Hindi News »Rajasthan »Bijaynagar» एक और घायल ने जयपुर में दम तोड़ा, मृतकों की संख्या हुई 21

एक और घायल ने जयपुर में दम तोड़ा, मृतकों की संख्या हुई 21

ब्यावर | गैस सिलेंडर ब्लास्ट दुखांतिका में झुलसने के बाद पहले अजमेर और बाद में जयपुर एसएमएस अस्पताल में उपचाररत...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 26, 2018, 03:05 AM IST

एक और घायल ने जयपुर में दम तोड़ा, मृतकों की संख्या हुई 21
ब्यावर | गैस सिलेंडर ब्लास्ट दुखांतिका में झुलसने के बाद पहले अजमेर और बाद में जयपुर एसएमएस अस्पताल में उपचाररत ओमप्रकाश सेन ने भी रविवार तड़के दम तोड़ दिया। जिनके समेत मृतकों की संख्या बढकर 21 हो गई है। सेन का बिजयनगर रोड स्थित मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया। नंद नगर क्षेत्र में स्थित कुमावत समाज भवन में 16 फरवरी की शाम 6 बजे हुए गैस सिलेंडर ब्लास्ट में ओमप्रकाश सेन भी गंभीर रूप से झुलस गए थे। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के मौका-मुआयना बाद उन्हें जयपुर अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। जिन्होंने रविवार तड़के दम तोड़ दिया।

दूल्हे हेमंत पाटलेचा के पिता के मित्र थे ओमप्रकाश सेन

मृतक ओमप्रकाश सेन दूल्हे के पिता सुरेंद्र कुमार के मित्र थे, जो हादसे वाले दिन किसी काम के सिलसिले में कुमावत भवन पहुंचे थे। बताते हैं कि हादसे के कुछ क्षण पहले ही वे भवन से बाहर निकले थे। इससे पहले कि वे वहां से रवाना होते बाहर सिलेंडर के विस्फोट के साथ ही फैली आग की चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलस गए। हादसे के बाद से ही वे अस्पताल में उपचाररत थे। जयपुर से उनकी पार्थिव देह के यहां पहुंचने के बाद पुरानी मसूदा रोड पारस कॉलोनी स्थित उनके निवास स्थान से मुक्तिधाम के लिए अंतिमयात्रा रवाना हुई। गैस सिलेंडर ब्लास्ट दुखांतिका में मलबे से 19 शव निकाले गए। जबकि हादसे में गंभीर रूप से झुलसे गजेंद्र सिंह और बाद में अब ओमप्रकाश सेन ने भी दम तोड़ दिया।

मृतक ओमप्रकाश।

क्षतिग्रस्त मकान को मैन्यूअली तोड़ने का काम शुरू

नंद नगर स्थित कुमावत भवन में एक शादी समारोह के कार्यक्रम के दौरान हुए गैस सिलेंडर विस्फोट में क्षतिग्रस्त हुए मकान को गिराने के लिए अब मैन्यूअली काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए रविवार को श्रमिकों ने मकान के छत को गिराने का कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके लिए मकान मालिक अौर ठेकेदार के मध्य करार किया गया है। ठेकेदार रणजीत सिंह ने बताया कि रविवार को श्रमिकों ने क्षतिग्रस्त मकान की छत और दीवार तोडी और पास के मकान में गिरा मलबा साफ किया। गौरतलब है कि गत 16 फरवरी शुक्रवार को कुमावत भवन में एक शादी समारोह के कार्यक्रम के दौरान गैस सिलेंडर में हुए विस्फोट में अब तक 21 जनों की मौत हो चुकी है।

गैस सिलेंडर ब्लास्ट हादसा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bijaynagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×