह की फिल्में दिखाने पर रोक लगा दी है। जेनेसिस मॉल के प्रबंधक मुकेश कुमार के अनुसार शनिवार दोपहर तीन बजे से किसी भी तरह की फिल्में नहीं दिखाई जा रही। मॉल के चारों शो बंद कर दिए हैं। यह 31 मार्च तक बंद रहेंगे। वहीं रविवार होने के बावजूद मॉल में भीड़ कम ही देखी गई जिससे बाजार में भी सूनापन छाया रहा।

ऐपेडेमिक एक्ट 1897 लागू, मतलब ः कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाई तो होगा मामला दर्ज

कोरोना को लेकर प्रशासन ने ऐपेडेमिक एक्ट 1897 के सेक्शन 2,3 और 4 को नोटिफाई कर दिया है। उपखंड अधिकारी खेमाराम यादव ने बताया कि नियमों के तहत सभी अस्पतालों (सरकारी और निजी) में सीओवीआईडी-19 के संदिग्ध मामलों की जांच के लिए फ्लू कॉर्नर होने चाहिए। संबंधित व्यक्ति की ट्रेवल हिस्ट्री को लिखा जाएगा। किसी संदिग्ध के संपर्क में अगर वह पिछले 14 दिन में आया है तो इस तरह के व्यक्ति को 14 दिन के लिए घर के भीतर ही अलग से रखा जाएगा। कोरोना वायरस को लेकर किसी भी तरह की अफवाह फैलाते पाए जाने पर उस व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

भिवाड़ी. कंपनी में गेट पर कर्मचारी की जांच करता सुरक्षाकर्मी।

खबरें और भी हैं...