अांग्ल शासन सत्ता का अंध समर्थक रहा था बीकानेर राज्य

Bikaner News - मुगल साम्राज्य के विघटन के बाद भारत में ब्रिटिश कंपनी राज एवं तदंनतर ब्रिटिश साम्राज्य का उदय हुअा। हमने पूर्व...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:40 AM IST
Bikaner News - rajasthan news the bengal government was a supporter of the state of bikaner
मुगल साम्राज्य के विघटन के बाद भारत में ब्रिटिश कंपनी राज एवं तदंनतर ब्रिटिश साम्राज्य का उदय हुअा। हमने पूर्व में इस विषय पर सविस्तार चर्चा की थी कि उन्नीसवी सदी में किसा तरह से बीकानेर के शासक सूरत सिंह ने अपनी रियासत के सामंताें के विद्राेहपूर्ण रवैये पर काबू पाने के लिए सन् 1818 में ब्रिटिश साम्राज्य की सर्वाेच्च सत्ता की अधिनता के अंतर्गत मैत्रि-संधि संपन्न कर ली। इस संधि के अधीन विद्राेही सामंताें अाैर ठाकुराें काे दबाने के लिए ब्रिटिश सेनापति अालनेर ने अपनी सेना सहित रियासत में प्रवेश कर िवद्राेहियाें काे ताे ठंडा कर दिया किंतु, बीकानेर राज्य की राजसत्ता अांग्ल सत्ता की अधीनस्थ बन कर रह गई। इतिहास साक्षी है कि सन् 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संघर्ष में जहां झांसी की रानी लक्ष्मी बाई, पेशवा घूघूं पंत, मुगल सम्राट बहादुरशाह, बेगम जीनत महल, अंतिम मराठा पेशवा बाजीराव द्वितीय के दत्तक पुत्र नाना साहब, बेगम हजरत महल अादि ने अाजादी की लड़ाई में अपना सर्वस्व झाेंक दिया वहीं हमारे बीकानेर के नरेश सरदार सिंह ने जी जान से अंग्रेजाें की सहायता की। यद्यपि, इन सेवाअाें के पुरस्कार के रूप में अंग्रेज सरकार ने बीकानेर के नरेश सरदार सिंह काे खिलअत तथा 11 अप्रैल 1861 की सनद के द्वारा सिरसा जिले के 41 गांवाें का टीबी-परगना प्रदान किया था। तदनंतर बीकानेर राज्य अाैर यहां के शासक अांग्ल सत्ता के चहेते बन कर उभरे अाैर अांग्ल सत्ता का अंध समर्थन इनके लिए गाैरव का विषय बन गया था। (लगातार)

X
Bikaner News - rajasthan news the bengal government was a supporter of the state of bikaner
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना