• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Bikaner News rajasthan news resident doctors on strike after waiting for six hours more than 100 patients went to the lat without treatment

रेजिडेंट डाक्टर्स हड़ताल पर...छह घंटे इंतजार के बाद बिना इलाज ही लाैट गए 100 से ज्यादा मरीज

Bikaner News - रेजिडेंट डाक्टर्स की हड़ताल का असर पहले दिन ही पीबीएम हॉस्पिटल में नजर अाया। छह घंटे लंबे इंतजार के बाद साै से...

Dec 04, 2019, 08:47 AM IST
रेजिडेंट डाक्टर्स की हड़ताल का असर पहले दिन ही पीबीएम हॉस्पिटल में नजर अाया। छह घंटे लंबे इंतजार के बाद साै से अधिक राेगियाें काे बिना उपचार ही लाैटना पड़ा। ग्रामीण क्षेत्रों से अाए राेगियाें काे सबसे ज्यादा परेशानी हुई।

पीजी में फीस वृद्धि सहित विभिन्न मांगाें काे लेकर रेजिडेंट डाक्टर्स मंगलवार काे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। इसे देखते हुए मेडिकल काॅलेज प्रशासन ने सीनियर रेजीडेंट अाैर लेक्चरर की ड्यूटियां लगा दी हैं। लेकिन डेंगू अाैर मौसमी बीमारियाें के प्रकोप के कारण हॉस्पिटल में इन दिनाें राेगियाें की संख्या बढ़ी हुई है। हड़ताल के कारण मेडिसिन आउटडोर में छह घंटे इंतजार करने के बाद भी काफी राेगियाें का नंबर नहीं अाया। उन्हें बिना उपचार ही लाैटना पड़ा। एेसे ही हालात ट्राेमा सेंटर में देखने काे मिले। दाेपहर दाे बजे तक हाथ-पैर में फ्रैक्चर वाले राेगी स्ट्रेचरों पर डॉक्टर का इंतजार करते नजर अाए। आउटडोर का समय सुबह नाै से दाेपहर तीन बजे तक है, लेकिन दाे बजे बाद अधिकांश सीनियर डॉक्टर जा चुके थे।

420 रेजिडेंट हड़ताल पर

पीबीएम हॉस्पिटल रेजिडेंट डाक्टराें के भरोसे ही चलता है। अाउटडाेर, वार्ड, अाईसीयू, ऑपरेशन थिएटर सहित सभी फैकल्टी में रेजिडेंट्स ही चौबीस घंटे राेगियाें काे संभालते हैं। एक साथ 420 रेजिडेंट के हड़ताल पर चले जाने से पीबीएम हाॅस्पिटल की व्यवस्था लड़खड़ा गई है। राेगियाें काे पूरा भार सीनियर डाॅक्टर्स अाैर सीनियर रेजिडेंट पर अा गया है।

अाॅपरेशन भी टालने पड़े

हड़ताल के पहले ही दिन पीबीएम हॉस्पिटल में ऑपरेशन टाल दिए गए। ट्राेमा सेंटर में बेहोश करने वाले मात्र दाे-तीन लाेगाें के ही ऑपरेशन हा़े सके। सर्जरी, हड्डी जाेड़, न्यूराे, यूरोलॉजी विभाग में भी केवल इमरजेंसी ऑपरेशन ही किए गए। रुटीन में विभिन्न फैकल्टी में 30-35 ऑपरेशन प्रतिदिन हाेते हैं, लेकिन मंगलवार काे 20-25 ही हा़े सके।

यह है मांगे : रेजिडेंट डाक्टर पीजी में 20 गुना फीस वृद्धिकाे वापस लेने, सभी नाॅन सर्विस चिकित्सकों काे स्टाई पेंड की के बेसिक अाधार पर एवं इन सर्विस चिकित्सकों काे वर्किंग प्लेस के अाधार पर एचअारए देने, इन सर्विस चिकित्सकाें काे एसअार शिप के लिए एनअाेसी एक साल के लिए सभी मेडिकल काॅलेज में मान्य करने तथा सभी मेडिकल काॅलेजाें में केन्द्रीयकृत सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम करने अादि मांगाें काे लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए हैं।



X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना