बूंदी

  • Home
  • Rajasthan News
  • Bundi News
  • पहली बार लिफ्ट कराई जा रही 26 कमरों वाली 2 मंजिला बिल्डिंग, 4 फुट ऊपर उठेगी
--Advertisement--

पहली बार लिफ्ट कराई जा रही 26 कमरों वाली 2 मंजिला बिल्डिंग, 4 फुट ऊपर उठेगी

जो भी देखता है हैरत में दांतों तले उंगली दबा लेता है। 26 कमरों वाली दो मंजिला बिल्डिंग सड़क के लेवल से चार फुट ऊपर उठ...

Danik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:10 AM IST
जो भी देखता है हैरत में दांतों तले उंगली दबा लेता है। 26 कमरों वाली दो मंजिला बिल्डिंग सड़क के लेवल से चार फुट ऊपर उठ रही है।

बड़े शहरों में यह तकनीक आम हो चुकी है, पर शहर में इसका पहली बार इस्तेमाल हो रहा है। छह हजार स्क्वायर फुट में फैली इस बिल्डिंग को जमीन से चार फुट ऊपर उठाने के लिए 600 जैक लगाए गए हैं। इसे उठाने में करीब चार महीने लगेंगे। दो महिनों में दो फुट ऊंची उठा दी गई है। यह बिल्डिंग है शहर की न्यू कॉलोनी में। 60 गुणा 60 की इस बिल्डिंग में एग्रीकल्चर विभाग में अधिकारी दो भाइयों राजेंद्र चौधरी और ओमप्रकाश चौधरी के परिवार रहते हैं।

राजेंद्र चौधरी, बिल्डिंग मालिक।



बूंदी. जैक लगाकर ऊपर उठाई जा रही दो मंजिला बिल्डिंग।

ऊपर उठाने पर खर्च होंगे 12 लाख : करीब दो करोड़ बाजार कीमत वाली इस बिल्डिंग को अगर तोड़कर दोबारा बनाया जाता तो खर्च काफी ज्यादा होता। राजेंद्र चौधरी के मुताबिक ऐसे में बिल्डिंग को तोड़े बिना जमीन के लेवल से ऊपर उठाने का विचार आया। चार फुट ऊपर उठाने पर करीब 12 लाख रुपए खर्च होंगे। दो-तीन लाख रुपए और मेंटिनेंस आदि पर खर्च हो जाएंगे। इस लिहाज से करीब 15 लाख खर्च करना कहीं सस्ता है। दूसरी बात यह भी कि यह पुरखों की निशानी हैं, उनकी यादें इस मकान से जुड़ी है।

बिल्डिंग को जैक लगाकर उठाया जा रहा है जमीन से चार फुट ऊपर।

हर महीने में एक फुट ऊपर, 100 साल की गारंटी

बिल्डिंग लिफ्ट कर रही टीम हरियाणा की है। कंपनी के ठेकेदार रामपाल चौहान ने बताया कि 6 हजार वर्ग फुट में बनी इस दो मंजिला बिल्डिंग को ऊपर उठाने के लिए 45 लोगों की टीम जुटी है। नींव तोड़कर 600 के करीब जैक, गुटके, फट्टे, चैनल, ईंटें लगाकर इंच-दर इंच बिल्डिंग को ऊपर उठाया जा रहा है। दो महीने में दो फुट ऊंची उठा दी गई है। चार महीने में चार फुट ऊपर उठा दी जाएगी। हालांकि बिल्डिंग पुरानी और चूने की बनी है, इस वजह से कई जगह दरारें आ गई हैं, पर इनसे दिक्कत नहीं है, दरारों को जाली, मसाले से भर दिया जाएगा। चौहान का कहना है कि 100 साल तक बिल्डिंग नहीं गिरने की गारंटी है।

10 साल से परेशान थे, गली का पानी मकान में घुस जाता था

मकान मालिक बताते हैं कि पहले यह मकान जमीन के लेवल से काफी ऊपर था। पर कुछ साल बाद सड़क का लेवल ऊपर होता गया। ऐसे में बारिश व नालियों का पानी मकान में घुसने लगा। 10 साल से ज्यादा समय से दोनों परिवार परेशान थे।

Click to listen..