विज्ञापन

कॉलेजों में छात्रों की सरकार

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:20 AM IST

Bundi News - जिले में तीनों कॉलेजों में एबीवीपी का पैनल बन गया है। पीजी कॉलेज में एनएसयूआई के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी को मात्र 23...

Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
  • comment
जिले में तीनों कॉलेजों में एबीवीपी का पैनल बन गया है। पीजी कॉलेज में एनएसयूआई के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी को मात्र 23 वोट मिले हैं। इस बार पीजी कॉलेज में एनएसयूआई 4 में से 2 पदों पर अंतिम समय तक प्रत्याशी तक फाइनल नहीं कर सकी, जिससे अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पदों पर ही चुनाव लड़ा। वहीं, तीनों कॉलेजों में एबीवीपी ने चारों पद पर अपने उम्मीदवार जीताकर युवाओं में अपना क्रेज बरकरार रखा। छात्रसंघ चुनाव में शहर के दोनों और नैनवां कॉलेज में एनएसयूआई का सबसे कमजोर प्रदर्शन रहा। इस करारी हार की मुख्य वजह कांग्रेसजन पीजी कॉलेज में ग्रामीण छात्र संगठन बनना बता रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले छात्र इस संगठन से जुड़ते चले गए।

पीजी कॉलेज अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के भगवान गुर्जर ने ग्रामीण छात्र संगठन के विकास मीणा को 282 वोटों से हराया। एनएसयूआई के बनवारीलाल कहार को मात्र 23 वोट मिले। भगवान गुर्जर को 1607 मत, विकास मीणा को 1325 मत, बनवारीलाल कहार को 23 मत मिले। उपाध्यक्ष पद पर दिनेशकुमार सैनी ने ग्रामीण छात्र संगठन के जगजीतसिंह को पराजित किया, महासचिव पद पर नरेश मेघवाल ने ग्रामीण छात्र संगठन के अंकित सोहिल को पराजित किया। एनएसयूआई प्रत्याशी शंभुकुमार सैनी तीसरे स्थान पर रहा। संयुक्त सचिव पद प्रियंका शर्मा ने ग्रामीण छात्र संगठन के आबिद हुसैन को पराजित किया। इस बार पीजी कॉलेज में 3046 में से 545 वोट निरस्त हुए।

गर्ल्स कॉलेज में इतने मिले वोट

गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज में एबीवीपी के अध्यक्ष पद पर साक्षी चौहान ने एनएसयूआई की सुनीता मीणा को 85 वोटों से हराया। साक्षी को 226 और सुनीता को 151 वोट मिले। उपाध्यक्ष पद पर प्रियंका सैनी, संयुक्त सचिव मीनाक्षी कुमारी रैगर निर्विरोध, महासचिव सलोनी शर्मा निर्विरोध निर्वाचित हुई। वहीं नैनवां में भी एबीवीपी का पैनल बना अध्यक्ष पद पर दीपक शर्मा, उपाध्यक्ष कालूलाल मीणा, महासचिव पद पर सोना कुमारी, संयुक्त सचिव अक्षत जैन विजय रहे हैं।

ग्रामीण वोट बंटने से एबीवीपी की तीनों कॉलेजों में जीत, एनएसयूआई का सबसे कमजोर प्रदर्शन

पीजी कॉलेज में मंगलवार को सुबह भीतर मतगणना चलती रही, वहीं बाहर युवाओं की भीड़ उत्साह में नारेबाजी करती रही। युवाओं मेंे नतीजे जानने की उत्सुकता बनी रही। इस दौरान समर्थकों ने जीत के दावे भी किए।

