राजस्थान / पुलिसकर्मियों को 2 माह में मिलेगी आधुनिक हथियारों की की ट्रेनिंग



डेमो पिक। डेमो पिक।
X
डेमो पिक।डेमो पिक।

  • डीजीपी ने माना...पुलिस कार्मिकों में हथियारों के प्रशिक्षण का अभाव

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 10:46 AM IST

बीकानेर। देश के सभी थानों और पुलिसलाइन में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को दो माह में आधुनिक हथियारों की ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे कि वे जरूरत पड़ने पर बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकें। अलवर के बहरोड़ पुलिस थाने में फायरिंग कर हरियाणा के गैंगस्टर पपला को भगा ले जाने की घटना के बाद प्रदेश के सभी पुलिसकर्मियों को आधुनिक हथियारों की ट्रेनिंग देने का निर्णय लिया गया है जिससे कि वे अपराधियों को जवाब दे सकें।

 

इसके लिए कांस्टेबल से एसपी तक के कार्मिकों को दो माह में आधुनिक हथियारों की पूरी जानकारी और फायरिंग की ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग के अलावा निर्धारित मापदंडों के तहत आवश्यक रूप से वार्षिक चांदमारी भी की जाएगी जिसकी साप्ताहिक रिपोर्ट मुख्यालय को भेजनी होगी। डीजी (प्रशिक्षण) पुलिसकर्मियों को हथियारों की ट्रेनिंग देने की कार्ययोजना तैयार करेंगे।

 

गौरतलब है कि बहरोड पुलिस थाने में गैंगस्टर पपला को छुड़ाने पहुंचे अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी, लेकिन थाने के पुलिसकर्मी हथियार नहीं चला पाए थे। इस स्थिति काे देखते हुए डीजीपी भूपेन्द्रसिंह ने माना कि पुलिसकर्मियों में हथियारों की जानकारी का अभाव है जिसे प्रेक्टिस और ड्राइ मस्केटरी से दूर किया जाना चाहिए। डीजी (प्रशासन, कानून-व्यवस्था) एमएल लाठर ने इसके लिए सभी जिलों के एसपी को पाबंद किया है।

 

इन हथियारों की दी जाएगी ट्रेनिंग
 

राइफल 7.62 एमएम, 7.62 एमएम एसएलआर, राइफल 5.56 एमएम इंसास, 0.38 रिवाल्वर, एंटी रायट गन, 7.62 एमएम एलएमजी, ग्लॉक पिस्टल, एमपी -5, स्नीपर राइफल, एजीएल, एमबीएल अग्निवर्षा, मोर्टार, 0.22 राइफल, राइफल एके सीरिज, वीएलपी, 9एमएम पिस्टल, टीयर गेस गन, 9एमएम कार्बाइन, 51 एमएम मोर्टार, 5.56एममए एलएमजी, यूबीजीएल, 7.62एमएम एसएलआर, 12 बोर पंप एक्शन गन

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना