मौसम / धूल-धूसरित बीकानेर, पश्चिमी तीन जिले बारिश के लिए तरस रहे



Dust storm in Bikaner
X
Dust storm in Bikaner

  • मानसून 18 से सक्रिय होने के आसार... फिलहाल इंतजार
     

Dainik Bhaskar

Jul 17, 2019, 11:04 AM IST

बीकानेर। देश का कोना-कोना मानसून की बारिश से तर हो गया लेकिन पश्चिमी राजस्थान के तीन जिले अब भी बारिश के लिए तरस रहे हैं। कल से सावन भी शुरू हाे जाएगा, लेकिन शुरूअात फीकी रहेगी। मौसम विभाग के मुताबिक, बीकानेर तक मानसून पहुंचने में अभी एक सप्ताह से 10 दिन का समय और लग सकता है, क्योंकि अभी मानसून को लेकर कोई संकेत नहीं मिल रहा। वैसे भी अभी दक्षिण-पश्चिमी तेज हवाओं का दौर जारी है।

 

हवा 20 से 25 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है। इसलिए मानसून इस ओर रुख नहीं कर पा रहा है। बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ के अलावा जोधपुर और बाड़मेर के कुछ हिस्सों में मानसून की बारिश का अभी इंतजार है। उम्मीद थी कि सावन शुरू होते ही मानसून बरसेगा, लेकिन सावन की शुरूआत ही फीकी रहेगी। इस दौरान धूल भरी आंधी का दौर पांचवें दिन भी जारी रहा।

 

महिलाओं को सफाई करने में दिक्कत आ रही है। रोज जितनी धूल साफ होती है, दूसरे दिन फिर उतनी ही धूल जम जाती है। इस बीच सोमवार को अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री व न्यूनतम 29.3 डिग्री सेल्सियस रहा। 13 किमी प्रति घंटा की गति से हवा चली। 

 

देश में 5 दिन...यहां 15 दिन देरी संभव 

 

केरल में हर साल एक जून को मानसून की दस्तक होती है, लेकिन इस साल सात जून को हुई। राजस्थान में भी पांच दिन की देरी से मानसून अाया। बीकानेर में मानसून की निर्धारित तिथि 10 जुलाई के आसपास है, लेकिन इस बार 25 जुलाई के अासपास मानसून के आाने की संभावना बन रही है। कई जगह मानसून की दस्तक नहीं होने से पूरे देश में मानसून एक्टिव होने का ऐलान भी नहीं किया जा रहा है, क्योंकि सबसे अंत में मानसून बीकानेर ही आता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना