कटने के लिए तैयार थी चना और गेंहू की फसल, बारिश से खराब हुई

Bikaner News - जाेधपुर विद्युत निगम के अधिकारियाें काे अा रही है दिक्कत, स्टाफ व संसाधनाें की कमी, ठेकेदार के कर्मचारी नहीं अाए...

Mar 27, 2020, 07:10 AM IST
Bikaner News - rajasthan news gram and wheat crop was ready for harvesting due to rain
जाेधपुर विद्युत निगम के अधिकारियाें काे अा रही है दिक्कत, स्टाफ व संसाधनाें की कमी, ठेकेदार के कर्मचारी नहीं अाए काम पर

बीती रात बदले माैसम के मिजाज ने तापमान की सुई काे अाैर झुकने के लिए मजबूर कर दिया। बुधवार रात अाई अांधी अाैर उसके बाद रह-रहकर हुई बूंदाबांदी के बाद रात में ठंडक हाे गई। जाे तापमान 22 डिग्री सेल्सियस पार हाे गया था वह बीती रात 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि सामान्य से ये भी दाे डिग्री सेल्सियस ज्यादा है। दिन का तापमान 25 फरवरी काे 34.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जाे गुरुवार काे 24.6 डिग्री सेल्सियस रहा। बीती रात से सुबह अाठ बजे तक 4.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जबकि सुबह अाठ बजे से शाम तक 6 मिलीमीटर बारिश हुई। माैसम के मिजाज में अभी भी सुधार नहीं है। गुरुवार दिनभर कभी तेज ताे कभी फुहाराें के रूप में बूंदाबांदी का दाैर चलता रहा। दिनभर धूप नहीं निकलने की वजह से दिन के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। माैसम विभाग का कहना है कि शुक्रवार तक पश्चिमी विक्षाेभ का असर रहेगा जिसकी वजह से बादल अाैर बूंदाबांदी का दाैर जारी रह सकता है लेकिन शनिवार से अासमान साफ हाेने के अासार हैं।

अांधी अाैर बारिश से काेलायत में गिरे बिजली के 60 पाेल, सप्लाई सुचारू करने में जुटे कर्मचारी

सिटी रिपाेर्टर | बीकानेर

जिले में गुरुवार रात अांधी व बारिश से कई तहसील मुख्यालयाें में बिजली की सप्लाई प्रभावित हुई है। सबसे ज्यादा नुकसान काेलायत एरिया में हुअा है। यहां 60 से ज्यादा बिजली के पाेल गिरने से शहरी व कई गांवाें में अभी तक बिजली की सप्लाई सुचारू नहीं हाे पाई है। विद्युत सप्लाई सुचारू करने में अभी कितना वक्त अाैर लगेगा। यह भी मालूम नहीं है। वजह डिस्काॅम के पास कर्मचारियाें व स्टाफ का अभाव है। लाॅक डाउन काे देखकर ठेकेदार के कर्मचारी भी छुट्टियाें पर चले गए है।

ग्रामीण एसई अशाेक कुमार गाेयल ने बताया कि अांधी व बारिश से काेलायत, नापासर, श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र में नुकसान हुअा है। काेलायत में जाे विद्युत पाेल गिरे हैं, उन्हें दुरुस्त करने के लिए कर्मचारियाें की टीम अलग-अलग हिस्साें में लगाई गई है। दिक्कत यह है कि मरम्मत का कार्य तहसील क्षेत्राें में ज्यादातर ठेकेदार के पास है। उसके कर्मचारी लाॅक डाउन काे देखकर अाने से मना कर चुके है। एेसे में डिस्काॅम की मंशा है कि सीमित संसाधनाें काे उपयाेग में लेते हुए सप्लाई काे जल्द से जल्द शुरू किया जा सके। डिस्काॅम फिलहाल सप्लाई काे नियमित देने में जुटी है। उधर शहरी क्षेत्र में खराब माैसम काे देखते हुए एहितयात के ताैर पर बिजली कंपनी ने सप्लाई काे कुछ समय के लिए बंद किया था। अगर कहीं काेई फाल्ट अाया था ताे उसे देर रात तक दुरुस्त कर सप्लाई चालू कर दी गई थी।

सुबह से टिप-टिप, लुढ़का दाे डिग्री पारा

सिटी रिपाेर्टर | बीकानेर

बेमाैसम अाई बारिश ने किसानाें काे नुकसान के दायरे में लाकर खड़ा कर दिया है। सब्जी या हरे चारे काे छाेड़कर खलिहान में पड़ी सरसाें, खेत में खड़ा चना अाैर गेहूं समेत सभी फसलाें के लिए इन दिनाें हो रही बारिश की हर बूंद नुकसानदायक है। बीती रात अांधी के साथ अाई बारिश के लिए उन किसानाें काे ज्यादा नुकसान हुअा जिनकी सरसाें की फसल खलिहान में पड़ी है। खेत में खड़ी चने अाैर गेहूं की फसल भी पक चुकी है। एेसे में बारिश, कहीं अाेलावृष्टि से गेहूं अाैर चने की फसल काे नुकसान हाे रहा है। श्रीडूंगरगढ़ के साेनियासर समेत तमाम अासपास के गांव में अाेलावृष्टि भी हुई है। एेसे में किसानाें ने गुरुवार सुबह खेत के हाल देखे ताे उनका कलेजा मुंह में अा गया क्याेंकि तीन महीने से एक-एक पाैधे काे संभाल रहे किसान पकी फसल को पहुंचे नुकसान काे सहने की स्थिति में नहीं हैं। किसान धन्नाराम का कहना है कि गेहूं में बालियां पकाव पर हैं। एेसे में कुअां अाधारित क्षेत्र में अाेला गिरने के कारण बाली काे नुकसान हुअा है। ऊपर से हवा के साथ अाई बारिश ने फसल काे जमीन पर गिरा दिया। एेसे में कटाव के वक्त मुश्किल हाेगी। कृषि अधिकारी रुबिना प्रवीण का कहना है कि कुछ इलाके में ज्यादा बारिश नहीं हुई है लेकिन जहां बारिश हुई है वहां अांशिक नुकसान की अाशंका है।

सप्लाई के अलावा सभी काम राेके

जाेधपुर डिस्काॅम ने बिजली की सप्लाई काे नियमित करने के अलावा सभी काम राेक दिए है। न ताे बिजली के बिल जमा किए जा रहे है। न कनेक्शन काटने, जाेड़ने अाैर नए कनेक्शन जारी करने का काम किया जा रहा है। इसमें राहत उन लाेगाें काे हैं, जिन्हाेंने लंबे समय से बिजली का बिल नहीं भरा है। क्याेंकि सबसे ज्यादा बकायदार कृषि कनेक्शन धारक है। मार्च के टारगेट पर भी डिस्काॅम का ध्यान नहीं है। काेराेना काे देखते हुए सबसे पहले सप्लाई नियमित देने पर ही जाेर है।

अांधी के साथ अाई बारिश ने फसलाें काे किया जमींदाेज

X
Bikaner News - rajasthan news gram and wheat crop was ready for harvesting due to rain

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना