प्रचार थमा, आज अाएगी पोलिंग टीम

Bikaner News - भास्कर न्यूज | नोखा-श्रीडूंगरगढ़ शुक्रवार को नोखा, पांचू व श्रीडूंगरढ़ पंचायत समिति की 125 ग्राम पंचायतों में चुनाव...

Jan 16, 2020, 10:00 AM IST
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
भास्कर न्यूज | नोखा-श्रीडूंगरगढ़

शुक्रवार को नोखा, पांचू व श्रीडूंगरढ़ पंचायत समिति की 125 ग्राम पंचायतों में चुनाव होने हैं। सरपंच व वार्डपंच के होने वाले चुनाव का प्रचार-प्रसार बुधवार शाम को थम गया है। गुरुवार को बीकानेर से पोलिंग टीम गांवों में पहुंचनी शुरू हो जाएगी। शाम तक वे अपना-अपना सेटअप कर लेगी।

संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथ पर पुलिस के हथियारबंद जवान भी तैनात रहेंगे। प्रचार-प्रसार थमने के साथ ही अब गांव के घर-घर में प्रत्याशी पहुंच रहे हैं। एक-दूसरे के घरों के मतदाताओं पर निगरानी के लिए अपनी तरफ से एक-एक पहरेदार भी लगाए जा रहे हैं ताकि कोई उलटफेर ना कर सके।

चुनाव करवाने वाले कार्मिकों के काम की सूचना : रवानगी से पहले मिलेगा आपको प्रशिक्षण, तीन गेट बनाए हैं एंट्री के लिए, सुबह आठ बजे से पहले पहुंचना है जरूरी

17 जनवरी को चुनाव करवाने के लिए पोलिंग टीम राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज से रवाना होगी। रवाना होने से पहले सभी को अंतिम प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने बताया कि कॉलेज में प्रवेश के लिए तीन अलग-अलग गेट बनाए गए हैं। गेट नंबर एक से सेक्टर ऑफिसर अपने वाहन सहित आएंगे। दो नंबर बेट से अधिकारियों के वाहन की एंट्री होगी। तीन नंबर गेट से मतदान दल में लगे कार्मिकों को आईटीआई की तरफ से प्रवेश की व्यवस्था की गई है। गौतम ने बताया कि रवानगी से पहले सभी कार्मिकों को अंतिम प्रशिक्षण दिया जाएगा। उसकी तैयारियां बुधवार शाम तक हो चुकी है। सभी कार्मिकों को सुबह आठ बजे से पहले आना होगा। उनका प्रशिक्षण कॉलेज के विभिन्न कमरों एवं पंडाल में किया गया है जो ग्राम पंचायतवार होगी। इसमें कार्मिकों को ईवीएम से मॉक पोल क्लियर करना, ईवीएम में व्यवधान आने पर बदलने की प्रक्रिया आदि बताई जाएगी। सुबह सात बजे कॉलेज में बने ईवीएम रूम को सभी आरओ व एआरओ के सामने खुलवाया जाएगा। इसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी होगी। जैसे-जैसे प्रशिक्षण पूरा होता जाएगा, पोलिंग टीम को उनके गंतव्य स्थान के लिए रवाना कर दिया जाएगा। भंडार से सभी सामग्री कार्मिकों को सेक्टर मजिस्ट्रेट की टेबल पर पहुंचाने की व्यवस्था की गई है।

बीकानेर के पॉलिटेक्निक कॉलेज में कर्मचारियों ने की तैयारियां पूरी, आज बांटेंगे सामग्री

पॉलिटेक्निक कॉलेज के अंदर मतदान दलों को प्रशिक्षण देने के लिए की गई तैयारी।

नोखा, पांचू व श्रीडूंगरगढ़ की 125 ग्राम पंचायत में कल होगा मतदान

चुनाव ड्यूटी से अनुपस्थित रहने पर माना जाएगा अपराध, होगी इसी धारा में कार्रवाई

जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार 16 जनवरी को सुबइ आठ बजे से सेक्टर मजिस्ट्रेट, रिटर्निंग अधिकारी, पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारी के साथ ही कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद सभी के उनकी ग्राम पंचायतों के लिए रवाना किया जाएगा। जो अधिकारी या कर्मचारी राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में अनुपस्थित रहेंगे उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई तो की ही जाएगी। इसके निर्वाचन कर्तव्य का उल्लंघन मानते हुए आपराधिक श्रेणी में लिया जाएगा। उन अधिकारियों व कर्मचारियों पर इसी धारा में कार्रवाई की जाएगी।

बाना, सूड़सर, डेलवां व सलूंडिया ग्राम पंचायत में बन चुके हैं निर्विरोध सरपंच

श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति की बाना, सूड़सर व डेलवां के साथ ही नोखा पंचायत समिति के सलूंडिया ग्राम पंचायत में सरपंचों का चुनाव निर्विरोध हो चुका है। पहले 129 ग्राम पंचायतों में चुनाव होने थे अब 125 ग्राम पंचायतों में ही चुनाव होंगे।

डेलवां में केवल एक वार्ड पंच के लिए हो रहे चुनाव

डेलवा ग्राम पंचायत में सरपंच के साथ ही सात में से छह वार्डपंच निर्विरोध बन चुके थे। अब केवल एक वार्डपंच के लिए चुनाव होगा।

यह भी जाने : सऊदी से लौट आया सरपंच बनने युवक, एक ऐसा परिवार जिसमें दादा-दादी, पौत्र के बाद पौत्रवधू सरपंच की कतार में

सरपंच बनने के लिए मैदान में 565 उम्मीदवार मैदान में है। चार सरपंच निर्विरोध चुने जा चुके हैं। इन 565 उम्मीदवारों में श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति के लिखमीसर दिखणादा ग्राम पंचायत और नोखा पंचायत समिति की सोमलसर ग्राम पंचायत में ऐसे उदाहरण सामने आए हैं जो इस चुनाव की महत्ता को सिद्ध करते हैं। नोखा से राजेश अग्रवाल व श्रीडूंगरगढ़ से विशाल स्वामी की रिपोर्ट।

सोमलसर में 15 साल में लेघा परिवार ने दिए तीन सरपंच, अब चौथी बार है मैदान में

रामकरण लेघा

2005-2010

उदी देवी लेघा

2010-2015

ओम प्रकाश लेघा 2015-2020

नोखा | सोमलसर गांव में वर्ष 2005 में चुनाव हुए। उस समय रामकरण लेघा मैदान में उतरे। जीत गए। अच्छी छवि के साथ पूरे गांव का काम करना शुरू किया। गांव के हर परिवार को अपने साथ लिया। समय निकला और कार्यकाल पूरा हो गया। 2010 के चुनाव में लॉटरी में सीट महिलाओं के लिए आरक्षित हो गई। इस पर अपनी प|ी उदी देवी को उन्होंने चुनाव लड़वाया। वे भी जीत गई। पांच साल उनका कार्यकाल भी ग्रामीणों को खासा पसंद आया। लेघा परिवार को ही सरपंच पद पर देखने की मानो अब यह एक परिपाटी बन गई। गांव के हर परिवार की मदद करने की इनकी आदत सभी को पसंद आने लगी। अन्य लोग भी मैदान में चुनाव के लिए उतरे, मगर बहुमत लेघा परिवार के पक्ष में ही गया। 2015 में लेघाराम ने अपने पोते ओम प्रकाश को सरपंच का चुनाव लड़वाया।

अपने संबंध व ग्रामीणों के करवाए गए कार्यों के कारण उन्हें जरा भी हिचक नहीं थी कि वे जीतेंगे या हारेंगे। परिणाम आया तो तीसरी बार भी लेघा परिवार से ही गांव को सरपंच बना। ओम प्रकाश का कार्यकाल पूरा हो गया है। पंचायत इस बार लॉटरी में फिर से महिला सीट के लिए आरक्षित हो गई। लेघा परिवार ने अपनी पौत्रवधू द्रोपदी को सरपंच बनने की अपनी विरासत की कतार में खड़ा कर दिया है। अब यह तो 17 को सामने आएगा कि सामलसर के मतदाता इस बार भी लेघा परिवार से सरपंच चुनते हैं या उन्हें किसी अन्य पर भरोसा है।

पांच साल से थी सरपंच बनने की चाह, अब नौकरी छोड़ आया

श्रीडूंगरगढ़ | सात साल पहले सऊदी अरब के दमाम शहर में लिखमीसर दिखणादा गांव के कैलाश भार्गव (33) की मार्बल कंपनी में नौकरी आ गई। गांव में रोजगार के अवसर नहीं थे। ऐसे में कैलाश गांव छोड़ना पड़ा। दो साल तक वहां काम किया। वहां का विकास देखा तो अपने गांव में भी ऐसा ही करने की मन में आस उसके जगने लगी। 2015 में गांव का परिसीमन हुआ तो उसके गांव को भी ग्राम पंचायत बना दिया गया। उस समय चुनाव लड़ने की मन में आई। मगर लॉटरी में सीट आरक्षित हो गई। पांच साल तक गांव के युवाओं से सोशल मीडिया द्वारा जुड़ा रहा। इस बार फिर लॉटरी हुई। सीट सामान्य हो गई। पांच साल से जो मन में था वह करने की चाह ने कैलाश को 50 हजार रुपए महीने की नौकरी छोड़ने के लिए मजबृर कर दिया। कंपनी से इस्तीफा दिया। 29 दिसंबर को गांव में आ गया। नामांकन दाखिल किया। अब अन्य दावेदारों के साथ ही गांव में प्रचार-प्रसार में लगा है। बकौल कैलाश, गांव का पिछड़ापन ही उसे दूर ले गया था। विदेश में रहते हुए उसे लगा कि अगर गांव का विकास हो जाए तो उसके जैसे अन्य युवाओं को अपना घर ना छोड़ना पड़े। अब चुनाव जीते या हारे, वह अपने गांव के विकास के लिए यहीं रहेगा, यहीं पर काम करेगा।

कैलाश भार्गव।

Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
X
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
Nokha News - rajasthan news publicity stopped polling team will come today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना