• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • ठेकेदार से नहीं बनी बात, 8 सफाई कर्मी पकड़ेंगे 20 हजार आवारा सांड
--Advertisement--

ठेकेदार से नहीं बनी बात, 8 सफाई कर्मी पकड़ेंगे 20 हजार आवारा सांड

शहर में विचरण करते निराश्रित गौ वंश को पकड़ने के लिए नगर निगम का “ऑपरेशन सांड’ शुक्रवार से शुरू होगा। निगम के दो...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:35 AM IST
ठेकेदार से नहीं बनी बात, 8 सफाई कर्मी पकड़ेंगे 20 हजार आवारा सांड
शहर में विचरण करते निराश्रित गौ वंश को पकड़ने के लिए नगर निगम का “ऑपरेशन सांड’ शुक्रवार से शुरू होगा। निगम के दो पिंजरों के साथ चार-चार सफाई कर्मचारी आवारा पशुओं को पकड़ेंगे। इन पशुओं को गाढ़वाला स्थित निजी गौशाला में पहुंचाया जाएगा।

शहर में 15 से 20 हजार तक आवारा पशु हैं, जिन्हें पकड़ने के लिए आंदोलन हो रहे हैं। वर्तमान में कांग्रेसी नेताओं ने कलेक्ट्रेट पर अनिश्चितकालीन धरना लगा रखा है। इससे पहले दो बार भाजपा पार्षद धरना लगा चुके हैं। कांजी हाउस और गौशाला को लेकर सरकार अब तक कोई फैसला नहीं कर सकी। गाय पर सियासत के चलते नगर निगम ने पशु पकड़ने का ठेका भी कर दिया, लेकिन ठेकेदार दूरी अधिक होने के कारण दर बढ़ाने पर अड़ा हुआ है। जब तक यह काम शुरू नहीं होता नगर निगम ने अपने स्तर पर ही पशुओं को पकड़ने का निर्णय लिया है। आयुक्त निकया गोहाएन और स्वास्थ्य अधिकारी मक्खनलाल आचार्य ने गुरुवार की शाम को एक बैठक कर इसकी रणनीति तैयार की।




आवारा पशु पकड़ने का काम

निगम का, कर ही नहीं रहे थे

आवारा पशुओं को पकड़ने का काम नगर निगम का ही है। निगम के पास इस काम के लिए दो पिंजरे भी हैं। विडंबना यह है कि आवारा पशुओं को पकड़ने वाले एक्सपर्ट नहीं है। सफाई कर्मचारियों से ही यह काम लिया जाता रहा है। कई बार सांड की टक्कर लगने से कर्मचारी चोटिल भी हो चुके हैं। इसलिए वे इस काम को करने से कतराते हैं। किसी क्षेत्र में सांड को लेकर गंभीर समस्या आती है तो ही कर्मचारी पिंजरा लेकर उसे पकड़ने जाते हैं। सांडों को छोड़ने का कोई स्थान भी तय नहीं है। इन्हें शहर से बाहर ले जाकर छोड़ दिया जाता है। दूसरे ही दिन सांड वापस अपने क्षेत्र में पहुंच जाते हैं।

सफाई कर्मचारी पकड़ेंगे पशु : आवारा पशुओं को पकड़ने का काम सफाई कर्मचारी करेंगे। दो पिंजरे होने के कारण आठ कर्मचारियों का चयन इस काम के लिए किया गया है। ये कर्मचारी अपने क्षेत्र में सफाई करने के बजाय शुक्रवार से सांडों को पकड़ेंगे। हेल्थ ऑफिसर मक्खन आचार्य का कहना है कि इसके अलावा निगम के पास दूसरा कोई विकल्प फिलहाल नहीं है।

लेबर कांटेक्ट किया

आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए निगम ने लेबर कांटेक्ट भी किया है, जिसकी निविदाएं शुक्रवार को ऑन लाइन अपलोड होंगी। यह कांटेक्ट 12 लाख रुपए का होगा। ठेके पर आदमी रखे जाएंगे। पशुओं को निगम के वाहनों से गौशाला तक पहुंचाया जाएगा।


X
ठेकेदार से नहीं बनी बात, 8 सफाई कर्मी पकड़ेंगे 20 हजार आवारा सांड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..