• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bikaner
  • Bikaner News rajasthan news tell me what else you want ration vegetable will come home as soon as you try it food and dry food for needy people medicines are available now even a thousand rupees cash

बताअाे अाैर क्या चाहिए...फाेन करते ही राशन-सब्जी घर अाएगी, जरूरतमंदाें काे खाना-सूखी सामग्री, दवाइयां उपलब्ध, अब एक हजार रुपए नकद भी

Bikaner News - विदेश से अाए 95 लाेगाें पर विशेष नजर, इनमें से 35 एप्प की जद में अब तक काेराेना फ्री रहे बीकानेर के एसपी मेडिकल...

Mar 27, 2020, 07:11 AM IST
विदेश से अाए 95 लाेगाें पर विशेष नजर, इनमें से 35 एप्प की जद में

अब तक काेराेना फ्री रहे बीकानेर के एसपी मेडिकल काॅलेज में गुरुवार काे भी 12 लाेगाें की जांच हुई। इनमें से किसी में बीमारी की पुष्टि नहीं हुई हैं। इनमें 12 में से छह लाेग बीकानेर जिले के हैं। एेसे में अब तक मेडिकल काॅलेज की काेराेना लैब में 53 लाेगाें की जांच हाे चुकी है जिनमें से किसी में बीमारी की पुष्टि नहीं हुई है। इन 53 लाेगाें में 28 बीकानेर जिले के हैं। बाकी लाेग या ताे अन्य जिलाें से अाए या उनके सैंपल जांच के लिए लाए गए।

बीकानेर इसी तरह काेराेना फ्री रहे इसके लिए स्वास्थ्य विभाग उन सभी लाेगाें पर पूरी नजर टिकाए हैं जाे विदेश से अाए हैं देश के उन हिस्साें से अाए हैं जहां काेराेना का प्रभाव ज्यादा है। इन पर नजर रखने के लिए अास-पास रहने वाले सरकारी कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई है। अब तक एेसे 95 लाेग विशेष सतर्कता की श्रेणी में हैं। इन पर नजर रखने के लिए गूगल मैप अाधारित एक एप भी स्वास्थ्य अधिकारी उपयाेग में ले रहे हैं। इन 95 में से 35 लाेगाें काे उस एप से जाेड़ दिया गया है। अब ये थाेड़ा भी इधर-उधर हाेते हैं ताे लाेकेशन नाेटिफिकेशन एक्टिव हाे जाता है। काेविड ट्रेकर से अलर्ट हाेकर स्वास्थ्य टीमें तुरंत वहां संपर्क कर लेती है।

पीबीएम में अाज पीपीई किट, एन-मास्क की खेप पहुंचेगी

काेराेना के प्रकाेप काे देखते हुए जांच अाैर उपचार काम के बंदाेबस्त में लगे कर्मचारियाें-डाक्टर के सुरक्षा उपकरणाें में अब काेई कमी नहीं हरेगी। हाॅस्पिटल सुपरिंटेंडेंट डा.पी.के.बैरवाल के मुताबिक, डाक्टर-नर्सेज की सुरक्षा में काम अाने वाली पीपीई किट, एन-श्रेणी के मास्क सहित सभी जरूरी सामान अभी उपलब्ध है। इसके अलावा एक खेप शुक्रवार सुबह मिल जाएगी। जयपुर से यह सामान लेकर कर्मचारी अा रहा है। बाहर से भी कुछ अाैर सामान मंगवाया जा रहा है। पीबीएम हाॅस्पिटल में लगभग पांच साै राेगियाें के रखने का इंतजाम हाे चुका है।

एेसे हर परिवार की तलाश शुरू जिसे भाेजन की जरूरत, अापकी नजर में हैं ताे बता सकते हैं

दानदाताअाें, समाजसेवियाें के सहयाेग से बीकानेर के हर उस घर में पका हुअा खाना पहुंचाया जा रहा है जहां लाॅक डाउन के कारण राेजमर्रा की जरूरतें पूरी करने में दिक्कत अा रही है। अब तक हर दिन 12500 पैकेट पहुंचाने तक अांकड़ा पहुंच चुका है। इसके अलावा सभी पार्षदाें, सरकार कर्मचारियाें से कहा गया है कि वे अपने नजदीक काेई भी एेसा जरूरतमंद परिवार हाे ताे उसकी जानकारी दें ताकि वहां खाना पहुंचाया जा सके। जाे लाेग खाना बना सकते हैं लेकिन राशन सामग्री की दिक्कत हैं उन्हें राशन के पैकेट दिए जाएंगे। अब तक एेसे लगभग 10 हजार पैकेट तैयार हाे चुके हैं। किसी की नजर में एेसे परिवार हैं ताे उनकी जानकारी जिला रसद अधिकारी कार्यालय के नियंत्रण कक्ष नंबर 0151-2226010 पर दे सकते हैं। यह कंट्राेल रूम संबंधित क्षेत्र के अधिकृत अधिकारी-कर्मचारी काे इसकी सूचना तुरंत देगा।


ये तस्वीर बदलनी चाहिए...कुछ लाेग समझें, कुछ पुलिस भी साेचें

लाॅक डाउन के दाैरान बेवजह सड़काें पर घूम रहे लाेगाें काे मुर्गा बनाने से लेकर सरेराह माफी मंगवाने के दृश्य बीकानेर में भी दिखने लगे हैं। एेसे में जहां बेवजह घर से बाहर निकलने वालाें काे यह समझ लेना चाहिए कि यह बंदाेबस्त लाेगाें की जान बचाने के लिए हैं। जरूरी नहीं हाे तब तक बाहर नहीं निकले। दूसरी अाेर पुलिसकर्मियाें काे भी सरेराह सजा देने से पहले राहगीर काे अपनी बात कहने का माैका देकर थाेड़ा उनकी बात काे समझना भी चाहिए। डंडे के दम पर एक एेसे डाक्टर काे उठ-बैठ करवाने का वीडियाे गुरुवार शाम काे वायरल हुअा जाे ट्राेमा सेंटर में ड्यूटी देकर निकला। सरकार ने उसे तुरंत पाली में ज्वाइन करने का अादेश दिया ताे वह अारटीअाे अाॅफिस परमिशन लेने गया। डाक्टर का एप्रिन, पहचान, मास्क, वाजिब कारण सबकुछ मिल गए ताे हेलमेट नहीं हाेने के कारण उसे बेइज्जत करने पर डाक्टर्स बहुत दुखी है। प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, केन्द्र-राज्य के चिकित्सा मंत्रियाें काे इस वीडियाे सहित अपनी पीड़ा भेजी है।

}राशन की दुकान पर लिखने हाेंगे व्हाट्सएप नंबर, बगैर अतिरिक्त चार्ज करनी हाेगी हाेम डिलीवरी}स्विग्गी, जाेमेटाे से हाेम डिलीवरी पर बात, बाजार मूल्य पर पसंद की सब्जियां एप के जरिये घर पहुंचाने की तैयारी}व्यापारिक संगठनाें से हुई बात, वार्ड-माेहल्ले तक के दुकानदाराें की बन रही लिस्ट

}बीपीएल, स्टेट बीपीएल, अंत्याेदय श्रेणी के पात्र खाताधारकाें के खाते में एक हजार रुपए जमा हाेंगे।


गुजरात में काम नहीं मिलने पर ट्रक में भरकर पंजाब जा रहे 58 लाेगाें काे पुलिस ने पकड़ा

क्राइम रिपाेर्टर | बीकानेर/जामसर

काेराेना वायरस के संक्रमण के कारण गुजरात में काम नहीं मिलने पर ट्रक ड्राइवर 58 लाेगाें काे अपनी गाड़ी में तिरपाल के नीचे छिपाकर पंजाब ले जा रहा था। जामसर थाना पुलिस ने नाकाबंदी के दाैरान उसे गिरफ्तार कर लिया अाैर ट्रक में भरे सभी लाेगाें की स्क्रीनिंग करवाई गई है।

काेराेना वायरस के संक्रमण के कारण देश में लाॅकडाउन है। जिले में धारा 144 लगा रखी है। एेसे में पंजाब स्थित फिराेजपुर जिला निवासी ट्रक ट्राेला ड्राइवर गुरजंटसिंह जटसिख अपनी गाड़ी में 58 लाेगाें काे तिरपाल के नीचे छिपाकर गुजरात के गांधीधाम से पंजाब ले जा रहा था। दिन में 3.20 बजे जामसर थाना पुलिस गश्त करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग 62 पर स्थित धर्मकांटा के पास पहुंची अाैर वहां से गुजर रहे ट्रक काे राेका ताे उसके कैबिन में सात लाेग बैठे नजर अाए। पुलिस ने ट्रक की तलाशी ली ताे तिरपाल के नीछे छिपाकर ले जाए जा रहे 58 लाेग मिले। पुलिस ने इन सभी काे ट्रक से उतारकर पूछताछ की ताे सामने अाया कि गुजरात में काम नहीं मिलने के कारण ये सभी लाेग पंजाब जा रहे थे। ड्राइवर काे प्रत्येक व्यक्ति के हिसाब से 1000 रुपए देने का लालच दिया ताे वह तैयार हाे गया। पुलिस ने ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। ट्रक जप्त कर लिया है। जामसर पुलिस थाने के एसएचअाे गाैरव खिड़िया ने बताया कि ट्रक में माैजूद लाेगाें के नाम पते पूछकर पंजाब में उनके जिलाें के एसपी काे पत्र लिखकर घटनाक्रम की जानकारी दी जाएगी।

घराें में अाइसाेलेट लाेगाें पर काेविड ट्रेकर से निगाह बाहर निकलते ही अलर्ट हाे जाती है हैल्थ टीम

पुलिस कप्तान प्रदीप मोहन
कहते हैं...लाेगाें काे समझा रहे हैं


एेसा वीडियाे सामने अाने से पहले काेराेना के हालात पर प्रेस ब्रीफिंग में पुलिस अधीक्षक प्रदीप माेहन शर्मा ने कहा, दूध की गाड़ियां, मंडी से सामान लाने वाली लाेड बाॅडी, जरूरी काम से अा-जा रहे लाेगाें काे नहीं राेका जा रहा है। गैर जरूरी अावाजाही करने वालाें काे समझा रहे हैं। कहीं-कहीं पुलिसकर्मी थाेड़ा सख्त व्यवहार करते हैं लेकिन वे भी लंबी ड्यूटी कर रहे हैं। अब अतिरिक्त हाेमगार्ड मिले हैं। थानाें में 10-10 अादमी मिले हैं। एेसे में पुलिसकर्मियाें की लगातार ड्यूटी 12 घंटे से घटाकर अाठ से नाै घंटे कर रहे हैं। इसका असर भी व्यवहार पर पड़ेगा। धारा 144 का उल्लंघन करने पर पुलिस ने अब तक चार एफअाईअार की है। इसके अलावा 450 वाहनाें पर कार्रवाई की है।

राज्य सरकार ने जरूरतमंद लाेगाें काे बांटने के लिए 75 लाख रुपए भेजे


मेडिकल टीम बुलाकर थाने के बाहर करवाई सभी 58 लाेगाें की स्क्रीनिंग

ट्रक में 58 लाेग मिलने पर पुलिस उन्हें जामसर थाने ले गई। काेराेना वायरस के संक्रमण काे देखते हुए सभी लाेगाें काे थाने के बाहर ही एक-दूसरे से दूरी बनाकर रखा गया। पुलिसकर्मियाें ने भी एहतियात बरतते हुए इन सभी से दूरी बनाए रखी। जामसर पीएचसी में सूचना देकर मेडिकल टीम बुलाई गई जिसने थाने के बाहर ही सभी 58 लाेगाें की स्क्रीनिंग की। भामाशाहाें के सहयाेग से इन सभी के खाने, मास्क अाैर सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई। एसएचअाे के मुताबिक गाड़ियाें की व्यवस्था कर ट्रक में मिले सभी लाेगाें काे पंजाब पहुंचाया जाएगा।

लाॅकडाउन का उल्लंघन ताे हुअा ही, हाइवे पर चैकिंग की पाेल भी खुली

पूरे देश में लाॅकडाउन है अाैर लाेगाें काे घराें से निकलने की मनाही है। एेसे में ही ट्रक में 58 लाेगाें काे भरकर ले जाने की घटना ने लाॅकडाउन के उल्लंघन के साथ ही जिलाें में हाइवे पर चैकिंग व्यवस्था की पाेल भी खाेलकर रख दी। गुजरात के गांधीधाम से 58 लाेगाें काे भरकर रवाना हुअा ट्रक कई जिलाें में हाइवे से गुजरता हुअा बीकानेर तक पहुंच गया। इस दाैरान किसी ने भी ट्रक काे राेककर तलाशी नहीं ली। इससे पता चलता है कि हाइवे पर चैकिंग अाैर सुरक्षा व्यवस्था के हालात कैसे हैं। अाखिरकार बीकानेर पुलिस की मुस्तैदी से ट्रक पकड़ा गया।

