• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bijaynagar News
  • जिले के 429 किमी लंबे 122 मार्गों का 64 करोड़ रुपए की लागत से होगा नवीनीकरण
--Advertisement--

जिले के 429 किमी लंबे 122 मार्गों का 64 करोड़ रुपए की लागत से होगा नवीनीकरण

सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से लंबे समय से क्षतिग्रस्त हो रखे ब्यावर व मसूदा उपखंड के नॉन-पेचेबल मार्गों के जल्द...

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 04:05 AM IST
सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से लंबे समय से क्षतिग्रस्त हो रखे ब्यावर व मसूदा उपखंड के नॉन-पेचेबल मार्गों के जल्द ही कायाकल्प किया जाएगा। राज्य सरकार की ओर से हाल ही में अजमेर जिले की लगभग 122 नॉन-पेचेबल मार्गों के कायाकल्प के लिए लगभग 64 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति प्राप्त हुई है।

अजमेर जिले के इन 122 मार्गों में सार्वजनिक निर्माण विभाग ब्यावर खंड के लगभग 36 मार्ग भी शामिल हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग मुख्यालय की ओर से हाल ही में अजमेर जिले के 122 नॉन पेचेबल मार्गों के नवीनीकरण के लिए लगभग 64 करोड़ 35 लाख रुपए की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है। अजमेर जिले के 122 मार्गों की कुल लंबाई लगभग 429 किलोमीटर है। मुख्यालय की ओर से जारी की सूची में अजमेर जिले के ब्यावर, पुष्कर, नसीराबाद, मसूदा व किशनगढ़ उपखंड के मार्गों को शामिल किया है।

सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से मुख्यालय से वित्तीय स्वीकृत मिलने के बाद अब जल्द ही मार्गों के नवीनीकरण को लेकर टेंडर प्रक्रिया शुरु की जाएगी। जिससे इन मार्गों के जल्द से जल्द नवीनीकरण का कार्य शुरु हो सके।

गौरतलब है कि पिछले लंबे से समय से रखरखाव नहीं होने के चलते अजमेर जिले के नॉन पेचेबल मार्गों की स्थिति काफी खराब हो चुकी थी। वहीं, अब इन मार्गों के दुरूस्तीकरण की स्वीकृति मिलने के बाद जिलेभर के लाखों लोगों को आने वाले समय में मार्गों के दुरूस्तीकरण होने से काफी राहत मिलेगी।

ब्यावर खंड के ये मार्ग हैं शामिल

मुख्यालय की ओर से जारी की गई अजमेर जिले के 122 मार्गों में सूची में सार्वजनिक निर्माण विभाग ब्यावर खंड के अंतर्गत आने वाले 36 मार्ग शामिल हैं। इनमें 25 मार्ग मसूदा व 11 मार्ग ब्यावर उपखंड के शामिल हैं। सूची में ब्यावर उपखंड की बिजयनगर रोड से मांडेड़ा, नाईकलां, पीपलिया चौराहे से सांधो का बाडिया, अरनाली से बालाचराट, एनएस 8 से अतीतमंड मार्ग, अनाकर से देवाता, चांग ग्राम, कॉलेज रोड से जोधपुर रोड, चौड़ा निमड़ी , काबरा से कोटड़ा, दुर्गावास से काबरा मार्ग शामिल हैं। वहीं, सूची में मसूदा उपखंड के चांपानेरी नांदसी मार्ग, भिनाय देवलिया मार्ग, बिजयनगर-केकड़ी मार्ग, धौलादांता से देवमाली, मोयाना से रामपुरा सहित अन्य मार्ग शामिल हैं।

मुख्यालय की ओर से मांगी गई थी सूची

सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से कुछ दिनों पूर्व नॉन पेेचेबल मार्गों की सूची मांग गई थी। जिसके बाद जिले के प्रत्येक सानिवि कार्यालय की ओर से उनके खंड में आने वाली नॉन पेचेबल मार्ग की व उनके नवीनीकरण के लिए प्रस्ताव भिजवाए जाने के निर्देश दिए थे।

मिटेगी सालों पुरानी समस्या

जिले भर में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अंतर्गत आने वाले ऐसे कई नॉन पेचेबल कैटेगरी के मार्ग थे जिनका पिछले कई सालों से रखरखाव नहीं किया गया था। वहीं, अब इन मार्गों के दुरूस्तीकरण के लिए मुख्यालय से वित्तीय स्वीकृति मिलने के बाद सालों से बद्दत्तर हालत में पड़े इन मार्गों का भी कायापलट हो सकेगा। मुख्यालय की ओर से जारी की गई सूची में ज्यादातर मार्ग ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के इन मार्गों के हालात सुधरने के बाद ग्रामीणों की सालों पुरानी समस्या दूर हो सकेगी।

सूची में ये मार्ग भी हैं शामिल

मुख्यालय की ओर से जारी की गई अजमेर जिले के नॉन पेचेबल मार्गों के नवीनीकरण की सूची में पुष्कर के 37 मार्ग, नसीराबाद के 9 मार्ग, केकड़ी के 5 मार्ग व किशनगढ़ के 35 मार्ग शामिल किए गए हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से जल्द ही अब मार्ग के नवीनीकरण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरु की जाएगी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..