• Home
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Bikaner - दुर्लभ संयोग के साथ आज घर-घर पूजे जाएंगे गणेश
--Advertisement--

दुर्लभ संयोग के साथ आज घर-घर पूजे जाएंगे गणेश

बीकानेर | 13 सितंबर को स्वाति नक्षत्र-वृश्चिक लग्न और गुरुवार के दुर्लभ संयोग के साथ गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी। गणेश...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:50 AM IST
बीकानेर | 13 सितंबर को स्वाति नक्षत्र-वृश्चिक लग्न और गुरुवार के दुर्लभ संयोग के साथ गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी। गणेश चतुर्थी को बन रहा यह संयोग लोगों के सुख व समृद्धि में तो वृद्धि करेगा ही, साथ ही इस दिन जमीन, वाहन, मकान आभूषण आदि खरीदना भी शुभ रहेगा। ज्योतिर्विद पंडित हरिनारायण व्यास मन्नासा के अनुसार जहां गणेश होते हैं, वहां शुभ व लाभ होते हैं। इस दिन किए कार्य भी सफल होते हैं। भाद्र शुक्ल चतुर्थी 13 सितंबर को दोपहर 2.51 बजे तक रहेगी। गणेश चतुर्थी को मध्याह्न काल में पूजन करना श्रेष्ठ रहेगा। ऐसा इसलिए कि शास्त्रों के अनुसार भगवान गणेश का जन्म मध्याह्न काल में हुआ था। यही कारण है कि मध्याह्न काल में वृश्चिक लग्न में पूजन करना श्रेष्ठ रहेगा। स्वाति नक्षत्र 13 सितंबर को दिनभर यानी रात 12.52 बजे तक रहेगा। शास्त्रों के अनुसार जिन जातकों पर राहु की दशा और दृष्टि हो, उन्हें गणेश चतुर्थी के दिन गणपति की पूजा करनी चाहिए। सभी ग्रहों की शांति के लिए भी भगवान गणेश की उपासना श्रेष्ठ मानी गई है।

चंद्र दर्शन से लगता है मिथ्या कलंक

गणेश चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन करने से मिथ्या कलंक भी लग सकता है। मन्नासा के अनुसार अगर चंद्र दर्शन हो जाए तो मिथ्या कलंक के निवारण के लिए निमित स्यमन्तक की कथा श्रवण करना आवश्यक है।

पूजन मुहूर्त

अभिजीत मुहूर्त : दोपहर 12.8 से 12.57 बजे तक,

चर का चौघडिय़ा : 10.59 से 12.33 मध्याह्न,

लाभ का चौघडिय़ा : 12.33 से 2.05 दोपहर,

अमृत का चौघडिय़ा : 2.05 से 3.38 बजे दोपहर,

वृश्चिक लगन : 11.17 से 1.34 तक।