आंखों मूडियों कांचरू, काचरू वाले आएने...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:45 AM IST

Bundi News - बूंदी| मकर संक्रांति की पूर्व संध्या पर खुशहाली व सुख समृद्धि का प्रतीक लोहड़ी का पर्व मनाया गया। लोहड़ी पर खुशहाली...

Bundi News - rajasthan news eyed moods glassware kachuru come
बूंदी| मकर संक्रांति की पूर्व संध्या पर खुशहाली व सुख समृद्धि का प्रतीक लोहड़ी का पर्व मनाया गया। लोहड़ी पर खुशहाली व सुख समृद्धि के साथ-साथ वंश वृद्धि, अच्छी फसल की भी कामना की गई। अग्नि की पूजा करने के साथ ही सूर्य व अग्नि का आभार व्यक्त किया गया। जिन पंजाबी परिवारों में नई शादी या बच्चे का जन्म हुआ है, वहां इसे बड़े स्तर पर मनाया गया। यहां तक कि समाज के सभी लोग उस परिवार की इस खुशी में शरीक हुए। अग्नि को प्रज्वलित कर उसके चारों ओर महिलाएं, पुरुष नृत्य करते हुए गीत गाए। अग्नि को ढोक देते हुए इसमें तिल, गुड, मक्की के फूले, मूंगफली अग्नि को समर्पित की गई। कार्यक्रम पूरा होने के बाद इन सभी वस्तुओं, जिसमें मूंगफली, गजक, रेवड़ी, मक्की के फूले, ऋतु फल को प्रसादी के रूप में दिया गया।

लोगों ने यह गीत गाए

आंखों मूडियों कांचरू, काचरू वाले आएने

दो सौ तीर लियाएने, एक तीर में छड़ दिता

वड्‌डे भाई दा ना लिता, वड्‌डा भाई मारेगा

दिल्ली जा पुकारेगा, दिल्ली हो गई लोटपोट

डंडा ले के कोट कोट

X
Bundi News - rajasthan news eyed moods glassware kachuru come
COMMENT