जलदाय विभाग परिसर में ही बिजली के तार इतने नीचे, क्या... हादसे का है इंतजार

Bikaner News - सभी जानते हैं कि पानी-बिजली का संपर्क अगर हो जाए तो करंट का प्रवाह कई गुना बढ़ जाता है। इनके संपर्क में आने वाले...

Jan 19, 2020, 09:26 AM IST
सभी जानते हैं कि पानी-बिजली का संपर्क अगर हो जाए तो करंट का प्रवाह कई गुना बढ़ जाता है। इनके संपर्क में आने वाले जीव-जंतु या इंसान की जान को खतरा बन जाता है। कस्बे में जगह-जगह झूलते तारों को देखने के बावजूद जिम्मेदार उनकी सुध नहीं ले रहे। अब जलदाय विभाग कार्यालय परिसर ही देख लीजिए। बिजली का तार जमीन से कोई एक फीट ऊंचाई पर है। पास में जलदाय विभाग का कुआं है। कुएं से अगर पानी ओवरफ्लो हो जाए, यह तार कहीं से कटा तो उससे करंट का प्रवाह होने पर पूरे परिसर में फैल सकता है। अभी हो रही मावठ में यह खतरा कई गुना बढ़ गया है। ग्रामीण हरीश शर्मा का कहना है कि मेंटिनेंस के नाम पर कटौती करने वाले विद्युत निगम को यह देखना चाहिए। किसी हादसे का इंतजार किए बगैर वहां काम करने वाले कार्मिकों की सुरक्षा होनी चाहिए।

पानी-बिजली का संपर्क हो जाए तो जान को खतरा, जिम्मेदार समझ क्यों नहीं पा रहे

लूणकरणसर जलदाय विभाग कार्यालय जमीन को छूते बिजली के तार

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना