Hindi News »Rajasthan »Bikaner» गौशाला पर फिर गरमाई सियासत

गौशाला पर फिर गरमाई सियासत

गौशाला के मुद्दे पर सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। कांग्रेसी नेता गुरुवार को करीब पौन घंटे तक नगर निगम में बैठे...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:35 AM IST

गौशाला पर फिर गरमाई सियासत
गौशाला के मुद्दे पर सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। कांग्रेसी नेता गुरुवार को करीब पौन घंटे तक नगर निगम में बैठे रहे। महापौर तारबंदी पर और गोपाल गहलोत चार दीवारी के निर्माण पर अड़े रहे। आखिर में आयुक्त ने 25 मई तक जमीन की चार दीवारी का टैंडर करने की बात कहकर विवाद शांत कराया।

राज्य सरकार ने वर्ष 2016 में नंदी गौशाला की घोषणा की थी। इस साल फरवरी माह में नगर निगम को सुजानदेसर में 280 बीघा जमीन का आबंटन भी कर दिया। नगर निगम ने 8.55 लाख का तारबंदी का टैंडर कर दिया। इसकी भनक लगने पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, पीसीसी सदस्य गोपाल गहलोत, नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार, पार्षद आदर्श शर्मा, आनंद सिंह सोढ़ा, फिरोज भाटी सहित कई कांग्रेसी नेता नगर निगम जा पहुंचे। महापौर नारायण चौपड़ा भी आयुक्त के कक्ष में ही मौजूद थे। दोनों नेताओं में काफी देर बहस चली। गहलोत ने जनसहयोग से चार दीवारी और ट्यूबवैल निर्माण कराने का प्रस्ताव रखा। गौशाला सहित विभिन्न समस्याओं को लेकर 25 से वापस आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी।

महापौर तारबंदी, गहलोत चार दीवारी पर अड़े रहे, आयुक्त ने कहा-25 मई तक टैंडर हो जाएंगे

नगर निगम

13दिसंबर 2016 को सरकार ने की थी नंदी गौशाला खोलने की घोषणा

50 लाख रुपए का बजट प्रावधान

35दिन तक कांग्रेस ने लगाया धरना

21 फरवरी को गौशाला के लिए मिली 280 बीघा जमीन

21लाख रुपए जन सहयोग से देने की घोषणा थी गहलोत ने

सुजानदेसर में जमीन मिलने के बाद भी गौशाला नहीं बनने पर कांग्रेसी नेताओं ने जताया आक्रोश, 25 मई से फिर से आंदोलन पर

निजी गौशाला में 900 सांड पहुंचाने का दावा शहर में निराश्रित सांडों की संख्या 15 हजार से अधिक होने का अनुमान है। नगर निगम तीन महीने में मात्र 900 सांड ही गाढ़वाला स्थित निजी गौशाला में पहुंचा पाया है।

सांडों की चपेट आ रहे लोग : शहर में आवारा सांडों की चपेट में आने से आए दिन लोग चोटिल हो रहे हैं। हाल ही में तीन लोग जख्मी हुए थे, जिन्हें पीबीएम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

आयुक्त महोदय, जरा निगम के पीछे भी झांके, नाला आज भी खुला पड़ा है : कांग्रेसी नेताओं ने आयुक्त से कहा, आप गाड़ी से उतर कर सीधे अपने चैम्बर में चले जाते हैं। जरा निगम के पीछे जाकर भी झांके। तीन महीने पहले आंदोलन किया था। जब इस नाले को कवर्ड करने की मांग की थी। गोपाल गहलोत ने कहा कि दो लोगों की मौतें हो चुकी हैं नाले में गिरने से। जावेद ने कहा, टैंडर होने के बाद भी काम शुरू नहीं हो रहा। मानसून में हालात और खराब हो जाएंगे।

महापौर से वार्ता करते कांग्रेसी नेता।

किसने क्या कहा...

गहलोत :
आप चार दीवारी क्यों नहीं चाहते? जबकि हम पैसा देने का तैयार हैं।

महापौर : तारबंदी ही सही विकल्प है।

गहलोत : चार दीवारी में गोधे सुरक्षित रहेंगे। तारबंदी से उन्हें चोट लगने का खतरा रहेगा।

महापौर : मैने गाढ़वाला की गौशाला देखी है। आप भी देखो। वैसी ही बनाएंगे।

गहलोत : मैने बहुत सी गोशालाएं देख रही हैं। चार दीवारी बनने से आपको क्या परेशानी है।

महापौर : बनाएंगे...बनाएंगे...तारबंदी भी हाेगी। चार दीवारी भी बनेगी। जो भी बनाएंगे आपको बताया दिया जाएगा।

गौशाला निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। हमने कुछ गौशालाओं का भ्रमण किया है। इसी माह टैंडर जारी कर दिए जाएंगे। नाला निर्माण का काम भी शीघ्र शुरू करा दिया जाएगा। प्रदीप गवांडे, आयुक्त

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bikaner

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×