रामचरितमानस जिंदगी जीने की कला सिखाती है, युवा पढ़ें तो अवसाद होगा दूर : श्याम सुंदर

Bhiwadi News - यूआईटी सेक्टर आठ स्थित हनुमान मंदिर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में शुक्रवार को भागवताचार्य श्याम सुंदर शर्मा...

Feb 15, 2020, 07:41 AM IST
Bhiwadi News - rajasthan news ramcharitmanas teaches the art of living depression will go away if you read youth shyam sunder

यूआईटी सेक्टर आठ स्थित हनुमान मंदिर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में शुक्रवार को भागवताचार्य श्याम सुंदर शर्मा ने भगवान राम के जन्म की लीला का वर्णन किया। कथाव्यास ने राम जन्म के दौरान भए प्रगट कृपाला दीनदयाला कौशल्या हितकारी और जाके सुमिरन ते शुभ हाेई, मोरे गृह आवा प्रभु सोई चौपाइयां सुनाकर श्रद्धालुओं को भक्ति भाव से ओत-प्रोत कर दिया।कथा व्यास ने कहा कि रामचरितमानस कलियुग में लाइफ ऑफ लिविंग सिखाती है।इस धार्मिक पुस्तक के चरित्रों को पढ़कर आजकल की युवा पीढ़ी अवसाद से निकल सकती है। चट्टान जैसी मुश्किल भी इसके अध्ययन से रूई की तरह कोमल हो जाती हैं। इसमें रात को राम को राज्य मिलता है और सुबह वनवास। लेकिन इस विपरीत और कठिन समय में भी युवराज राम ने धैर्य नहीं छाेड़ा। 14 साल तक राज सुख को छोड़कर वन की विषम जिंदगी जी। जिसके बाद वह मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम कहलाए।कथा प्रसंगों में कथाचार्य ने भगवान श्रीकृष्ण के जन्म की झांकी के साथ नंद घर आनंद भयाै जय कन्हैया लाल की सहित अन्य भजनों पर भक्तों ने नृत्य किया। कथा का श्रवण सोनू पंडित, भैया लाल मिश्रा, तुलसीराम शर्मा, बनवारी लाल शर्मा, श्याम तिवारी, घनश्याम शर्मा, मनोज राणा, विष्णु दत्त माेदी, दिनेश दीवाना, विकास और अनुज त्रिपाठी सहित सैकड़ों भक्तों ने किया।

भिवाड़ी. भागवत कथा का श्रवण करते श्रद्धालु।

X
Bhiwadi News - rajasthan news ramcharitmanas teaches the art of living depression will go away if you read youth shyam sunder
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना