--Advertisement--

मुंह के अंदर लाल दाग तो कैंसर का खतरा

Bhusawar News - वरिष्ठ कैंसर सर्जन डॉ. दिनेश यादव ने बताया कि आपको मुंह का कैंसर है या नहीं, इसकी पहचान आप स्वयं कर सकते हैं। इसके...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:25 AM IST
मुंह के अंदर लाल दाग तो कैंसर का खतरा
वरिष्ठ कैंसर सर्जन डॉ. दिनेश यादव ने बताया कि आपको मुंह का कैंसर है या नहीं, इसकी पहचान आप स्वयं कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने मुंह में तीन अंगुली डालनी होगी। अगर आपका मुंह तीन सेंटीमीटर तक खुले यानी मुंह में तीन उंगली घुस जाए तो समझिए की आपको कैंसर की संभावना नहीं के बराबर है। ठीक इसके उलट, अगर तीन अंगुली मुंह में नहीं घुसे, तो कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है। तुरंत इसकी जांच करानी चाहिए। अब मोबाइल से भी इस बीमारी की जांच की जा सकती है। मोबाइल से आप अपने मुंह के अंदर की तस्वीर ले लें। यदि मुंह के अंदर लाल, सफेद व काला दाग तस्वीर में दिखे है, तो समझिए कुछ गड़बड़ है। इसके बाद आप शीघ्र डॉक्टरी सलाह लें। अगर दाग नहीं है, तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। हालांकि पुष्टि जांच से होती है। भुसावर निवासी डॉ. बीएस शर्मा महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल में न्यूरो साइंस के निदेशक है। वे बुधवार को यहां अस्पताल की ओर से हुए कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में अगर 500 मरीज आते हैं तो उनमें 200 मरीजों में मुंह का कैंसर होता है। भरतपुर से भी सबसे ज्यादा मुंह के कैंसर के मरीज ही सामने आते हैं। क्योंकि यहां गुटखा व खैनी का प्रचलन अधिक है। अगर कोई आदमी एक दिन में औसतन डेढ़ घंटा से अधिक मोबाइल का उपयोग करता है, तो उसमें हेड-नेक कैंसर की संभावना अधिक होती है। गुटखा छोड़ने के बाद 10 साल बाद तक उसका असर बना रहता है। कैंसर की संभावना भी बनी रहती है। जितने समय गुटखे का उपयोग किया, उसी अवधि के आधार पर चिकित्सा दी जाती है। डॉ. एमएल स्वर्णकार ने महिलाओं में बढ़ते रोगों, डॉ. एमसी मिश्रा ने बदलती चिकित्सा पद्धति एवं नए बदलावों के बारे में जानकारी दी।

भास्कर अलर्ट

डॉ. दिनेश यादव।

भुसावर निवासी वरिष्ठ कैंसर सर्जन डॉ. दिनेश यादव से बातचीत, बोले रोग कोई भी हो लाइफ स्टाइल जरूरी

35 साल से अधिक की उम्र में दौरा पड़े तो दिखाना जरूरी

बीएस शर्मा ने बताया कि आज के समय में ट्यूमर भी एक बड़ी बीमारी बन चुकी है। लेकिन समय रहते पता चलने पर ही इसका बेहतर इलाज अब हमारे यहां संभव है। 35 साल की उम्र में यदि दौरा पड़ता है तो तुरंत दिखाना चाहिए। जबकि बेहोशी व उल्टी, पहली बार तेज सिरदर्द व चक्कर आ रहे हों तो तुरंत डॉक्टर से मिलना जरूरी है। ऐसे केस में ट्यूमर की संभावना बढ़ जाती है।

क्यों होता है मुंह का कैंसर

1. गुटखा- तंबाकू खाने से तथा स्मोकिंग करने से

2. ओरल सेक्स करने से

3. अनुवांशिक कारण से भी होता है मुंह का कैंसर।

मुंह कैंसर के प्रारंभिक लक्षण

1. मुंह का तीन सेंटीमीटर तक नहीं खुलना

2. मुंह के अंदर लाल, काला व सफेद दाग होना

3. आवाज में परिवर्तन ऐसा हाेने पर तुरंत विशेषज्ञ से परामर्श लें।

X
मुंह के अंदर लाल दाग तो कैंसर का खतरा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..