राजस्थान / बीकानेर के 594 डेंगू राेगियाें के घर तलाश वहां मच्छरों को पकड़ेंगे स्वास्थ्यकर्मी



health workers to find about the dengue affected areas
X
health workers to find about the dengue affected areas

  • पता लगाया जाएगा कि यहां डेंगू संक्रमित मच्छर अब भी है या नहीं

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 10:15 AM IST

बीकानेर। बीते साल के आंकड़ों को देखते हुए इस बार बारिश से पहले ही डेंगू पर नियंत्रण में जुटे स्वास्थ्य अधिकारियों के सामने असली चुनौती है उन 594 घराें की तलाशी जहां पिछले साल रोगी रिपोर्ट हुए। इन घरों में और उनके आस-पास मच्छरों की मौजूदगी का पता लगाया जाएगा। यहां एडिज इजिप्टार्इ मच्छर मिलते हैं तो उनके खात्मे के लिए अलग से विशेष अभियान चलाया जाएगा। वजह, जहां एक बार संक्रमित मच्छर मिल गए वहां अगर उनका प्रजनन होता है तो आगे वाली पीढ़ियां भी डेंगू रोग फैलाने वाले मच्छरों की होती हैं। 

 

यही वजह है कि जिन इलाकों में डेंगू से किसी की मौत हो चुकी है या जहां एक से ज्यादा रोगी सामने आए हैं उन्हें हार्इरिस्क एरिया के रूप में चिह्नित किया गया है। बीकानेर शहर में रामपुरा, सर्वेदयी बस्ती, गंगाशहर-गोपेश्वर बस्ती, गिन्नाणी आदि ऐसे इलाके हैं जहां से पिछले साल रोगी रिपोर्ट हुए थे। 

 

सबसे ज्यादा खतरा नोखा में 
 

डेंगू हाइरिस्क एरिया में पहले स्थान पर नोखा है जहां पिछले साल 100 डेंगू रोगी रिपोर्ट हुए। इनमें से अधिकांश नोखा शहरी क्षेत्र के रोगी हैं। इसके अलावा बीकानेर शहर की मुक्ताप्रसाद कॉलोनी में 12, रामपुरा बस्ती में 10, गंगाशहर में 11 और लगभग इतने ही रोगी इंदिरा कॉलोनी में सामने आए थे। ऐसे में इस साल इन इलाकों में नियंत्रण के लिए विशेष सतर्कता बरती जा रही है। 

 

स्कूल-कॉलेज,घरों-हॉस्पिटल्स में बताए डेंगू रोकने के तरीके 
स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने गुरुवार को स्कूलों कॉलेजों, घरों, हॉस्पिटल्स में विशेष सत्र लगाकर डेंगू पनपने के कारण, पहचान, नियंत्रण के तरीके औँर उपचार की विधि समझार्इ। अलग-अलग टीमों में डा.अनिल वर्मा, डा.योगेन्द्र तनेजा, आद ने उपयोगी जानकारियां दी। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना