--Advertisement--

गौशाला पर फिर गरमाई सियासत

गौशाला के मुद्दे पर सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। कांग्रेसी नेता गुरुवार को करीब पौन घंटे तक नगर निगम में बैठे...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:35 AM IST
गौशाला के मुद्दे पर सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। कांग्रेसी नेता गुरुवार को करीब पौन घंटे तक नगर निगम में बैठे रहे। महापौर तारबंदी पर और गोपाल गहलोत चार दीवारी के निर्माण पर अड़े रहे। आखिर में आयुक्त ने 25 मई तक जमीन की चार दीवारी का टैंडर करने की बात कहकर विवाद शांत कराया।

राज्य सरकार ने वर्ष 2016 में नंदी गौशाला की घोषणा की थी। इस साल फरवरी माह में नगर निगम को सुजानदेसर में 280 बीघा जमीन का आबंटन भी कर दिया। नगर निगम ने 8.55 लाख का तारबंदी का टैंडर कर दिया। इसकी भनक लगने पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, पीसीसी सदस्य गोपाल गहलोत, नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार, पार्षद आदर्श शर्मा, आनंद सिंह सोढ़ा, फिरोज भाटी सहित कई कांग्रेसी नेता नगर निगम जा पहुंचे। महापौर नारायण चौपड़ा भी आयुक्त के कक्ष में ही मौजूद थे। दोनों नेताओं में काफी देर बहस चली। गहलोत ने जनसहयोग से चार दीवारी और ट्यूबवैल निर्माण कराने का प्रस्ताव रखा। गौशाला सहित विभिन्न समस्याओं को लेकर 25 से वापस आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी।

महापौर तारबंदी, गहलोत चार दीवारी पर अड़े रहे, आयुक्त ने कहा-25 मई तक टैंडर हो जाएंगे

नगर निगम






सुजानदेसर में जमीन मिलने के बाद भी गौशाला नहीं बनने पर कांग्रेसी नेताओं ने जताया आक्रोश, 25 मई से फिर से आंदोलन पर

निजी गौशाला में 900 सांड पहुंचाने का दावा शहर में निराश्रित सांडों की संख्या 15 हजार से अधिक होने का अनुमान है। नगर निगम तीन महीने में मात्र 900 सांड ही गाढ़वाला स्थित निजी गौशाला में पहुंचा पाया है।

सांडों की चपेट आ रहे लोग : शहर में आवारा सांडों की चपेट में आने से आए दिन लोग चोटिल हो रहे हैं। हाल ही में तीन लोग जख्मी हुए थे, जिन्हें पीबीएम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

आयुक्त महोदय, जरा निगम के पीछे भी झांके, नाला आज भी खुला पड़ा है : कांग्रेसी नेताओं ने आयुक्त से कहा, आप गाड़ी से उतर कर सीधे अपने चैम्बर में चले जाते हैं। जरा निगम के पीछे जाकर भी झांके। तीन महीने पहले आंदोलन किया था। जब इस नाले को कवर्ड करने की मांग की थी। गोपाल गहलोत ने कहा कि दो लोगों की मौतें हो चुकी हैं नाले में गिरने से। जावेद ने कहा, टैंडर होने के बाद भी काम शुरू नहीं हो रहा। मानसून में हालात और खराब हो जाएंगे।

महापौर से वार्ता करते कांग्रेसी नेता।

किसने क्या कहा...