• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bundi News
  • जो प्रभु का दास होता है वह कभी उदास नहींं होता: आचार्यश्री
--Advertisement--

जो प्रभु का दास होता है वह कभी उदास नहींं होता: आचार्यश्री

बूंदी का गोठड़ा| क्षेत्र के अलोद दिगंबर जैन मंदिर में शनिवार को आचार्य सुकुमालनंदी महाराज के प्रवचन में बड़ी संख्या...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:35 AM IST
जो प्रभु का दास होता है वह कभी उदास नहींं होता: आचार्यश्री
बूंदी का गोठड़ा| क्षेत्र के अलोद दिगंबर जैन मंदिर में शनिवार को आचार्य सुकुमालनंदी महाराज के प्रवचन में बड़ी संख्या में समाजबंधु शामिल हुए। आचार्यश्री ने कहा कि भगवान की भक्ति सभी बीमारियों की औषधि है। जो प्रभु का दास है वे कभी उदास नहीं होता है। यदि हमें सच्चा सुख व शांति प्राप्त करनी है तो कभी भगवान के चरणों में समय बिताना चाहिए। संतों का समागम और भगवान की भक्ति बड़ी दुर्लभता से मिलती है। सेवा, समर्पण और त्याग का फल ही सच्चा सुख है, बिना कष्ट के कभी सुख की प्राप्ति नहीं होती है। धर्मसभा का मंगलाचरण निर्मल जैन हैदराबाद व सुनील द्वारा किया गया। इस दौरान पवन धानोत्या, निक्की कोट्या, दिनेश वोरखंडिया, सुनील बरमुंडा आदि मौजूद थे।

हिंडौली। हनुमान जयंती पर निकाली शोभायात्रा में शामिल श्रद्धालु।

X
जो प्रभु का दास होता है वह कभी उदास नहींं होता: आचार्यश्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..