• Home
  • Rajasthan News
  • Bundi News
  • विराग सागर महाराज का गोठड़ा में ससंघ मंगल प्रवेश, अगवानी की
--Advertisement--

विराग सागर महाराज का गोठड़ा में ससंघ मंगल प्रवेश, अगवानी की

भास्कर न्यूज | बूंदी का गोठड़ा जैन आचार्य विराग सागर महाराज ने बूंदी का गोठड़ा स्थित जैन मंदिर के नोहरे में...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:30 AM IST
भास्कर न्यूज | बूंदी का गोठड़ा

जैन आचार्य विराग सागर महाराज ने बूंदी का गोठड़ा स्थित जैन मंदिर के नोहरे में प्रवचन देते हुए कहा कि संसार में प्रत्येक प्राणी तन, मन, धन से दुखी है। कोई परिवार से कोई पड़ोसी से दुखी है। इन सारे दुखों से मुक्ति का उपाय भक्ति है। उन्होंने कहा कि भारत में दुखी व्यक्ति परमात्मा या गुरु के चरणों में पहुंचता है। वह द्वार भी सबके लिए नहीं श्रद्धालुओं के लिए खुलता है। राजा चक्रवर्ती भिखारी अमीर गरीब का नहीं भक्ति का परिचय वहां देना पड़ता है।

इससे पूर्व जैन आचार्य संघ का आचार्य विरागसागर महाराज का सत्संग सुबह बूंदी का गोठड़ा में मंगल प्रवेश हुआ। कस्बे के लोगों ने गांव के बाहर जाकर संघ की अगवानी की पाद प्रक्षालन कर आरती उतारी। तत्पश्चात नगर भ्रमण कराया। इस अवसर पर कई ग्रामीणों ने जैन संतों पर पुष्प वृष्टि की जैन आचार्य, 13 मुनि, 28 माताजी, 5छुल्लक साथ चल रही थे। संघ मालपुरा से सम्मेद शिखरजी झारखंड जा रहा है। शाम 5बजे संघ का धोवड़ा के लिए मंगल विहार हो गया। इस अवसर पर जजावर, आवां -दूनी, देवली, मंडी कोटा रानीपुरा सहित अन्य गांवों के श्रद्धालु उपस्थित थे। जजावर जैन समाज के लोगों ने रुणीजा गांव पहुंचकर जैन आचार्य एवं अन्य मुनियों की अगवानी की पाद प्रक्षालन के बाद श्रीफल भेंट कर संत आशीर्वाद प्राप्त किया।

बूंदी का गोठड़ा. जैन मंदिर नोहरे में आयोजित धर्मसभा में उपस्थित समाजबंधु।