गड़बड़ी की आशंका में जुलूस का मार्ग बदला

पीजी कॉलेज में रिजल्ट आने के बाद विजेताओं को जीप में बैठाकर पुलिस कॉलेज से ले गई। इधर, देवपुरा में एबीवीपी के समर्थक पुलिस लाइन ग्राउंड की ओर जमा होने लगे। यहां से जुलूस के रूप में नारेबाजी करते हुए सर्किट हाउस पहुंचे, जहां से चारों विजेता जुलूस में शामिल हो गए। बस स्टैंड की ओर जाना चाहते थे, लेकिन डिप्टी समदरसिंह ने जुलूस को रोककर खोजा गेट की ओर से निकालने के लिए बेरिकेड्स लगा दिए। इसके बाद भगवान गुर्जर को कहकर जुलूस को खोजागेट रवाना किया। जुलूस खोजागेट, आजाद पार्क, सूर्यमल्ल मिश्रण चौराहा होते हुए देवनारायण मंदिर पहुंचा, जहां पूजा अर्चना की गई। इधर, गर्ल्स कॉलेज की विजेता प्रत्याशियों का भी खुली जीप में जुलूस निकाला गया।

कॉलेजों में एबीवीपी का पैनल बन गया, ग्रामीण छात्र संगठन दूसरे नंबर पर रहा

शहर में कॉलेज कैंपस में रिजल्ट घोषित होने के बाद उत्साहित छात्राओं ने छात्रासंघ अध्यक्ष को गोद में उठाकर खूब नारेबाजी की।

शपथ के लिए करना पड़ा इंतजार

पीजी कॉलेज में नतीजे घोषित करने के बाद संयुक्त सचिव बनी प्रियंका शर्मा के आने तक शपथ के लिए 20 मिनट का इंतजार करना पड़ा। इस दौरान पुलिस कॉलेज प्रशासन को लॉ एंड ऑर्डर की दुहाई देकर मौजूद तीनों प्रत्याशियों को ही शपथ दिलाने की जिद करता रहा, लेकिन कॉलेज प्रशासन चारों प्रत्याशियों को एकसाथ शपथ दिलाने पर अड़ा रहा। प्रियंका आने के बाद ही शपथ ग्रहण हो सका।

(नैनवां में पिछली हार का सबक....पेज|18 पर )

कांग्रेस-करारी हार की वजह: कांग्रेस जिलाध्यक्ष सीएल प्रेमी मानते हैं कि पिछले 4-5 चुनाव से एनएसयूआई का प्रदर्शन तीनों कॉलेजों में कमजोर रहा हैं। चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा की जाएगी। विधानसभा में ग्रामीण छात्र संगठन कांग्रेस से जुड़ा रहता है। -सीएल प्रेमी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष

भाजपा-जीत की वजह: युवा एबीवीपी से जुड़कर देश का विकास चाहते हैं। यह जीत निश्चित विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए मददगार साबित हाेगी। जिले के तीनों कॉलेज में एबीवीपी जीत युवाओं की जीत है। -महिपतसिंह हाड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष

विजेता छात्रों का पैनल

बूंदी पीजी कॉलेज

पद विजेता अंतर किसे हराया

अध्यक्ष भगवान गुर्जर 282 विकास मीणा

उपाध्यक्ष दिनेश कुमार सैनी 279 जगजीतसिंह

महासचिव नरेश मेघवाल 508 अंकित सोहिल

संयुक्त सचिव प्रियंका शर्मा 820 आबिद हुसैन

बूंदी गर्ल्स कॉलेज

पद विजेता अंतर किसे हराया

अध्यक्ष साक्षी चौहान 85 सुनीता मीणा

उपाध्यक्ष दीपकंवर गुर्जर 56 प्रियंका सैनी

महासचिव सलोनी शर्मा निर्विरोध

संयुक्त सचिव मीनाक्षी रैगर निर्विरोध

नैनवां मारवाड़ा कॉलेज

पद विजेता अंतर किसे हराया

अध्यक्ष दीपक शर्मा 51 सुमित मीणा

उपाध्यक्ष कालूलाल मीणा 119 शंकरलाल

महासचिव सोना कुमारी 146 राजेंद्र बैरवा

संयुक्त सचिव अक्षत जैन 132 गायत्री बैरवा

छात्रसंघ अध्यक्ष

भगवान गुर्जर, पीजी कॉलेज

साक्षी चौहान, गर्ल्स कॉलेज

दीपक शर्मा, नैनवां कॉलेज

Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
  • comment
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
  • comment
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
  • comment
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
  • comment
X
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
Bundi - कॉलेजों में छात्रों की सरकार
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें