• Home
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • नजरअंदाजी के नाले में कलाकारों के कमल कटाक्ष, वादों-से गुब्बारे
--Advertisement--

नजरअंदाजी के नाले में कलाकारों के कमल कटाक्ष, वादों-से गुब्बारे

जस्सूसर गेट का नाला नगर निगम और यूआईटी के बीच उलझ गया है। गुरुवार को फिर से नाला जाम होने के कारण क्षेत्र में गंदा...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 03:35 AM IST
जस्सूसर गेट का नाला नगर निगम और यूआईटी के बीच उलझ गया है। गुरुवार को फिर से नाला जाम होने के कारण क्षेत्र में गंदा पानी सड़क पर फैल गया। इस समस्या से पूरा शहर परेशान है, लेकिन नाले की सफाई नहीं हो पा रही है।

महापौर नारायण चौपड़ा ने गुरुवार को जस्सूसर गेट पहुंचकर नाले का निरीक्षण किया। हालात देख वे भी अचंभित हुए। नाले पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखे हैं। लोगों ने परकोटे की दीवार तक दुकानें बना डाली। इस गंभीर समस्या को ओर निगम और यूआईटी का ध्यान आकर्षित करने के लिए कुछ लोगों ने गंदे नाले में कमल के फूल भी खिलाए। दरअसल अतिक्रमण के कारण नाले की सफाई नहीं हो पा रही है। कुछ दिन पहले वहां लोगों ने आक्रोषित रास्ता जाम किया था। उसके बाद निगम ने सर्वे कराया तो पता चला कि डेढ़ सौ से अधिक दुकानदारों ने नाले पर कब्जा कर रखा है। यह सूची यूआईटी को भेजकर कब्जे तोड़ने को कहा, लेकिन यूआईटी का दस्ता पहुंचा ही नहीं। निगम आयुक्त ने बताया कि नाला और दुकानें दोनों ही यूआईटी के हैं। यदि यूआईटी अतिक्रमण हटा दे तो निगम नाले की सफाई करा सकता है। इस संबंध में यूआईटी सचिव को दो बार लिखा जा चुका है।

जस्सूसर गेट नाले की सफाई नहीं होने पर चित्रकारों का अनूठा प्रदर्शन लोगों ने सराहा

गंदे पानी में खिलाए स्वच्छता के फूल

जस्सूसर गेट पर गुरुवार को नाला जाम होने के कारण गंदा पानी सड़क पर फैल गया। इस समस्या की ओर नगर निगम का ध्यान खींचने के लिए चित्रकारों ने कमल के फूल लिखाए और गुब्बारे छोड़े। पब्लिक आर्ट शो के संयोजक चित्रकार मुकेश जोशी सांचीहर के साथ चोरूलाल सुथार, कमल स्वामी, अशोक सुथार, सत्यनारायण प्रजापत, चांदरतन आदि ने सहयोग किया। इस आर्ड शो को देखने के लिए मौके पर भीड़ एकत्रित हो गई। निगम का दल सफाई के लिए गया, लेकिन चित्रकारों ने रोक दिया। चित्रकारों ने स्वच्छता सर्वे के चलते नाले की समस्या का समाधान शीघ्र करने की मांग प्रशासन से की है।