राजस्थान आर्कियोलॉजी एंड एपिग्राफी कांग्रेस का राष्ट्रीय अधिवेशन कल से

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान आर्कियोलॉजी एंड एपिग्राफी कांग्रेस का पहला राष्ट्रीय अधिवेशन 9 व 10 फरवरी को बीकानेर में होगा। अधिवेशन में स्वतंत्रता पूर्व के पुरातत्व और शिलालेखों पर देश और प्रदेश के इतिहासकार व पुरातत्वविद चर्चा करेंगे। संगठन के अध्यक्ष प्रो. बीएल भदानी एवं सचिव डॉ. रितेश व्यास ने बताया कि इस अधिवेशन में दिल्ली विश्वविद्यालय, जामिया विश्वविद्यालय, अलीगढ़, मुस्लिम विश्वविद्यालय, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय, जोधपुर के अतिरिक्त अन्य महाविद्यालयों के विद्वान एवं शोधार्थी अपने शोधपत्र प्रस्तुत करेंगे। विदित रहे कि इस अधिवेशन का मुख्य उद्देश्य प्राचीन पुरातत्त्व के साथ-साथ मध्ययुगीन दुर्गों, महलों, हवेलियों, छतरियों, जलाशयों, बावड़ियों एवं गढ़ियों के लिए राजस्थान भारत में ही नहीं विश्व में विख्यात है। हजारों लाखों की संख्या में शिलालेख बिखरे पड़े हैं। इन सारे विषयों पर हो रही शोधों को उजागर करना इस सम्मेलन का उद्देश्य है।

खबरें और भी हैं...