बूंदी

--Advertisement--

शब-ए-बरात पर मीरा गेट कब्रिस्तान में जलसा आयोजित

दावते इस्लामी हिंद की ओर से मंगलवार रात मीरागेट कब्रिस्तान के चौक में शबे ए बरात के मुबारक मौके पर जलसे का आयोजन...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:25 AM IST
शब-ए-बरात पर मीरा गेट कब्रिस्तान में जलसा आयोजित
दावते इस्लामी हिंद की ओर से मंगलवार रात मीरागेट कब्रिस्तान के चौक में शबे ए बरात के मुबारक मौके पर जलसे का आयोजन हुआ।

इसकी शुरुआत तिलावते कुरआन से हुई। तिलावत मुहम्मद नौशाद अत्तारी ने की। मुहम्मद हुसैन अत्तारी के अनुसार नाते रसूल जो हो चुका है, जो होगा, हुजूर जानते है।

मोहम्मद नवेद अत्तारी ने पुल से उतारो राह गुजर को खबर ना हो नात पढ़ी। बाहर से आए मुहम्मद हैदर अली अत्तारी ने कहा कि नेक कामों में हिस्सा लें। पांच वक्त की नमाज हर मुसलमान का फर्ज है। गुनाहों और बुरे कामों से हमेशा दूर रहे। बड़ों की इज्जत करें और अपने बच्चों तालिम दिलाएं। मुहम्मद खालिद इकबाल अत्तारी ने देश व बूंदी शहर में अमन चैन की दुआं मांगी। जलसे के बाद सहरी हुई।

दावते इस्लामी हिंद की ओर से मीरा हुआ आयोजन, तिलावते कुरआन से हुई शुरुआत, पहुंचे समाजबंधु

बूंदी. शब-ए-बरात के जलसे में मौजूद मुस्लिम समाज के लोग।

बूंदी. जलसे में मौजूद मुस्लिम समाज के लोग।

भास्कर न्यज | बूंदी

दावते इस्लामी हिंद की ओर से मंगलवार रात मीरागेट कब्रिस्तान के चौक में शबे ए बरात के मुबारक मौके पर जलसे का आयोजन हुआ।

इसकी शुरुआत तिलावते कुरआन से हुई। तिलावत मुहम्मद नौशाद अत्तारी ने की। मुहम्मद हुसैन अत्तारी के अनुसार नाते रसूल जो हो चुका है, जो होगा, हुजूर जानते है।

मोहम्मद नवेद अत्तारी ने पुल से उतारो राह गुजर को खबर ना हो नात पढ़ी। बाहर से आए मुहम्मद हैदर अली अत्तारी ने कहा कि नेक कामों में हिस्सा लें। पांच वक्त की नमाज हर मुसलमान का फर्ज है। गुनाहों और बुरे कामों से हमेशा दूर रहे। बड़ों की इज्जत करें और अपने बच्चों तालिम दिलाएं। मुहम्मद खालिद इकबाल अत्तारी ने देश व बूंदी शहर में अमन चैन की दुआं मांगी। जलसे के बाद सहरी हुई।

शब-ए-बरात पर मीरा गेट कब्रिस्तान में जलसा आयोजित
X
शब-ए-बरात पर मीरा गेट कब्रिस्तान में जलसा आयोजित
शब-ए-बरात पर मीरा गेट कब्रिस्तान में जलसा आयोजित
Click to listen..