--Advertisement--

इंटेकवेल पर बिजली बंद, 3 घंटे देरी से हुई पेयजल सप्लाई

बूंदी| शहर में जलापूर्ति के लिए कोटा बैराज पर बने इंटेकवेल पर शनिवार रात बिजली गुल हो गई। इससे शहर की पेयजल...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:10 AM IST
बूंदी| शहर में जलापूर्ति के लिए कोटा बैराज पर बने इंटेकवेल पर शनिवार रात बिजली गुल हो गई। इससे शहर की पेयजल व्यवस्था गड़बड़ा गई।

चंबल पेयजल परियोजना के तहत बूंदी शहर में जलापूर्ति करने के लिए कोटा बैराज पर इंटेकवेल बनाया हुआ है। शनिवार रात करीब दो-ढाई घंटे बिजली बंद रही। पंप नहीं चल पाने से जाखमूंड फिल्टर प्लांट पर पानी नहीं पहुंच पाया। हालांकि बिजली पानी आने के साथ ही पंप चालू कर दिए गए, लेकिन बिजली बंद रहने से समय चक्र गड़बड़ा गया। शहर में जहां पहले सुबह 5 सप्लाई होती थी उसे सुबह 8 बजे शुरू करना पड़ा। ऐसे में उपभोक्ताअों के घरों में देरी से पानी आया। कई उपभोक्ताओं को तो पानी आने का पता ही नहीं लग पाया, जिससे वो पानी भरने से वंचित रह गए। एईएन जेपी दाधीच का कहना था कि इंटेकवेल पर बिजली बंद हो जाने से सप्लाई गड़बड़ाई। सुबह की सप्लाई देरी से हो पाई है। हालांकि शाम की सप्लाई को व्यवस्थित किया गया है।

समयचक्र गड़बड़ाया

शहर को 30 जोन में बांटा हुआ है। बिजली बंद होने से सभी जोन में सप्लाई देरी से हुई। जहां पहले सुबह 8 बजे पानी आता था वहां दोपहर बाद सप्लाई हो पाई, जिससे कई उपभोक्ताओं को तो पानी आने का पता ही नहीं चल पाया। कई उपभोक्ता तो दोपहर तक भी अधिकारियों को फोन करते नजर आए।

चार जगह बिजली आना जरूरी

शहर की पेयजल व्यवस्था सही रहे इसके लिए चार जगहों पर बिजली आना जरूरी है। इसमें कोटा बैराज स्थित इंटेकवेल, जाखमूंड फिल्टर प्लांट, मांगली पंप हाउस और बूंदी के हेडवर्क्स शामिल है। इन चारों जगह बिजली बराबर आती है तो व्यवस्था बनी रहती है। यदि इनमें से किसी एक जगह पर बिजली बंद हो जाए तो शहर की पेयजल व्यवस्था बिगड़ जाती है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..