--Advertisement--

गुजरातियों से गुलजार दुर्ग, 50 हजार पर्यटक 10 हजार वाहन, पिछले साल से 4 गुना ज्यादा

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 09:02 AM IST
Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year




भास्कर संवाददाता | चित्तौड़गढ़

दीवाली के साथ ही विश्वविख्यात दुर्ग पर टूरिस्ट बूम आ गया है। अल सुबह से लेकर देर शाम तक हजारों पर्यटक पहुंच रहे हैं। इसमें 90 प्रतिशत गुजराती है। शनिवार शाम तक छोटे बड़े दस हजार वाहनों के साथ करीब 50 हजार पर्यटक किले पर पहुंचे। रास्ते जाम होने से पुलिस को ऊपर पूरा दुर्ग वन वे करने के बाद भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। गत साल इसी दिन यहां 10 से 15 हजार पर्यटक आए थे।

दुर्ग पर नवरात्र से पर्यटन सीजन शुरू हो गया था पर दीपावली आते आते गुजरातियों की संख्या बढ़ने लगी। चार नवंबर से चल रहा यह क्रम अब और परवान पहुंच गया। शुक्रवार व शनिवार को बूम रहने से पर्यटन से जुडे लोगों की बांचे खिली रही। सुबह साढ़े सात बजे ही व्यू पोइंट पर टिकट के लिए लाइनें लग गई। यहां एक सप्ताह पहले प्रतिदिन औसत दो हजार टिकट कट रहे थे, जो अब चार हजार पार हो गए। पर्यटकों के खुद के वाहनों के अलावा बड़ी संख्या में आटोरिक्शा चले। किला चौकी प्रभारी भूरसिंह के अनुसार दिनभर में करीब 10 हजार से अधिक वाहन व 50 हजार पर्यटकों के आने का अनुमान है।

लाइट एंड साउंड शो

की स्थिति

तारीख पर्यटक

4 नवंबर 203

5 नवंबर 150

6 नवंबर 155

7 नवंबर 188

8 नवंबर 260

9 नवंबर 448

इस सप्ताह की टेबल पर्यटकों की

इस माह भारतीय पर्यटक

तारीख पर्यटक

5 नवंबर 1766

6 नवंबर 1455

7 नवंबर 1930

8 नवंबर 3580

9 नवंबर 5670

10 नवंबर 7760

विदेशी पर्यटक

तारीख पर्यटक

6 नवंबर 55

7 नवंबर 60

8 नवंबर 115

9 नवंबर 160

10 नवंबर 101

विजयस्तंभ में प्रवेश के लिए लाइन में लगे पर्यटक।

शनिवार को दुर्ग स्थित कुंभा महल में पर्यटक।

इन हालातों से समझिए आज कितना दबाव रहा दुर्ग पर

1. सुबह 10.30 बजे ही करने पड़े मार्ग डायवर्ट और रोक ... सुबह दस बजे तक ही ढाई से तीन हजार पर्यटक पहुंच गए तो दुर्ग चौकी प्रभारी भूरसिंह के निर्देशन में पवन कुमार दहिया सहित कोतवाली व ट्रेफिक टीम को अलग अलग जगह व्यवस्था में जुटना पड़ा। साढ़े दस बजे ही रामपोल से वन वे करना पड़ा। मीरा मंदिर से विजयस्तंभ के संकडे मार्ग में चार पहिया वाहनों पर रोक लगाई गई। ज्यादा विकट स्थिति रामपोल, व्यू पोइंट, विजयस्तंभ, कुंभा महल और पदमिनी महल के बाहर रही। शहर में किला रोड पर भी कई बार वाहन रोकने पड़े।

2. विजयस्तंभ पर भी आधे से एक घंटे तक लगे क्यू में ... पर्यटकों को व्यू पाइंट पर टिकट के लिए लंबी लाइन में लगने के बाद विजयस्तंभ में प्रवेश के लिए भी करीब आधा से एक घंटा तक इंतजार करना पड़ा। पार्किंग के लिए टिकटिंग बाहर ही की गई, लेकिन स्मारक टिकटिंग के लिए एक ही काउंटर और स्लो स्पीड से भी लंबी लाइनें रही। सुरक्षा कारणों से विजयस्तंभ में तय संख्या में ही पर्यटकों को प्रवेश दिया जा रहा।


3. लाइट एंड साउंड के ओवरलोड तीन तीन शो ... कुंभामहल में लाइट एंड साउंड के तीन शो चलाने पड़ रहे है। इसमें भी निर्धारित सौ कुर्सियां खत्म होने के बाद पर्यटक खड़े होकर शो देख व सुन रहे। शुक्रवार को साढ़े छह बजे ही पहला शो चलाना पड़ा। आरटीडीसी होटल प्रबंधक रवि चतुर्वेदी के अनुसार दीपावली के दिन भी हिंदी के दो शो चलाए गए। शुक्रवार को पहले शो में 336 पर्यटक रहे। इसके बाद दो शो और चलाए।


Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year
Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year
X
Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year
Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year
Sanwariyaji - gulzar fort from gujrat 50 thousand tourists 10 thousand vehicles 4 times more than last year
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..