हैल्थ रिपाेर्टर | बीकानेर

राशन की दुकान खुली है। अाप वहां जाकर सामान ला सकते हैं लेकिन भीड़ न करें क्याेंकि लाॅक डाउन जैसी पूरी व्यवस्था का सिर्फ एक ही मकसद है लाेगाें के बीच दूरी बनी रहे ताकि काेराेना का फैलाव न हाे। एेसे में अगर दुकानाें पर भीड़ है ताे वहां एक नंबर लिखा मिलेगा। उस नंबर पर व्हाट्सएप कर दें। अपना एड्रेस बताएं। दुकानदार थाेड़ी देर में घर पर सामान भेज देगा। इस हाेम डिलीवरी का अतिरिक्त चार्ज भी नहीं हाेगा।

बीकानेर जिला प्रशासन ने समूचे शहर के लिए यह व्यवस्था बनाई है अाैर इसके लिए माेहल्ला-वार्ड तक की दुकानाें की सूची बनाई जा रही है। सबकाे अपने व्हाट्सएप नंबर दुकान पर लिखने हाेंगे। इन दुकानाें पर सामान हर वक्त उपलब्ध रहे इसलिए मंडी के व्यापारियाें अाैर व्यापारिक संगठनाें से चर्चा करने के बाद मंडी से बाजार तक सामान लाने-ले जाने वाली सभी गाड़ियाें की अावाजाही जारी रहेगी। इतना ही नही स्विग्गी, जाेमेटाे जैसी कंपनियाें से प्रशासन ने बात की है। एक एप के जरिये घराें तक जरूरत अाैर पसंद की सब्जियां भी बाजार भाव पर पहुंचाने का बंदाेबस्त हाे रहा है। इसी तरह डेयरी बूथ से दूध भी अा सकता है। दवाई काे भी इसमें जाेड़ने की काेशिश हाे रही है। हाॅस्पिटल जाना है ताे जा सकते हैं रास्ते में पुलिसकर्मी काे बताना भर हाेगा वाजिब वजह पर वह जाने देगा। मतलब यह कि लाॅक डाउन कहने में एक कर्फ्यू जैसे हालात हाे सकते हैं लेकिन राेजमर्रा की जरूरत से जुड़ी किसी चीज के लिए परेशानी नहीं हाेगी। बस, हमें इतना करना है कि धैर्य रखें। अाॅर्डर कर दें। सामान घर अा जाएगा। नहीं अाए ताे पास की दुकान पर चले जाएं। वहां भीड़ की बजाय एक मीटर की दूरी के मानक काे मानते हुए कतारबद्ध खड़े हाें अाैर अपनी जरूरत का सामान ले अाएं। ये अाैर एेसी कई व्यवस्थाअाें अाैर काेराेना से जुड़ी अब तक की स्थितियाें का जिक्र जिला प्रशासन के अधिकारियाें ने गुरुवार शाम काे पत्रकाराें के सामने किया। जिला कलेक्टर कुमारपाल गाैतम, एसपी प्रदीप माेहन शर्मा, अतिरिक्त कलेक्टर ए.एच.गाैरी, पीबीएम हाॅस्पिटल सुपरिंटेंडेंट डा.पी.के.बैरवाल, सीएमएचअाे डा.बी.एल.मीणा, जनसंपर्क विभाग के संयुक्त निदेशक विकास हर्ष अादि इस दाैरान माैजूद रहे।

काेराेना फ्री बीकानेर }12 नए लाेगाें की जांच, किसी में बीमारी नहीं, अब तक हाे चुकी 53 की जांच


}खाली सड़कों पर डंडों-जूतों की खटखट से खिड़कियों के पीछे बढ़ रहा खौफ

बीकानेर जिला प्रशासन के बंदाेबस्त

} थड़ी गाड़ा, दिहाड़ी मजदूरी करने वाले, पंजीकृत श्रमिक जिनके खाते नहीं उनका सर्वे करने के बाद नकद राशि भी दी जा सकेगी।

संदिग्ध मिले

53

पॉजिटिव मिले

00

नेगेटिव मिले

53

रिपोर्ट आई

53

जांच की

53

**

शुक्रवार, 27 मार्च, 2020**

बड़ी लापरवाही } ड्राइवर काे प्रत्येक व्यक्ति से लेने थे हजार रुपए, जामसर थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना