तीसरे दिन होगा मां चंद्रघंटा का पूजन, दूध अर्पण करने से हाेता है दुखाें का अंत

Bikaner News - माँ दुर्गा की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। अाैर नवरात्रा के तीसरे दिन शुक्रवार काे मां के इसी रूप का पूजन...

Mar 27, 2020, 07:10 AM IST
Bikaner News - rajasthan news mother chandraghanta will be worshiped on the third day due to offering milk the end of the milk

माँ दुर्गा की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। अाैर नवरात्रा के तीसरे दिन शुक्रवार काे मां के इसी रूप का पूजन हाेगा। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह की पूजा-आराधना की जाती है। इस दिन साधक का मन ‘मणिपूर’ चक्र में प्रविष्ट होता है। ज्योतिर्विद पंडित हरिनारायण व्यास मन्नासा के अनुसार मां तीसरे दिन के रूप चंद्रघंटा की पूजा के दौरान मां काे दूध अर्पण करने से दुखाें का अंत हाेता है। इस देवी की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के दर्शन होते हैं। दिव्य सुगंधियों का अनुभव होता है और कई तरह की ध्वनियां सुनाई देने लगती हैं।

देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी माना गया है। इसीलिए कहा जाता है कि हमें निरंतर उनके पवित्र विग्रह को ध्यान में रखकर साधना करना चाहिए। उनका ध्यान हमारे इहलोक और परलोक दोनों के लिए कल्याणकारी और सद्गति देने वाला है। इस देवी के मस्तक पर घंटे के आकार का आधा चंद्र है। इसीलिए इस देवी को चंद्रघंटा कहा गया है। सिंह पर सवार इस देवी की मुद्रा युद्ध के लिए उद्धत रहने की है। इसके घंटे सी भयानक ध्वनि से अत्याचारी दानव-दैत्य और राक्षस काँपते रहते हैं। नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा का महत्व है। इन क्षणों में साधक को बहुत सावधान रहना चाहिए। इस देवी की आराधना से साधक में वीरता और निर्भयता के साथ ही सौम्यता और विनम्रता का विकास होता है। इसलिए हमें चाहिए कि मन, वचन और कर्म के साथ ही काया को विहित विधि-विधान के अनुसार परिशुद्ध-पवित्र करके चंद्रघंटा के शरणागत होकर उनकी उपासना-आराधना करनी चाहिए। इससे सारे कष्टों से मुक्त होकर सहज ही परम पद के अधिकारी बन सकते हैं। यह देवी कल्याणकारी है।

ऐसे करे मां की पूजा

मां चंद्रघंटा की पूजा करने से मन के साथ घर में भी शांति आती है और व्यक्ति के परिवार का कल्याण होता है। मां की पूजा करते समय उनको लाल फूल अर्पित करें। इसके साथ मां को लाल सेब और गुड़ भी चढाएं। शत्रुओं पर विजय पाने के लिए मां की पूजा करते समय घंटा बजाकर उनकी पूजा करें।इस दिन गाय के दूध का प्रसाद चढ़ाने से बड़े से बड़े दुख से मुक्ति मिल जाती है।

X
Bikaner News - rajasthan news mother chandraghanta will be worshiped on the third day due to offering milk the end of the milk

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना