--Advertisement--

कार्यकर्ता भड़के, बोले-हमारी सुनवाई नहीं होती

शहर की समस्याओं व कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलने को लेकर भाजपा की बैठक चुंगी नाका स्थित सामुदायिक भवन में हुई।...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:35 AM IST
शहर की समस्याओं व कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोलने को लेकर भाजपा की बैठक चुंगी नाका स्थित सामुदायिक भवन में हुई। जिसमें समस्याओं को लेकर कार्यकर्ताओं ने सत्ता और संगठन को ही कठघरे में रख दिया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि चार साल हमारी सुध नहीं ली, जब चुनाव आ रहे हैं तो कार्यकर्ताओं की याद आ रही है। हकीकत यह है कि समस्याओं को लेकर लोग भटक रहे हैं, सरकारी कार्यालयों में लोगों की सुनवाई नहीं हो रही है। अधिकारी लोगों को तव्वजो नहीं देते हैं। खासतौर पर पालिका को लेकर कार्यकर्ताओं में गुस्सा था।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि पालिका में ईओ सात वर्षों से जमी हैं और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करती हैं। लोगों के काम नहीं होते। कार्यकर्ताओं ने शहर के अस्पताल अतिक्रमण एसीसी फैक्ट्री सहित अन्य विभागों से संबंधित समस्याएं उठाईं। बैठक में मंडल अध्यक्ष परमानंद सैनी, देवकीनंदन पांडे, केसरीलाल पारेता, त्रिभुवन सिंह हाड़ा, बनवारी सैनी, अनिल बजाज, मेघश्याम शर्मा, मोहन दयालानो आदि मौजूद रहे। कार्यकर्ताओं ने कहा कि कहने को शहर का अस्पताल सबसे बड़ा माना जाता है, लेकिन महत्वपूर्ण सुविधाओं के लिहाज से कुछ भी नहीं। बिजली चली जाए तो कर्मचारियों को अंधेरे में काम करना पड़ता है। सोनोग्राफी मशीन नहीं होने से महिलाओं को कोटा-बूंदी व सवाईमाधोपुर के चक्कर काटने पड़ते है। वहीं चिकित्सकों को लेकर भी समस्याएं है जिनको कई बार उठाया, लेकिन समाधान नहीं हुआ।

नब्ज टटोलने की कवायद

समस्याओं के समाधान का तो एक बहाना है, लेकिन भाजपा की बैठक में दरअसल कार्यकर्ताओं का मानस टटोलने की कवायद ज्यादा नजर आई। कार्यकर्ताओं ने ही इसे खुले रूप से कहा कि अब चुनाव आने वाले हैं जिन समस्याओं का समाधान चार साल में नहीं हुआ उनका चार माह में कैसे हो सकेगा। बैठक में कार्यकर्ताओं की यह पीड़ा भी झलकी की चार सालों में तो कभी इस तरह बैठकर चर्चा नहीं हुई।


लाखेरी में भाजपा की बैठक में कार्यकर्ताओं ने पदाधिकारियों से कहा-चुनाव आने वाला है इसलिए दिख रहे

लाखेरी। चुंगी नाका स्थित सामुदायिक भवन में आयोजित भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक।