• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bundi
  • बूंदी बार एसोसिएशन के चुनाव में कैलाशचंद नामधराणी बने नए अध्यक्ष
--Advertisement--

बूंदी बार एसोसिएशन के चुनाव में कैलाशचंद नामधराणी बने नए अध्यक्ष

Bundi News - वकालत में 42 साल का अनुभव रखने वाले कैलाश नामधराणी अभिभाषक परिषद बूंदी के नए अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। निर्वाचन...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:30 AM IST
बूंदी बार एसोसिएशन के चुनाव में कैलाशचंद नामधराणी बने नए अध्यक्ष
वकालत में 42 साल का अनुभव रखने वाले कैलाश नामधराणी अभिभाषक परिषद बूंदी के नए अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। निर्वाचन अधिकारी एडवोकेट अनुराग शर्मा ने बताया कि अभिभाषक परिषद की नई कार्यकारिणी की घोषणा हो गई।

इसमें अध्यक्ष कैलाशचंद नामधराणी, उपाध्यक्ष पृथ्वीराजसिंह हाड़ा, सचिव नागेंद्रसिंह हाड़ा, संयुक्त सचिव मीना जांगिड़, कोषाध्यक्ष महेंद्रकुमार जैन, पुस्तकालयाध्यक्ष सुरेंद्र वर्मा। वहीं पांच सदस्यीय कार्यकारिणी में दिवाकर जैन, मोहम्मद वसीम, नंदिनी विजय, भीमराज गोचर और जगदीशप्रसाद गुर्जर शामिल हैं। अध्यक्ष पद के लिए कैलाशचंद नामधराणी और चंद्रशेखर शर्मा के बीच करीबी मुकाबला रहा। नामधराणी को 137 वोट, करीबी प्रतिद्वंदी चंद्रशेखर शर्मा को124 वोट और तीसरे प्रत्याशी जगदीश गुप्ता को 80 वोट मिले। तीन वोट खारिज हो गए। इस तरह 13 वोट से नामधराणी चुन लिए गए। वहीं उपाध्यक्ष पद पर पदमकुमार जैन को 106 वोट, पवनकुमार मलिक को 99 और पृथ्वीराजसिंह हाड़ा को 132 वोट मिले। सात वोट खारिज हो गए। इस तरह हाड़ा 33 वोट से उपाध्यक्ष चुने गए। वहीं सचिव पद के लिए नगेंद्र सिंह हाड़ा को 152 वोट, प्रदीपकुमार शर्मा को 146 वोट, सूर्यकांत वशिष्ठ को 33 वोट मिले। 13 वोट खारिज हो गए। करीबी मुकाबले में नगेंद्र छह वोट से सचिव चुने गए।

बूंदी. बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारी समर्थक वकीलों के साथ जश्न मनाते हुए

भास्कर न्यूज|बूंदी

वकालत में 42 साल का अनुभव रखने वाले कैलाश नामधराणी अभिभाषक परिषद बूंदी के नए अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। निर्वाचन अधिकारी एडवोकेट अनुराग शर्मा ने बताया कि अभिभाषक परिषद की नई कार्यकारिणी की घोषणा हो गई।

इसमें अध्यक्ष कैलाशचंद नामधराणी, उपाध्यक्ष पृथ्वीराजसिंह हाड़ा, सचिव नागेंद्रसिंह हाड़ा, संयुक्त सचिव मीना जांगिड़, कोषाध्यक्ष महेंद्रकुमार जैन, पुस्तकालयाध्यक्ष सुरेंद्र वर्मा। वहीं पांच सदस्यीय कार्यकारिणी में दिवाकर जैन, मोहम्मद वसीम, नंदिनी विजय, भीमराज गोचर और जगदीशप्रसाद गुर्जर शामिल हैं। अध्यक्ष पद के लिए कैलाशचंद नामधराणी और चंद्रशेखर शर्मा के बीच करीबी मुकाबला रहा। नामधराणी को 137 वोट, करीबी प्रतिद्वंदी चंद्रशेखर शर्मा को124 वोट और तीसरे प्रत्याशी जगदीश गुप्ता को 80 वोट मिले। तीन वोट खारिज हो गए। इस तरह 13 वोट से नामधराणी चुन लिए गए। वहीं उपाध्यक्ष पद पर पदमकुमार जैन को 106 वोट, पवनकुमार मलिक को 99 और पृथ्वीराजसिंह हाड़ा को 132 वोट मिले। सात वोट खारिज हो गए। इस तरह हाड़ा 33 वोट से उपाध्यक्ष चुने गए। वहीं सचिव पद के लिए नगेंद्र सिंह हाड़ा को 152 वोट, प्रदीपकुमार शर्मा को 146 वोट, सूर्यकांत वशिष्ठ को 33 वोट मिले। 13 वोट खारिज हो गए। करीबी मुकाबले में नगेंद्र छह वोट से सचिव चुने गए।

चुनाव में इनको यह मत मिले

सहसचिव पद के लिए कुमारी मीना जांगिड़ को 130 वोट, विनोदकुमार शृंगी को 127 वोट,शंभू मेघवाल को 79 वोट मिले। 8 वोट खारिज हो गए। बेहद करीबी मुकाबले में तीन वोट से मीना जांगिड़ जीत गई। कोषाध्यक्ष पद के लिए महेंद्रकुमार जैन निर्विरोध घोषित किए गए। पुस्तकालयाध्यक्ष पद के लिए रणधीर सिंह को156 वोट और सुरेंद्र कुमार वर्मा को 180 वोट मिले। आठ वोट खारिज हो गए। इस तरह 24 वोट से वर्मा जीते। वहीं, पांचों कार्यकारिणी सदस्य निर्विरोध चुन लिए गए। निर्वाचन अधिकारी एडवोकेट अनुराग वर्मा, अयूब अली, सोहनलाल जैन और सहायक निर्वाचन अधिकारी अब्दुल हनीफ अंसारी थे। बार रूम में वोटिंग के दौरान प्रत्याशी साथी वकीलों को अपने पक्ष में वोट करने के प्रयास करते रहे। पूरे दिन कोर्ट कैम्पस में काफी गहमागहमी रही। अध्यक्ष पद पर हारे चंद्रशेखर शर्मा पहले अध्यक्ष रह चुके हैं। यह उनकी लगातार दूसरी हार है।

न कोई आश्वासन, न वादा किया

साथी वकीलों की शुभकामनाएं स्वीकार करते हुए नामधराणी ने अपनी दो प्राथमिकताएं गिनाई। साथ ही अपनी जीत की वजह गिनाते हुए कहा कि उन्होंने अपने साथियों को झूठे सपने नहीं दिखाए। वोट के लिए कोई आश्वासन नहीं दिया ना कोई वादा किया। बैंच बार को पूरी अहमियत दे, उनका भी सम्मान करे, यह उनकी पहली प्राथमिकता होगी, साथ ही वे साथी वकीलों के लिए वेलफेयर फंड बनाना चाहते हैं। ताकि किसी साथी के निधन पर उनके परिवार को एक लाख रुपए और गंभीर बीमारी या गंभीर घायल होने पर कम से कम 50 हजार रुपए मिले। फिलहाल बार की ओर से निधन या गंभीर बीमारी, घायल होने दोनों ही स्थिति में 25 हजार रुपए ही दिए जाते हैं। इसके अलावा वकीलों के थड़ों की हालत सुधारना, कोर्ट कैम्पस में ट्रेफिक-पार्किंग की बेहतर सुविधा मुहैया कराना भी उनका प्रयास होगा।

X
बूंदी बार एसोसिएशन के चुनाव में कैलाशचंद नामधराणी बने नए अध्यक्ष
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..