• Home
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • होली राउंड अप : मस्ती के रंग में डूबा शहर गली-गली स्वांग, कहीं बारातें-कहीं ठुमके
--Advertisement--

होली राउंड अप : मस्ती के रंग में डूबा शहर गली-गली स्वांग, कहीं बारातें-कहीं ठुमके

शहर मस्ती के रंग में डूब गया। होली के सैकड़ों रसिया स्वांग बन सड़कों पर उतर आए। राह चलते लोगों को हैरानी में डाल वे...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
शहर मस्ती के रंग में डूब गया। होली के सैकड़ों रसिया स्वांग बन सड़कों पर उतर आए। राह चलते लोगों को हैरानी में डाल वे चुपके से निकल रहे हैं और छोड़ जाते हैं चेहरों पर मुस्कान और खिलखिलाहट। मसलन, लिफ्ट मांग रही सजी-धजी युवती को देख युवक का मन बल्लियों उछला। बिठाने के लिए गाड़ी रोकी और युवती ने गलबहियां डाली तो माजरा समझ में आ गया। खिसियाते हुए आगे निकला लेकिन देखने वालों ने जमकर ठठा लगाया। साधू, देव, दैत्य के साथ ही विधानसभा के भूत गली-गली में घूम रहे हैं। शिव आशीर्वाद दे रहे हैं और राधा-श्याम एक ही बाइक पर नगर भ्रमण करने निकलते हैं। कहीं एक-सी टोपियों वाला समूह फाग के राग गाते हुए गुजर रहा है तो कहीं अटपटे कपड़े पहने लोगों के बीच चटपटे संवाद सरे राह होते दिख रहे हैं।

स्वांगों से नहर हटा चौक-मोहल्लों की रंगत पर नजर डालें तो हर जगह कुछ खास नजारे हैं। मसलन, बांठिया चौक में गूंज रहे लोक गीत और उन पर थिरक रहा है रसिये, नाम है नुक्कड़ सभा। सिंगियों के चौक में किन्नरों की पुरानी हवेली है। रस्म के मुताबिक, किन्नर अपनी होली का आगाज इसी चौक में डांस के साथ करते हैं। ऐसे में शाम ढलते ही शुरू हुआ ठुमकों और उनके साथ नाचकर शगुन मनाने का दस्तूर देर रात तक चलता रहा। बाहर गुवाड़ चौक तो होली की मस्ती का मुख्यालय बन गया। हर पाटे पर कुछ न कुछ खास। इसी बीच शहर के एक हिस्से से आती बारात देख चौंकना लाजिमी था। डीजे पर बजते गानों पर नाचते लोग। पीछे घोड़ी पर दूल्हा। पता चला यह महज होली की ही बारात है।

स्वांग ऐसे

आदेश : कोई भी हथियार लेकर न चलें, चलती गाड़ी पर बेलून, रंग न फेंके

होली की हुड़दंग के मद्देनजर जिला मजिस्ट्रेट ने धारा 144 दंड प्रक्रिया संहिता के मुताबिक हथियार लेकर चलने पर पाबंदी लगाई है। इतना ही नहीं शहर के थाना क्षेत्रों में तीन कार्यपालक मजिस्ट्रेट भी नियुक्त किए हैं। जिला मजिस्ट्रेट अनिल गुप्ता की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, 28 फरवरी रात 12 से तीन मार्च को रात 12 बजे तक धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा के प्रावधान लागू रहेंगे। इस दौरान आग्नेयास्त्र यानी रिवाल्वर, पिस्तौल, बंदूकों के साथ ही गंडासा, फर्सा, तलवार, भाला, चाकू आदि हथियार लेकर न तो कोई घूमेगा और न ही प्रदर्शन करेगा। घातक रसायनों का प्रयोग भी नहीं होगा। रंग के गुब्बारे किसी पर फेंकना, भड़काऊ गीत-नारा लगाना, सोशल मीडिया पर प्रचारित प्रसारित करना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।

तीन कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त

कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए थानावार ये कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं :

कोटगेट-कोतवाली : नरेन्द्रसिंह राजपुरोहित, उप महानिरीक्षक पंजीयन एवं मुद्रांक

नयाशहर, सदर, बीछवाल : ताज मोहम्मद, उपायुक्त नगर निगम

जेएनवी, गंगाशहर : गोविंदराम, तहसीलदार बीकानेर