बीकानेर

--Advertisement--

श्रीगंगानगर / अमृतधारी सिख युवक के केश काट लेने की घटना को लेकर सिख समुदाय में रोष, एक अारोपी राउंडअप



  • धार्मिक भावनाओं को आहत करने, जातिसूचक गालियां निकालने व मारपीट के आरोप

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 04:06 PM IST

पीलीबंगा. खरलिया गांव में बीते सोमवार शाम को कुछ लोगों द्वारा एक अमृतधारी सिख युवक के केश काट लिए जाने की घटना को लेकर क्षेत्र के सिख समुदाय में रोष फैल गया। घटना को लेकर विभिन्न सिख संगठनों के लोग मंगलवार सुबह पीलीबंगा थाने में एकत्रित हो गए। आक्रोशित सिख समुदाय के लोगों ने थाने का घेराव करते हुए खरलियां निवासी राजवीर खलसा पुत्र गुरमेल सिंह जाति मजबी सिख का अपहरण कर उसके केश काट लिए जाने के आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की।

 

गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया: मामले की गंभीरता को देखते हुए डीवाईएसपी रावतसर दिनेश राजोरा भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सिख समुदाय के प्रतिनिधिमंडल में शामिल राजस्थान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान तेजेंद्र पाल सिंह टिम्मा, गुरुद्वारा श्री महताबगढ़ साहिब गोलूवाला की मुख्य सेवादार बीबी हरमीत कौर, पूर्व सरपंच नायब सिंह, एक नूर खालसा फौज के तहसील प्रधान निर्मल सिंह, बाबा दर्शन सिंह व रेशम सिंह को आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उनकी शीघ्र गिरफ्तारी करने का भरोसा दिलाया।

 

आंदोलन करने की दी चेतावनी: सिख समुदाय ने आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलनात्मक कदम उठाने की चेतावनी भी दी। पुलिस ने घटना को लेकर आरोपी रमेश सींवर, सीताराम बिश्नोई व अमरू राम निवासी थिराजवाला के विरुद्ध अपहरण, मारपीट, जाति सूचक गालियां देने व धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी रमेश सींवर को राउंडअप कर लिया।

 

ये है मामला: घटना को लेकर पीड़ित राजवीर सिंह पुत्र गुरमेल सिंह जाति मजबी सिख द्वारा दर्ज करवाई गई रिपोर्ट के अनुसार 4 दिन पहले वह पीलीबंगा रेलवे स्टेशन पर अपने रिश्तेदारों को छोड़ने आया था जहां उनके रुपए निकल गए थे। रुपए निकलने पर रिश्तेदारों ने उस पर शक करते हुए रुपए निकालने का आरोप लगाया। बीते सोमवार को वह हरदीप सिंह के खेत में ग्वार काट कर शाम को वापस घर जा रहा था।

 

रास्ते में उसके पिता गुरमेल सिंह व अमरूराम उसे बाइक पर बैठाकर बात करने के बहाने थिराजवाला की रोही में स्थित चक 16 एलजीडब्लयू में रमेश सींवर की ढाणी में ले गए। वहां पहले से मौजूद रमेश कुमार सींवर व सीता राम बिश्नोई ने चोरी करने का आरोप लगाते हुए थाप-मुक्कों से मारपीट की व जातिसूचक गालियां निकालते हुए जबरन शराब पिलाने का प्रयास किया। उसके द्वारा मना करने पर आरोपियों ने कैंची से उसके केश काट दिए। पुलिस ने पीड़ित की रिपोर्ट पर आरोपितों के विरुद्ध धार्मिक भावनाओं को आहत करने, जातिसूचक गालियां निकालने व मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। 

--Advertisement--
Click to listen..