अस्पतालों की सफाई जांचने 22 को आएगी टीम

Bundi News - जिले के सरकारी अस्पतालाें की साफ सफाई जांचने के लिए 22 अप्रैल को राज्यस्तरीय टीम जांच के लिए आएगी। अस्पताल साफ...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:26 AM IST
Bundi News - rajasthan news hospital to check cleanliness of 22 teams
जिले के सरकारी अस्पतालाें की साफ सफाई जांचने के लिए 22 अप्रैल को राज्यस्तरीय टीम जांच के लिए आएगी। अस्पताल साफ सुथरे रहें और कोई खामियां नहीं दिखें, इसके लिए मंगलवार से 20 अप्रैल तक जिला स्तरीय टीमें निरीक्षण कर खामियों को दूर करेगी।

अस्पतालाें में साफ-सफाई, निःशुल्क दवा, निःशुल्क जांच सेवाओं में व्यापक स्तर पर सुधार के लिए मिशन मोड पर काम किया जाएगा। इसके लिए जिला-राज्यस्तर से टीमें बनाई हैं, जो अस्पतालाें से समन्वय बनाकर व्यवस्थाओं काे जांचेंगी। मंगलवार से 20 अप्रैल तक जिलास्तरीय टीमें स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर सफाई व्यवस्था अाैर स्वास्थ्य सेवाओं का निरीक्षण करेंगी। मुख्य निगरानी सफाई व्यवस्था को लेकर होगी। इसके बाद 22 से 26 अप्रैल के मध्य राज्यस्तरीय टीमें अस्पतालाें में साफ सफाई, निःशुल्क दवा-निशुल्क जांचों का निरीक्षण करेंगी। यह टीमें आधारभूत सुविधाअाें पेयजल, शौचालय, कचरा निस्तारण, लेबर रूम, ऑपरेशन थिएटर की भी जांच करेंगी। सर्विस डिलीवरी पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। मिशन निदेशक डॉ. समित शर्मा ने निर्देश में कहा कि सभी राज्यस्तरीय टीमों के साथ विभाग के संयुक्त निदेशकों, सीएमएचअाे-पीएमअाे को अस्पतालाें में साफ-सफाई में विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं। साफ-सफाई के काम में आने वाले ट्रॉली जैसे छोटे मोटे स्थाई उपकरण खरीदने के निर्देश दिए हैं। बेडशीट्स, बेड्स, ट्रॉली, आईवी स्टैंड की निर्धारित अवधि में सफाई करनी चाहिए, ताकि संक्रमण को रोका जा सके। खराब पड़े ट्यूब लाइट, पंखा, वाटर कूलर को सुधारने या आवश्यकतानुसार उनके स्थान पर नए खरीदने के भी निर्देश दिए हैं। कबाड़, नाकारा सामान के निस्तारण के साथ बायोमेडिकल वेस्ट का निस्तारण करना होगा। अस्पतालाें में साइनेज व नागरिक अधिकार-पत्र व हेल्प डेस्क की व्यवस्था सुचारू करने के लिए कहा गया है।

बाहर की दवा लिखने वालों पर कार्रवाई एमडी डॉ. सुमित शर्मा ने कहा कि उपस्वास्थ्य केंद्र से लेकर जिला अस्पतालों में आवश्यक दवाओं और निशुल्क जांच सेवाओं की सुविधा मिले। अस्पतालों में सेमी आॅटोएनेजाइजर, खून की जांच के काम में आने वाले वाले जांच उपकरण अनुपयोगी पड़े रहते हैं। अब ऐसी स्थिति नहीं चलेगी। दवाइयां होने पर भी ब्रांड नाम से प्रोपेगंडा ड्रग्स बाजार से मंगाने एवं जांच उपकरण होने पर भी जांचें नहीं करने पर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल प्रभारी द्वारा आपातकालीन इकाई में काम में आने वाली दवाइयों, जांच सुविधाओं, उपकरणों की भी समयानुसार समीक्षा करने के आदेश दिए।

X
Bundi News - rajasthan news hospital to check cleanliness of 22 teams
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना