--Advertisement--

नलकूप की गहराई के मापदंडों में संशोधन की मांग

विधायक चंद्रभानसिंह आक्या व प्रधान प्रवीण सिंह राठौड़ ने जयपुर में राजस्थान सरकार के ग्रामीण विकास एवं...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:35 AM IST
विधायक चंद्रभानसिंह आक्या व प्रधान प्रवीण सिंह राठौड़ ने जयपुर में राजस्थान सरकार के ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री राजेन्द्रसिंह राठौड़ से भेंटकर उनसे विधानसभा क्षेत्र चित्तौड़गढ़ की अनेक समस्याओं की ओर उनका ध्यान आकृष्ट करते हुए उनका समाधान करने की मांग की। विशेष रूप से जल स्तर के अनुरूप हैंडपंप व ट्यूबवैल स्थापना के लिए निर्धारित मापदंड में संशोधन कराया जाए। विधायक ने मंत्री राजेंद्रसिंह राठौड़ को बताया की पंचायतीराज संस्थाओं में नलकूप खनन के लिए अधिकतम गहराई सीमा 95 मीटर निर्धारित कर रखी है। चित्तौड़ विधानसभा क्षेत्र डार्क जोन में होने, खनन क्षेत्र होने तथा लगभग 40 प्रतिशत भाग पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण यहां पेयजल का स्तर अत्यंत नीचे जा चुका है। ऐसी स्थिति मे विभाग द्वारा निर्धारित 95 मीटर की गहराई सीमा में खनन कार्य करने पर पानी उपलब्ध नहीं होता है तथा औसतन 150 मीटर से 200 मीटर गहराई पर ही नलकूप खनन करने पर पेयजल प्राप्त होता है।